Home » Market » Stocks1 मार्च 2018 से म्‍युचुअल फंड को रोज बताना होगा एक्‍सपेंश रेश्‍यो, सेबी ने जारी किए निर्देश - The new directives would be applicable on MF from March 1

म्‍युचुअल फंड को रोज बताना होगा एक्‍सपेंश रेश्‍यो, सेबी ने जारी किए निर्देश

सेबी ने म्‍युचुअल फंड कंपनियों को एक्‍सपेंश रेश्‍यो की रोज जानकारी देने का निर्देश दिया है।

1 of
 
नई दिल्‍ली. सेबी ने म्‍युचुअल फंड कंपनियों को निर्देश जारी कर कहा है कि वह अपनी वेबसाइट पर स्‍कीम्‍स की नेट आसेट वैल्‍यू (NAV) डिटेल के साथ एक्‍सपेंश रेश्‍यो की भी जानकारी निवेशकों को दें। एक्‍सपेंश रेश्‍यो स्‍कीम को चलाने में आने वाला खर्च है, जिसका भार निवेशक के ऊपर पड़ता है। सेबी ने इसको लेकर सर्कुलर जारी कर दिया है। सेबी का यह निर्देश 1 मार्च 2018 से प्रभावी होगा। 

 
 
हर बदलाव की जानकारी निवेशकों को दें
सेबी ने कहा है कि म्‍युचुअल फंड कंपनियां अगर टोटल एक्‍सपेंश रेश्‍यो (TER) में अगर बदलाव करती हैं तो इसकी जनकारी निवेशकों को ईमेल या SMS से दें। सेबी के अनुसार यह जानकारी निवेशकों को इस बदलाव के कम से कम तीन दिन पहले देनी होगी। TER उसे कहते हैं जिसमें स्‍कीम के कुल नेट आसेट वैल्‍यू के प्रतिशत में कॉस्‍ट के रूप में म्‍युचुअल फंड चार्ज करता है। इसमें अन्‍य खर्च के अलावा एडमिनेस्‍ट्रैटिव और मैनजमेंट चार्ज के रूप में शामिल रहते हैं।
 
 
 
लगातार बदले जा रहे चार्जेज
सेबी ने महसूस किया था कि म्‍युचुअल फंड कंपनियां इन चार्जेज को लगातार बदलती रहती थीं। इसके अलावा कंपनियों इस चेंज को निवेशकों को प्रमुखता से बताती भी नहीं हैं। इसी के बाद सेबी ने यह निर्देश जारी किया है।
 
हर तीन महीने में ट्रस्‍टी के सामने रखना होगा TER
सेबी ने अपने सर्कुलर में कहा है कि TER में बदलाव के लिए ट्रस्‍टी के सामने रखना होगा। इसकी हर तिमाही समीक्षा के बाद ही इसे लागू किया जा सकता है। पिछले हफ्ते ही सेबी ने म्‍युचुअल फंड कंपनियों को बड़े 30 शहरों को छोड़ कर बाकी जगह डिस्‍ट्रब्‍यूटर को 30 बेसिस प्‍वाइंट ज्‍यादा तक कमीशन देने की छूट दी है।
 
क्‍वांटम म्‍युचुअल फंड
क्‍वांटम म्‍युचुअल फंड के सीईओ जिम्‍मी पटेल के अनुसार सेबी ने सिर्फ बड़े 30 शहरों में म्‍युचुअल फंड बढ़ते पेनीट्रेशन को देखते हुए कमीशन बढ़ाने का फैसला किया है। इससे छोटी जगहों में म्‍युचुअल फंड को पहुंचाना आसान होगा।
 
बीएसईस्‍टार म्‍युचुअल फंड
म्‍युचुअल फंड डिस्‍ट्रीब्‍यूशन कंपनी बीएसईस्‍टार म्‍युचुअल फंड के सीईओ आशीष चौहान के अनुसार इस कदम से छोटे शहारों में म्‍युचुअल फंड को आसानी से पहुंचाया जा सकेगा।
 
 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट