Home » Market » StocksRecord load factor helps Spicejet log in 11% rise in net

स्पाइसजेट को 11% ग्रोथ के साथ 46 करोड़ का प्रॉफिट, पैसेंजर्स की बढ़ी संख्‍या का मिला फायदा

स्पाइसजेट को रिकॉर्ड 95.4 फीसदी लोड फैक्टर का अच्छा फायदा मिला।

1 of

नई दिल्ली. स्पाइसजेट को रिकॉर्ड 95.4 फीसदी लोड फैक्टर का अच्छा फायदा मिला। मार्च, 2018 में समाप्त क्वार्टर के दौरान 11 फीसदी की बढ़ोत्तरी के साथ 46.1 करोड़ रुपए का प्रॉफिट दर्ज किया। देश की दूसरी बड़ी नो-फ्रिल कैरियर यानी किफायती किराये वाली एविएशन कंपनी ने लगातार 13वें क्वार्टर के दौरान प्रॉफिट दर्ज किया है। 

 

 

वित्त वर्ष 2018 में 32 फीसदी बढ़ा प्रॉफिट
स्पाइसजेट द्वारा जारी स्टेटमेंट के मुताबिक कंपनी ने मार्च में समाप्त वित्त वर्ष के दौरान 32 फीसदी की ग्रोथ के साथ 566.7 करोड़ रुपए का प्रॉफिट दर्ज किया, जो उसका अब तक का रिकॉर्ड है और 13 साल पुरानी एयरलाइन ने लगातार तीसरे साल प्रॉफिट दर्ज किया है। वित्त वर्ष 2016-17 के दौरान कंपनी का प्रॉफिट 430.7 करोड़ रुपए रहा था, जबकि इससे एक साल पहले कंपनी को महज 41.6 करोड़ रुपए का प्रॉफिट हुआ था।  वहीं वित्त वर्ष 2017-18 में कंपनी का रेवेन्यू 26 फीसदी की ग्रोथ के साथ 7,795.1 करोड़ रुपए तक पहुंच गया। 

 

 

रिकॉर्ड लोड फैक्टर का मिला फायदा
वित्त वर्ष 2017-18 के अंतिम क्वार्टर के दौरान स्पाइसजेट की कुल सेल्स 25 फीसदी बढ़कर 2,029.3 करोड़ रुपए तक पहुंच गई। कंपनी को रिकॉर्ड 95.4 फीसदी लोड फैक्टर की वजह से पैसेंजर यील्ड्स या रेवेन्यू प्रति सीट किलोमीटर 9 फीसदी तक बढ़ोत्तरी का फायदा मिला। पूरे साल के दौरान सीट फैक्टर 94.7 फीसदी रहा और कंपनी ने लगातार 35 महीनों के दौरान 90 फीसदी से ज्यादा लोड फैक्टर दर्ज किया।

 

 

फ्यूल महंगा होने के बावजूद प्रॉफिट
क्वार्टर के दौरान कंपनी की परफॉर्मैंस पर चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर अजय सिंह ने कहा, ‘फ्यूल की कीमतों में बढ़ोत्तरी के बावजूद हम प्रॉफिट दर्ज करने में कामयाब रहे और हमने अब तक का सबसे ज्यादा एनुअल प्रॉफिट दर्ज किया।’ बीते एक साल के दौरान फ्यूल की कीमतों में 12.7 फीसदी की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई। 

 

 

इन वजहों से मिला फायदा
सिंह ने प्रॉफिट की वजह कंपनी द्वारा मौजूदा रूट्स पर क्षमताओं में विस्तार और नए डेस्टिनेशंस की पहचान रही। उन्होंने कहा कि आने वाले महीनों में फ्यूल इफीशिएंट बी737 मैक्स प्लेन्स के कंपनी के बेड़े में शामिल होने से प्रॉफिट और ऑपरेटिंग परफॉर्मैंस में सुधार में मदद मिलेगी।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट