बिज़नेस न्यूज़ » Market » StocksRIL ने रचा इतिहास, बनी 8 लाख करोड़ रु से ज्यादा मार्केट कैप वाली देश की पहली कंपनी

RIL ने रचा इतिहास, बनी 8 लाख करोड़ रु से ज्यादा मार्केट कैप वाली देश की पहली कंपनी

Mukesh Ambani के स्वामित्व वाली RIL 8 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा मार्केट कैपिटलाइजेशन वाली कंपनी बन गई है।

RIL market cap crosses 8 trillion rs for the first time

 

मुंबई. मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) गुरुवार को 8 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा मार्केट कैपिटलाइजेशन वाली देश की पहली कंपनी बन गई है। RIL ने स्टॉक में लगभग 2 फीसदी की बढ़त के साथ यह उपलब्धि हासिल की है। वहीं इस साल कंपनी के स्टॉक में लगभग 37 फीसदी की ग्रोथ दर्ज की जा चुकी है। इससे पहले 13 जुलाई को RIL की मार्केट कैप 7 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा हो गई थी, जिसके साथ ही वह TCS के बाद देश की दूसरी बड़ी कंपनी बन गई थी।

 

 

रिकॉर्ड हाई पर पहुंचा स्टॉक

RIL का स्टॉक लगभग 2 फीसदी की बढ़त के साथ बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज पर 1270 रुपए के स्तर पर पहुंच गया, जो स्टॉक का अभी तक का उच्चतम स्तर है। इससे उसकी मार्केट कैप 8.04 लाख करोड़ रुपए के स्तर पर पहुंच गई। कंपनी को टेलिकॉम सेक्टर रेग्युलेटर ट्राई द्वारा जारी किए गए डाटा का फायदा मिला, जिनके मुताबिक RJIO सब्सक्राइबर्स में फिर से बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है।

 

 

इन वजहों से मिला सपोर्ट

मार्केट एक्सपर्ट्स के मुताबिक, हाल में ब्रॉड बैंड सर्विसेस की लॉन्चिंग की घोषणा से अतिरिक्त रेवेन्यू मिलने की उम्मीद से इन्वेस्टर्स लगातार आरआईएल के स्टॉक में खरीददारी कर रहे हैं। इसके अलावा अतिरिक्त फीचर्स के साथ JIO phone 2 की लॉन्चिंग और आकर्षक ऑफर्स के दम पर सब्सक्राइबर्स की संख्या बढ़ने से भी स्टॉक को सपोर्ट मिल रहा है।

 

 

अच्छे रहे थे आरआईएल के नतीजे

जुलाई में आए जून क्वार्टर के नतीजों से भी आरआईएल को अच्छे संकेत मिले थे। RJio ने जून क्वार्टर में लगभग 20 फीसदी की ग्रोथ के साथ 612 करोड़ रुपए का प्रॉफिट दर्ज किया गया था, जिसे ऑपरेशंस से हुए 8,109 करोड़ रुपए के रेवेन्यू का फायदा मिला था। इससे पहले मार्च क्वार्टर में JIO ने 510 करोड़ रुपए का प्रॉफिट दर्ज किया था। वहीं स्टोर्स की संख्या तेजी से बढ़ने के कारण आरआईएल के ऑर्गनाइज्ड रिटेल का रेवेन्यू 123.7 फीसदी की बढ़ोत्तरी के साथ 25,890 करोड़ रुपए के स्तर पर पहुंच गया था।

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट