Home » Market » StocksSebi directs HDFC AMC to scrap pre-IPO share-sale to distributors; return money

IPO से पहले डिस्ट्रीब्यूटर्स-एडवाइजर्स को अलॉट शेयर रद्द करे HDFC AMC, सेबी का निर्देश

सेबी ने फंड हाउस से डिस्ट्रीब्यूटर्स-फाइनेंशियल एडवाइजर्स से जुटाया गया पैसा 12 फीसदी ब्याज के साथ लौटानेे को भी कहा है।

Sebi directs HDFC AMC to scrap pre-IPO share-sale to distributors; return money

नई दिल्ली. मार्केट रेग्युलेटर सिक्युरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (SEBI) ने देश की दूसरी बड़ी म्युचुअल फंड हाउस HDFC AMC को इनीशियल पब्लिक ऑफरिंग (IPO) से पहले डिस्ट्रीब्यूटर्स और एडवाइजर्स को आवंटित किए गए शेयरों को रद्द करनेे केे निर्देश दिए हैं। इसके अलावा, सेबी ने फंड हाउस को डिस्ट्रीब्यूटर्स और इंडिपेंडेंट फाइनेंशियल एडवाइजर्स से जुटाए गए पैसे को 12 फीसदी ब्याज के साथ लौटाने के लिए भी कहा है। 

 

 

डिस्ट्रीब्यूटर्स को दिए 150 करोड़ रुपए के शेयर

HDFC AMC ने इस साल अप्रैल में प्राइवेट प्लेसमेंट के जरिए 140 डिस्ट्रीब्यूटर्स को 150 करोड़ रुपए मूल्य शेयर आवंटित किए थे। ये शेयर 1,050 रुपए प्रति शेयर की दर से ऑफर किए गए थे। हालांकि, उसने लगभग 200 डिस्ट्रीब्यूटर्स को शेयर की पेशकश की थी। इसमें से केवल 140 ने सब्सक्राइब किया। HDFC AMC ने अपने ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस में रेग्युलेटर के अधीन 7.2 लाख शेयर डिस्ट्रीब्यूटर्स के लिए रिजर्व रखा था।

इंडस्ट्री पार्टिसिपैैंट्स के अनुसार, फंड हाउस के शेयरों को जिन डिस्ट्रीब्यूटर्स ने सब्सक्राइब किया है, वो एचडीएफसी एसेट मैनेजमेंट कंपनी (एएमसी) में अपनी इक्विटी हिस्सेदारी के कारण पक्षपातपूर्ण सलाह दे सकते हैं। इसने सेबी को इस प्री-आईपीओ प्लेसमेंट को रद्द करने लिए फंड हाउस से पूछने के लिए बाध्य किया है।

 

HDFC म्युचुअल फंड IPO को सेबी की मंजूरी

इससे पहले, पिछले हफ्ते HDFC असेट मैनेजमेंट कंपनी के इनिशियल पब्लिक ऑफर (IPO) को सेबी से मंजूरी मिली थी। कंपनी ने मार्च में सेबी के पास आर्इपीओ से जुड़े दस्तावेज जमा किए थे। 22 जून को उसे ऑब्जर्वेशन मिला।

 

2.54 करोड़ शेयरों की होगी बिक्री
आईपीओ के जरिए 2.54 करोड़ शेयरों की बिक्री होगी। इसमें एचडीएफसी 85.92 लाख शेयर बेचेगी, जबकि स्टैंडर्ड लाइफ 1.68 करोड़ शेयरों की बिक्री करेगी। यह बिक्री ऑफर फॉर सेल के जरिए होगी। इस इश्यू के तहत 2.21 करोड़ शेयर रिटेल इन्वेस्टर्स को बेचे जाएंगे। 3.20 लाख शेयर एचडीएफसी एएमसी के कर्मचारियों के लिए रिजर्व रखे गए हैं। इसके अलावा 24 लाख शेयर एचडीएफसी के शेयरधारकों के लिए रिजर्व होंगे।

 

3 लाख करोड़ रु है AUM
मार्च तक एचडीएफसी एएमसी के एसेट अंडर मैनेजमेंट (AUM) 3 लाख करोड़ रुपए था। रिलायंस निप्पॉन लाइफ एएमसी के बाद इसे साल पूंजी बाजार में दस्तक देने वाली यह दूसरी एएमसी बन सकती है।

 

ये हैं इश्यू के मैनेजर
नोमुरा फाइनेंशियल एडवाइजरी एंड सिक्युरिटीज (इंडिया), कोटक महिंद्रा कैपिटल, एक्सिस कैपिटल, बोफा मेरिल लिंच, सिटीग्रुप ग्लोबल मार्केट्स इंडिया, सीएलएसए इंडिया, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज, आईआईएफएल होल्डिंग्स, जेएम फाइनेंशियल, जेपी मॉर्गन इंडिया, मॉर्गन स्टेनली इंडिया को इश्यू के प्रबंधन का जिम्मा सौंपा गया है। ये बुक रनिंग लीड मैनेजर्स हैं।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट