बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksआदित्य घोष के इस्तीफे से पहले क्यों टूटा इंटरग्लोब का स्टॉक? सेबी ने बिठाई जांच

आदित्य घोष के इस्तीफे से पहले क्यों टूटा इंटरग्लोब का स्टॉक? सेबी ने बिठाई जांच

सेबी इंटरग्लोब एविएशन के प्रेसिडेंट आदित्य घोष के इस्तीफे से कुछ घंटे पहले कंपनी के स्टॉक में गिरावट पर खासा गंभीर है।

1 of

नई दिल्ली. मार्केट रेग्युलेटर सेबी इंडिगो की पैरेंट कंपनी इंटरग्लोब एविएशन के प्रेसिडेंट आदित्य घोष के इस्तीफे से कुछ घंटे पहले कंपनी के स्टॉक में भारी गिरावट के मामले में खासा गंभीर है। एक अधिकारी ने कहा कि सेबी ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है। 

सेबी देश की सबसे बड़ी एविएशन कंपनी के स्टॉक में 27 अप्रैल को  आई 6 फीसदी से ज्यादा की गिरावट की जांच कर रहा है।  दिन में मार्केट बंद होने के कई घंटे बाद शाम 7.56 बजे एयरलाइन ने घोष के इस्तीफे की घोषणा की थी। भले ही प्रेसिडेंट पद से उनका इस्तीफा 31 जुलाई से प्रभावी है, लेकिन घोष ने कंपनी के डायरेक्टर पद से भी इस्तीफा दे दिया जो ऐलान से एक दिन पहले 26 अप्रैल से प्रभावी था।


 

इनसाइडर ट्रेडिंग की आशंका 
बीएसई पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक एक्सचेंज ने प्राप्त होने के 0.05 सेकंड के भीतर फाइलिंग को जारी कर दिया। सेबी इस बात की जांच कर रहा है कि क्या कंपनी द्वारा डिसक्लोजर में देरी की गई। अधिकारियों ने कहा कि रेग्युलेटर पहले ही एक्सचेंजेस से शेयर प्राइस से जुड़े डाटा की तुलना और इनसाइडर ट्रेडिंग के नियमों के संभावित उल्लंघन की जांच के लिए कह चुका है। 

 

 

एयरलाइन, प्रमोटर्स से क्लैरिफिकेशन मांग सकता है सेबी 
उन्होंने कहा कि सेबी शुरुआती जांच के आधार पर एयरलाइन, उसके प्रमोटर्स और डायरेक्टर्स के साथ ही निवर्तमान सीईओ से क्लैरिफिकेशन मांगेगा। संपर्क करने पर इंटरग्लोब एविएशन ने कहा कि उसे सेबी की तरफ से कोई नोटिफिकेशन प्राप्त नहीं हुआ है।
कंपनी के स्पोक्सपर्सन ने कहा, ‘किसी भी स्थिति में घोष के इस्तीफे के संबंध में इंडिगो ने स्टॉक एक्सचेंज लिस्टिंग की शर्तों को पूरा किया है।’

 

 

घोष ने 27 अप्रैल को दिया था इस्तीफा 
27 अप्रैल को कंपनी ने कहा था कि घोष ने प्रेसिडेंट और व्होल टाइम डायरेक्टर के तौर पर इस्तीफा दे दिया है। इंडिगो आज शाम ही अपने पूरे साल के फाइनेंशियल रिजल्ट जारी करेगी। 
इंडिगो के पास 160 एयरक्राफ्ट्स का बेड़ा है और 40 फीसदी मार्केट शेयर के साथ देश की सबसे बड़ी एयरलाइन है। कंपनी रोजाना लगभग 1,000 फ्लाइट ऑपरेट करती है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट