Home » Market » StocksSebi bans 28 entities for fraudulent trade with fake SMSes

सेबी ने फ्रॉड ट्रेड पर 28 एंटिटीज पर लगाया बैन, SMS भेजकर फंसाती थीं जाल में

सेबी ने बल्क में अनअथॉन्टिकेटेड एसएमएस ‘बाई’ की सलाह देकर इन्वेस्टर्स को गुमराह करने वाली 28 एंटिटीज को बैन कर दिया है।

1 of

 
नई दिल्ली. मार्केट रेग्युलेटर सेबी ने बल्क में अनअथॉन्टिकेटेड एसएमएस ‘बाई’ (खरीद) की सलाह देकर इन्वेस्टर्स को गुमराह करने वाली 28 एंटिटीज पर कैपिटल मार्केट्स से बैन कर दिया है। इन कंपनियों ने कल्प कमर्शियल के स्टॉक्स के लिए ऐसी सलाह दी। उनका उद्देश्य कल्प के स्टॉक्स में ट्रेडिंग वॉल्यूम बढ़ाना था।

 

 

एक साल में 1 लाख रुपए रह गए 6800
कल्प कमर्शियल के स्टॉक्स ने इन्वेस्टर्स को तगड़ा नुकसान भी पहुंचाया। लगभग एक साल पहले इस स्टॉक की कीमत लगभग 140 रुपए थी, जो अब घटकर 8.49 रुपए (सोमवार यानी 30 अप्रैल को कीमत) रह गई। इस प्रकार यदि किसी ने इसमें एक साल पहले एक लाख रुपए लगाए होते तो आज यह घटकर 6800 रुपए से भी कम रह जाते।

 

 

अननोन एंटिटीज ने भेजे गारंटेड रिटर्न के एसएमएस
सेबी को इस संबंध में ब्रोकरेज हाउस, डिपॉजिटरीज सहित कई इंटरमीडियरीज की तरफ से कई शिकायतें मिली थीं, जिनमें आरोप लगाया गया था कि कुछ अननोन एंटिटीज गारंटेड रिटर्न वाले एसएमएस भेज रही हैं और इनके माध्यम से इन्वेस्टर्स को गुमराह किया जा रहा है।

 

 

जांच में सच साबित हुई शिकायत 
इसके बाद सेबी ने कल्प कमर्शियल (केसीएल) के स्टॉक में 10-18 अक्टूबर, 2017 के दौरान हुई  शेयर ट्रेडिंग की शुरुआती जांच की, जो विशेष रूप से कंपनी के शेयरों में ट्रेडिंग के संबंध में भेजे गए बल्क शॉर्ट मैसेज सर्विसेस (एसएमएस) से संबंधित थे। इन्हीं पर सवाल उठाए गए थे।

 

 

 

आगे भी पढ़ें - भेजे थे 3.42 करोड़ बल्क एसएमएस 

 

 

भेजे गए थे 3.42 करोड़ बल्क एसएमएस 
जांच में सामने आया कि 28 ‘कनेक्टेड एंटिटीज’ (ग्रुप) ने मिलीभगत से बड़ी संख्या में केसीएल के शेयर बेचने के लिए अपनी योजना को अंजाम दिया था। उन्होंने इन्वेस्टर्स को लुभाने के लिए व्यापक तरीके से खरीद की सलाह वाले 3.42 करोड़ बल्क एसएमएस भेजे थे। 
सेबी के मुताबिक, एक बार हाई वॉल्यूम क्रिएट होने के बाद ग्रुप पार्टिसिपैंट्स ने सीधे तौर पर या ऑफ मार्केट ट्रांसफर्स की लेयर के माध्यम से स्टॉक्स बेच दिए। 

 

 

फेक एसएमएस भेजकर लुभाए गए इन्वेस्टर 
सेबी के व्होल टाइम मेंबर मधाबी पुरी बुच ने 27 अप्रैल को जारी आदेश में कहा, ‘प्रथमदृष्ट्या मैंने पाया कि केसीएल के स्टॉक्स में डीलिंग कनेक्टेड एंटिटीज द्वारा की गई, जो धोखा देने के उद्देश्य से किया गया। इसमें एक योजना तैयार की गई और एसएमएस भेजकर इन्वेस्टर्स को लुभाया गया। यह पीएफयूटीपी (प्रोबिशन ऑफर फ्रॉडलमेंट एंड अनफेयर ट्रेड प्रैक्टिसेस) का उल्लंघन है।’

आगे भी पढ़ें 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट