बिज़नेस न्यूज़ » Market » StocksSME IPO ने अप्रैल-जून क्वार्टर में जुटाए 825 करोड़, पिछले वित्त वर्ष से दो गुना ज्यादा

SME IPO ने अप्रैल-जून क्वार्टर में जुटाए 825 करोड़, पिछले वित्त वर्ष से दो गुना ज्यादा

2017-18 के पहले क्वार्टर में 13 करोड़ रुपए की तुलना में औसत इश्यू साइज 17 करोड़ रुपए से भी अधिक हो गया।

SMEs raised a staggering Rs 825 crore through initial public offerings in the first quarter of 2018-19

नई दिल्ली.  स्मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइसजेज (SMEs) ने 2018-19 के पहले क्वार्टर में इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग्स (IPO) के माध्यम से 825 करोड़ रुपए जुटाए, जो पिछले वित्त वर्ष से दो गुना ज्यादा है। ऑफर दस्तावेजों के मुताबिक, आईपीओ के जरिए जुटाए गए फंड बिजनेस विस्तार योजनाओं, वर्किंग कैपिटल जरूरतों और अन्य सामान्य कॉरपोरेट उद्देश्यों के लिए थे।

 

47 कंपनियों ने आईपीओ से जुटाए 825 करोड़

मर्चेंट बैंकर द्वारा उपलब्ध डाटा के अनुसार, 2018-19 के अप्रैल-जून क्वार्टर के दौरान कुल 47 कंपनियां को 825 करोड़ रुपए के इनिशियल शेयर सेल ऑफर के साथ लिस्ट किया गया, जबकि पिछले साल समान अवधि में आईपीओ रूट के जरिए 24 कंपनियां 310 करोड़ रुपए जुटाई थीं। यह बीएसई और एनएसई के एसएमई प्लेटफार्मों के माध्यम से जुटाई गई राशि में उल्लेखनीय बढ़ोत्तरी दर्शाता है।

 

औसत इश्यू साइज 17 करोड़ से ज्यादा हुआ

इसके अलावा, 2017-18 के पहले क्वार्टर में 13 करोड़ रुपए की तुलना में औसत इश्यू साइज  17 करोड़ रुपए से भी अधिक हो गया। एसएमई मार्केट को खुले हुए 6 साल से ज्यादा हो गया है और हमने देखा कि यह मार्केट धीरे-धीरे ग्रो कर रहा है। ओवर-सब्सक्रिप्शन, शेयरहोल्डर बेस का बढ़ना, इसके जरिए वेंचर कैपिटल का निकलना और एंकर इन्वेस्टर्स की भागीदारी बढ़ी है।

 

गुजरात टॉप पर

एसएमई प्लेटफॉर्म पर लिस्ट होने वाले राज्य में गुजरात टॉप पर रहा। गुजरात की 17 कंपनियां इस प्लेटफॉर्म पर लिस्ट हुई। इसके अलावा, महाराष्ट्र (11), दिल्ली (5) और मध्य प्रदेश (3) का स्थान रहा।

 

47 में से 7 आईपीओ 10 गुना से ज्यादा सब्सक्राइब हुए

अप्रैल-जून क्वार्टर में आए 47 में 7 आईपीओ 10 गुना से ज्यादा सब्सक्राइब हुए थे। वहीं 14 इनिशियल शेयर सेल ऑफर को 2 से 10 गुना और 17 पब्लिक इश्यू को 2 गुना से कम सब्सक्रिप्शन मिला।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट