Home » Market » Stocks2017 to 18 is Good year for mutual funds

म्‍युचुअल फंड में आया रिकॉर्ड 2.94 लाख करोड़ रु का निवेश, रिटर्न में रहे IT फंड सबसे आगे

वित्‍तीय वर्ष 2017-18 में अप्रैल से फरवरी 2018 के बीच म्‍युचुअल फंड में 2.94 लाख करोड़ रुपए का निवेश आया है।

1 of

 
नई दिल्‍ली. वित्‍तीय वर्ष  2017-18 में अप्रैल से फरवरी 2018 के बीच म्‍युचुअल फंड में 2.94 लाख करोड़ रुपए का निवेश आया है। यह किसी भी साल में अाया सबसे ज्‍यादा निवेश है। जहां तक रिटर्न का सवाल है तो सिर्फ फार्मा सेक्‍टर के फंड ने निगेटिव रिटर्न दिया है, इसके अलावा सभी सेक्‍टर के फंड ने अच्‍छा रिटर्न दिया है। IT फोकस्‍ड फंड ने सबसे ज्‍यादा 29 फीसदी तक का रिटर्न दिया है। फरवरी के अंत में म्‍युचुअल फंड के पास कुल आसेट अंडर मैनेजमेंट 22 लाख करोड़ रुपए के ऊपर निकल चुकी है।
 
 
7 करोड़ फोलियो फरवरी के अंत तक
देश की सभी 42 म्‍युचुअल फंड कंपनियों के पास 6.99 करोड़ म्‍युचुअल फंड के फोलियो (म्‍युचुअल फंड खाते) थे। म्‍युचुअल फंड इंडस्‍ट्री में हर निवेश को एक फोलियो कहा जाता है। इन फोलियो में सबसे ज्‍यादा टैक्‍स सेविंग स्‍कीम्‍स और बैलेंस्‍ड स्‍कीम्‍स में थे। इन दोनों कैटेगरी में फरवरी के अंत तक कुल मिला कर 5.80 फोलियो थे।
 
 
IT फोकस्‍ड फंड का दौर लौटा
अंश फाइनेंशियल एंड इन्‍वेस्‍टमेंट के डायरेक्‍टर दिलीप कुमार गुप्‍ता के अनुसार कई साल से IT फोकस्‍ड फंड रिटर्न के मामले में पीछे चल रहे थे, लेकिन आईटी क्षेत्र में कुछ स्थिरता आने इस सेक्‍टर के फंड ने वर्ष 2017-18 में सबसे अच्‍छा रिटर्न दिया है। इस साल इनका रिटर्न 29.5 फीसदी तक रहा है। फरवरी में पहले बजट और बाद में पीएनबी फ्रॉड के बाद मार्केट में लगातार गिरावट का दौर चल रहा है। इसके चलते मिड कैप से लेकर लार्ज कैप तक के फंड का रिटर्न काफी कम हो गया है। जनवरी 2018 तक जहां मिड कैप फंड का रिटर्न 60 फीसदी तक पहुंच गया था, वह इन दो माह में गिरकर 15 फीसदी तक पहुंच रह गया। ऐसा ही कुछ अन्‍य सेक्‍टर के फंड के साथ हुआ है।
 
 
 
सेक्‍टर
रिटर्न
आईटी सेक्‍टर
29.49 फीसदी
इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर सेक्‍टर
18.47 फीसदी
बैंकिंग सेक्‍टर
11.04 फीसदी
फार्मा सेक्‍टर
-6.97 फीसदी
 
नोट : रिस्‍क एडजेस्टिड रिटर्न का डाटा 28 मार्च 2018 तक का।
 
 
ज्‍यादातर कैटेगरी में MF का रिटर्न FD से ज्‍यादा रहा
फाइनेंशियल एडवाइजर फर्म बीपीएन फिनकैप के डायरेक्‍टर एके निगम के अनुसार बीत रहे वित्‍तीय साल में बैंकों की ब्‍याज दरें 7 फीसदी के आसपास रही हैं, लेकिन म्‍युचुअल फंड की ज्‍यादातर कैटेगरी में रिटर्न इससे ज्‍यादा रही रहा है। जहां मिडकैप इक्विटी और टैक्‍स सेविंग फंड में यह रिटर्न 15 फीसदी के ऊपर रहा वहीं, अन्‍य लार्ज कैप सेक्‍टर फंड का रिटर्न करीब 12 फीसदी रहा है।

 
 
 
फंड कैटेगरी
रिटर्न
मिडकैप फंड
15.2 फीसदी
टैक्‍स सेविंग फंड
15.0 फीसदी
मल्‍टी कैप फंड
14.4 फीसदी
स्‍माल कैप फंड
14.2 फीसदी
लार्ज कैप फंड
11.8 फीसदी
 
नोट : रिस्‍क एडजेस्टिड रिटर्न का डाटा 28 मार्च 2018 तक का।
 
 
 
निवेश SIP माध्‍यम से ही सेफ
निगम के अनुसार अगले वर्ष भी मार्केट में उतार-चढ़ाव चलता रहने की उम्‍मीद है। ऐसे में एक साथ पैसों का निवेश करने में रिस्‍क है। इसलिए सिस्‍टेमैटिक इन्‍वेस्‍टमेंट प्‍लान (SIP) माध्‍यम से ही निवेश करना उचित रहेगा। बाजार में उतार चढ़ाव के दौरान निवेश का यह तरीका सबसे ज्‍यादा सु‍रक्षित और फायदेमंद होता है। मार्केट कैसा भी रहे आमतौर पर दो से तीन साल की SIP अच्‍छी होती है। इतने समय तक SIP चलने के बाद अच्‍छा रिटर्न मिलने की पूरी संभावना होती है।

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट