Home » Market » Stocksstock market live on 23th october 2018

Stock Market: चौतरफा बिकवाली से सेंसेक्स में 287 अंक की गिरावट, निफ्टी ने तोड़ा 10150 का स्तर

Stock Market: एनर्जी, फार्मा, पीएसयू बैंक, आईटी सहित अधिकांश इंडेक्स के लाल निशान में बंद।

stock market live on 23th october 2018

नई दिल्ली. Stock Market: एशियाई बाजारों में गिरावट, रुपए में कमजोरी के बीच भारतीय शेयर बाजार में चौतरफा बिकवाली देखने को मिली। एनर्जी, फार्मा, पीएसयू बैंक, आईटी सहित अधिकांश इंडेक्स के लाल निशान में रहने से सेंसेक्स में 287 अंकों की गिरावट के साथ 33847 पर बंद हुआ। वहीं निफ्टी 98 अंक गिरकर 101ॊ46.80 पर बंद हुआ।

 

सबसे ज्यादा गिरने वाले स्टॉक

निफ्टी 50 की बात करें सबसे ज्यादा गिरावट सन फार्मा में दर्ज की गई, जो 5 फीसदी कमजोर होकर 576.85 पर बंद हुआ। वहीं कमजोर नतीजों का असर एशियन पेंट्स पर दिखा, जो 4.83 फीसदी की गिरावट के साथ 1142.45 पर बंद हुआ। वहीं विप्रो में 4.30 फीसदी, अल्ट्राटेक सीमेंट में 3.41 फीसदी और ग्रेसिम में 3.23 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई।  

 

7 फीसदी तक टूटे फार्मा स्टॉक्स 
ज्यादातर फार्मा स्टॉक्स में गिरावट के चलते निफ्टी फार्मा इंडेक्स में 2.89 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई। सबसे ज्यादा 7 फीसदी की गिरावट बायोकॉन फार्मा में रही। इसके अलावा सन फार्मा में 5 फीसदी, ल्यूपिन में 3.34 फीसदी, दिवीज लैब में 3.11 फीसदी, अरविंदो फार्मा में 2.58 फीसदी और डॉ. रेड्डीज में 1.52 फीसदी गिरावट दर्ज की गई। 

 

आईटी स्टॉक्स में बड़ी गिरावट
आईटी इंडेक्स में भी खासा प्रेशर दिखा। सबसे ज्यादा 4.30 फीसदी की गिरावट विप्रो में दर्ज की गई। वहीं मार्केट के हैवीवेट स्टॉक्स टीसीएस में 2.70 फीसदी और इन्फोसिस में 2.49 फीसदी की गिरावट रही। इन्फीबीम और एचसीएल टेक में लगभग 3 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई। 

 

नॉमुरा के झटके से उबरे IOC, HPCL, BPCL 

नॉमुरा द्वारा डाउनग्रेड किए जाने के फैसले से सरकारी ऑयल मार्केटिंग कंपनियों IOC, HPCL और BPCL में शुरुआत में 4 फीसदी तक की गिरावट दर्ज की गई। हालांकि बाद में आईओसी और एचपीसीएल हरे निशान में आ गए, लेकिन बीपीसीएल में गिरावट सीमित हो गई। ग्लोबल ब्रोकरेज हाउस ने कहा कि सब्सिडी और पॉपुलिस्ट मीजर्स के चलते इन सरकारी कंपनियों के स्टॉक्स को डाउनग्रेड किया गया है। नॉमुरा ने IOC, HPCL, BPCL की रेटिंग ‘बाई’ से घटाकर न्यूट्रल कर दी है।

 

इन ग्लोबल फैक्टर्स का दिख रहा असर

दरअसल अमेरिका अर्निंग सीजन की चिंताएं और सऊदी अरब के डिप्लोमैटिक विवाद के निगेटिव फैक्टर्स के चलते मंगलवार को एशियाई बाजारों में गिरावट दर्ज की गई। वहीं पूंजी के लगातार आउटफ्लो होने और डॉलर के मजबूत होने से रुपया भी डॉलर की तुलना में 21 पैसे कमजोर होकर 73.77 पर खुला। इन फैक्टर्स से दिन भर शेयर बाजार पर प्रेशर बना रहा।

 

 

 

 


 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss