विज्ञापन
Home » Market » Stocksshare bazaar possible movement in 2019 according to astrology

2019 में शेयर बाजारः दिखेगा ग्रहण इफेक्ट, दूसरी छमाही में मिलेंगे कमाई के मौके

ज्योतिष एक्सपर्ट सुरेश कौशल के हवाले से जानें-कैसी रहेगी शेयर बाजार की चाल

1 of

 

नई दिल्ली. 2019 में वर्ष भर शेयर बाजार में खासा उतार-चढ़ाव दिख सकता है। इस साल जहां कई ग्रहण पड़ेंगे और ग्रहों के राशि परिवर्तन की वजह से नए योग बनेंगे। इसके अलावा आम चुनाव भी होने हैं। इन सभी घटनाओं के चलते बाजार में खासा बदलाव दिख सकता है। हालांकि पहली छमाही की तुलना में दूसरी छमाही में निवेश के अच्छे मौके मिल सकते हैं। ऐसे में ज्योतिष विशेषज्ञ सुरेश कौशल बता रहे हैं कि इस साल शेयर बाजार में किस तरह से निवेश करना चाहिए।

 

जनवरी में दिखेगा ग्रहण का असर

कौशल के मुताबिक, जनवरी की शुरुआत में ही राजनीतिक उठापठक का शेयर मार्केट पर सीधा असर पड़ेगा। 6 जनवरी और 21 जनवरी को दो ग्रहण भी हैं। इन दोनों कारणों से शेयर बाजार में 22 जनवरी तक सुस्ती नजर आएगी। ध्यान देने की बात है कि 6 जनवरी और 21 जनवरी से पहले और बाद के तीन दिन मार्केट में ट्रेडिंग के लिए अच्छे नहीं है। इसकी वजह ग्रहण का निवेशकों और ट्रेडिंग करने वालों पर पड़ने वाला असर है। इस दौरान निवेशक आईटी, टेक्सटाइल, एयरलाइंस और कृषि उत्पादों से जुड़े शेयरों को होल्ड कर रखेंगे। इस वजह से मार्केट में लिक्विडिटी की कमी रहेगी। वहीं 1 जनवरी से 1 फरवरी के बीच दवाइयों, सोना, बैंक, पेट्रोकेमिकल प्रोडक्ट्स और तांबे का काम करने वाली कंपनियों के शेयरों में तेजी रहेगी।

 

फरवरी में इन सेक्टर्स से रह सकते हैं दूर

30 जनवरी से 27 फ़रवरी के बीच मीडिया, चांदी, एल्युमीनियम, कोल्ड ड्रिंक प्रोडक्ट्स, रियल एस्टेट और ऑटो क्षेत्र की कंपनियों के शेयरों में मंदी रहेगी। 7 फरवरी से 22 मार्च के बीच में विदेशी निवेशक अपने धन की जमकर निकासी करेंगे। यह वक्त चुनाव से पहले का है, इस वजह से ओपीनियन पोल्स का भी शेयर बाजार पर बड़ा असर पड़ेगा। घरेलू निवेशकों में भी भारतीय बाजारों को लेकर भरोसे की कमी रहेगी। यानी 22 जनवरी से 21 मार्च के बीच भारतीय बाजारों सेंसेक्स और निफ्टी में अस्थिरता रहेगी।

 

मार्च-अप्रैल में रहेगी उठापटक

10 मार्च से 19 अप्रैल के बीच शेयर मार्केट में काफ़ी उठापठक रहेगी। इस समय में रिज़र्व बैंक की घोषणाएं मार्केट पर खास असर डाल सकती हैं। अंतरराष्ट्रीय बाजारों के सेंटीमेंट अचानक खराब हो सकते हैं। चुनाव परिणामों को लेकर मार्केट में चिंता रहेगी, जिस वजह से देश की पूरी आर्थिक स्थिति पर भी असर पड़ा सकता है। पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स, दालें, सोने, रियल एस्टेट, दवाइयों का काम और आयात-निर्यात के क्षेत्र से जुड़ी कंपनियों के शेयरों में खासतौर पर अस्थिरता रहेगी। 29 मार्च से 19 अप्रैल का वक्त शेयर मार्केट के लिए खासतौर पर खराब रह सकता है। मई में कैसी हो स्ट्रैटजी...

 

 

मई में ट्रेडिंग से बचें

20 अप्रैल से 22 जून के दौरान 18 मई तक विदेशी निवेशक अपना पैसा शेयर मार्केट से निकालते रहेंगे। 4 मई से 1 जून तक मार्केट में ट्रेडिंग करने से बचें, क्योंकि उतार-चढ़ाव बहुत ज्यादा दिखेगा। आईटी, टेक्सटाइल, प्लास्टिक, मीडिया और ज्वैलरी से जुड़ी कंपनियों के शेयर बहुत तेजी से गिर सकते हैं। 15 जून तक मार्केट में सावधानी रखें, वैसे 2 जून से भारतीय बाजारों में सुधार शुरू होने का योग है।

 

जुलाई में दो ग्रहण, कुछ सेक्टर्स में कर सकते हैं निवेश

27 जून से 29 जुलाई के बीच 2 जुलाई और 16 जुलाई को दो ग्रहण हैं। दोनों ग्रहण से पहले और बाद के तीन दिन सावधानी रखें और ट्रेडिंग से बचें। इस समय में आईटी, पॉवर, हाइड्रो, मीडिया और रियल एस्टेट कंपनियों में निवेश की शुरुआत करें।

 

अगस्त में रहेगी बाजार में तेजी

29 जुलाई से 31 अगस्त के बीच शेयर बाजार में तेजी रहेगी। 16 अगस्त से 10 सितंबर तक वर्षा कम होने की वजह से मार्केट पर थोड़ा बुरा असर पड़ सकता है। निवेश के मौके मिलेंगे, लेकिन सावधानी बरतें। सितंबर में बढ़ सकती है महंगाई...

 

 
सितंबर में बढ़ सकती है महंगाई

31 अगस्त से 29 सितंबर के बीच पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स के दाम बढ़ेंगे और रुपया कमजोर होगा। महंगाई अचानक बढ़ जाएगी। गैस, पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स, दवाइयों, फ़ार्मा, रियल एस्टेट और सर्विस सेक्टर से जुड़ी कंपनियों के शेयरों में गिरावट आएगी। 11 सितंबर से बाजार में रिकवरी दिखने लगेगी और 20 से 29 सितंबर का समय शेयर बाजार के लिए अच्छा रहेगा।

 

अक्टूबर में लौटेंगे विदेशी निवेशक

29 सितंबर से 7 नवंबर तक का वक्त शेयर मार्केट के लिए ज्यादा अच्छा रहेगा। 25 अक्टूबर तक लगातार विदेशी निवेशक मार्केट में अपना पैसा डालते रहेंगे। आईटी, मीडिया, कोल्ड ड्रिंक्स, ज्वैलरी, एल्यूमीनियम और एयरलाइंस से जुड़ी कंपनियों में निवेश बढ़ेगा। इन क्षेत्रों में निवेशक 7 नवंबर तक निवेश कर सकते हैं।

 

अच्छा रहेगा दिसंबर

8 नवंबर से 4 दिसंबर तक शेयर मार्केट की दिशा रोज बदलती नजर आएगी। कुछ विदेशी निवेशक बाजार से पैसा निकाल सकते हैं। लेकिन 26 दिसंबर 2019 तक शेयर मार्केट अच्छा ही रहेगा। इस समय बैंक, मीडिया, पेट्रोलियम प्रोडक्ट्स, पावर, सोना और रियल एस्टेट कंपनियों में निवेश से बचें।

साल के अंतिम हफ्ते में 31 दिसंबर 2019 तक शेयर मार्केट में तेजी का रुख ही रहेगा।

 

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन