विज्ञापन
Home » Market » Stocksstart rabbit farming with low investment

4.5 लाख में शुरू करें रैबिट फार्मिंग, 70 हजार रुपए मंथली हो सकती है इनकम

छोटे स्‍तर पर ही आप केवल 4 से 4.5 लाख रुपए खर्च कर सालाना 8 लाख रुपए तक की इनकम कर सकते हैं।

start rabbit farming with low investment
एग्रीकल्‍चर से जुड़े कारोबार में अगर आप दिलचस्‍पी रखते हैं तो आपके लिए कई ऐसे तरीकें हैं जिनसे कम लागत में अच्‍छी-खासी इनकम की जा सकती है। इन्‍हीं में से है रैबिट फार्मिंग (खरगोश पालन) जिसका पिछले कुछ सालों में काफी चलन चला है। पूरे भारत में सैकड़ों किसान खरगोश पालन से अच्‍छी इनकम कर रहे हैं। खरगोश को मीट और इसके बालों से बनने वाली ऊन के लिए पाला जाता है। यही कारण है कि इसका चलन बढ़ रहा है। छोटे स्‍तर पर ही आप केवल 4 से 4.5 लाख रुपए खर्च कर सालाना 8 लाख रुपए तक की इनकम कर सकते हैं। आइए जानते हैं खरगोश पालन से जुड़े कारोबार के बारे में...

नई दिल्‍ली.  एग्रीकल्‍चर से जुड़े कारोबार में अगर आप दिलचस्‍पी रखते हैं तो आपके लिए कई ऐसे तरीके हैं जिनसे कम लागत में अच्‍छी कमाई की जा सकती है। रैबिट फार्मिंग (खरगोश पालन) भी इन्‍हीं में से एक है, जिसका पिछले कुछ सालों में चलन काफी बढ़ा है। पूरे भारत में सैकड़ों किसान खरगोश पालन से अच्‍छी इनकम कर रहे हैं। खरगोश को मीट और इसके बालों से बनने वाली ऊन के लिए पाला जाता है। छोटे स्‍तर पर ही आप केवल 4 से 4.5 लाख रुपए खर्च कर सालाना 8 लाख रुपए तक की इनकम कर सकते हैं। आइए जानते हैं खरगोश पालन से जुड़े कारोबार के बारे में...

 

 

केवल 10 यूनिट से शुरू करें कारोबार

पैराडाइज रैबिट फार्म के ओनर राजेश कुमार ने बताया कि खरगोश पालन के लिए इसके कारोबार को यूनिट्स में बांटा गया है। एक यूनिट में 7 मादा और 3 नर खरगोश होते हैं। पैराडाइज फार्म ने इसकी  फार्मिंग के लिए शुरुआती स्‍तर 10 यूनिट का रखा है। 10 यूनिट से फार्मिंग शुरू करने के लिए लगभग 4 से 4.5 लाख रुपए खर्च आता है। इसमें टिन शेड लगभग 1 से 1.5 लाख रुपए, पिंजरे 1 से 1.25 लाख रुपए, चारा और इन यूनिट्स पर लगभग 2 लाख रुपए खर्च शामिल है।

 

 

6 महीने बाद होती है ब्रीडिंग शुरू

राजेश ने बताया कि नर और मादा खरगोश लगभग 6 महीने के बाद ब्रीडिंग के लिए तैयार होते हैं। एक मादा खरगोश एक बार में 6 से 7 बच्‍चों को जन्‍म देती है। मादा खरगोश का प्रेग्‍नेंसी पीरियड 30 दिन का होता है और इसके अगले 45 दिनों में बच्‍चा लगभग 2 किलोग्राम का होने के बाद बिकने के लिए तैयार हो जाता है। एक मादा खरगोश से औसतन 5 बच्‍चे होते हैं। इस तरह 45 दिनों में 350 बच्‍चे होते हैं। खरगोश की यूनिट बच्‍चे पैदा करने लायक वयस्‍क होती है। इसमें छह महीने का इंतजार की भी जरूरत नहीं होती।

 

 

सालना 7 से 8 लाख होती है औसत इनकम

राजेश ने बताया कि 10 यूनिट खरगोश से 45 दिनों में तैयार हुआ बच्‍चों का बैच लगभग 2 लाख रुपए में बिकता है। इन्‍हें हम फार्म ब्रीडिंग, मीट और ऊन व्‍यवसाय के लिए बेचते हैं। उन्‍होंने बताया कि एक मादा खरगोश सालभर में कम से कम 7 बार प्रेग्‍नेंट होती है। लेकिन, यदि हम मोर्टैलिटी, बीमारी आदि सभी को ध्‍यान में रखकर औसतन 5 प्रेग्‍नेंसी पीरियड भी मान लें तो साल भर में 10 लाख रुपए के खरगोश बिक जाते हैं। जबकि, चारे पर खर्च 2 से 3 लाख भी मान लें तो 7 लाख रुपए नेट इनकम होती है। हालांकि, शुरू साल कुल 4.5 लाख रुपए के इन्‍वेस्‍टमेंट को इससे निकालकर चलें तब भी 3 लाख रुपए की आमदनी होती है।

 
 

 

यह भी पढ़ें- 11 साल में 1 लाख बना दिए 92 लाख, इनरवियर बेचकर भारत में जमाई धाक

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन