बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksम्‍युचुअल फंड दो साल में लागू करें ट्रस्‍टी और ऑडिटर बदलने के नियम, सेबी ने जारी किए निर्देश

म्‍युचुअल फंड दो साल में लागू करें ट्रस्‍टी और ऑडिटर बदलने के नियम, सेबी ने जारी किए निर्देश

सेबी ने MF में इंडिपेंडेंट ट्रस्‍टी, डायरेक्‍टर और ऑडिटर के बदलाव के लिए समय तय कर‍ दिया है।

1 of

नई दिल्‍ली. सेबी ने म्‍युचुअल फंड में इंडिपेंडेंट ट्रस्‍टी, डायरेक्‍टर के अलावा ऑडिटर के बदलाव के नियमों को अंतिम रूप से लागू करने की तारीख तय कर दी है। इसके तहत दो सालों में म्‍युचुअल फंड हाउस को नए नियमों के तहत यह बदलाव करने होंगे। पहले सेबी ने इन आदेशों को 30 नबवंर 2017 से लागू करने काे कहा था, लेकिन म्‍युचुअल फंड कंपनियों ने इसके लिए सेबी से समय मांगा था। सेबी ने यह आदेश म्‍युचुअल फंड कंपनियों में गवर्नेंस बढ़ाने के लिए जारी किया है।

 

 

सेंसेक्स 300 अंकों से ज्यादा बढ़ा, निफ्टी 10550 के पार, इंफोसिस में 3% का उछाल

 

42 म्‍युचुअल फंड कंपनियां है देश में

इस वक्‍त देश में 42 म्‍युचुअल फंड कंपनियां देश में काम कर रही हैं। इन कंपनियों ने सेबी नए नियमों के अनुसार समय मांगा था, जिसके तहत सेबी ने यह आदेश जारी किया है। इसके तहत म्‍युचुअल फंड में जो ऑडिटर 9 साल से जुड़े हैं वह 2018-19 में ऑडिट का काम जारी रख सकेंगे, लेकिन इसके बाद म्‍युचुअल फंड कंपनियों को इन्‍हें बदलना होगा।

 

 

क्‍या है सेबी का आदेश

सेबी ने कहा है कि 30 नबवंर 2017 से म्‍युचुअल फंड कंपनियों में जिन स्‍वतंत्र ट्रस्‍टी और निदेशकों ने 9 साल पूरे कर लिए हैं वह एक और बने रह सकते हैं। सेबी ने बुधवार को जारी आदेश में कहा है कि इन निदेशकों को चरणों में कंपनियां 2 साल अंदर लागू करेंगी।

 

 

दो बार से ज्‍यादा नहीं रह सकते पदों पर

सेबी के अादेश के अनुसार स्‍वतंत्र ट्रस्‍टी और निदेशक सहित ऑडिटर अब अधिकतम दो बार ही नियुक्‍त हो सकेंगे। इसके अलावा इनका टर्म एक बार में 5 साल से ज्‍यादा का नहीं हो सकता है। अगर इसके बाद कंपनियां इन्‍हें नियुक्‍त करना चाहती हैं तो 3 साल के कूलिंग पीरियड के बाद ऐसा कर सकती हैं। लेकिन इस कूलिंग पीरियड के दौरान इन लोगों को किसी भी तरह से पुरानी कंपनी से जुड़ा हुआ नहीं होना चाहिए।

 

यह भी पढ़ें : बड़े काम का है टैक्स सेविंग म्युचुअल फंड, जानें निवेश की A B C D

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट