Home » Market » StocksRcom ने Jio को बेची अपनी वायरलेस एसेट, कर्ज का बोझ कम करेगी अनिल अंबानी की कंपनी- RComm to sell wireless assets t

RCom ने रिलायंस Jio को बेची वायरलेस एसेट्स, 45 हजार करोड़ रु. का कर्ज कम करेगी कंपनी

रिलायंस कम्युनिकेशन्स पर 45 हजार करोड़ का कर्ज है। अनिल अंबानी ने कहा था-मार्च तक 25 हजार Cr रुपए कर्ज कम करना है।

1 of

नई दिल्ली.   रिलायंस कम्युनिकेशन्स (RCom) 45 हजार करोड़ रुपए के कर्ज को चुकाने के लिए रिलायंस Jio को अपनी वायरलेस एसेट्स बेचेगी। दोनों कंपनियों के बीच डील हो गई है। हालांकि, इस बात का खुलासा अभी नहीं हुआ है कि इस सौदे की एवज में जियो कितना पैसा चुकाएगी। जानकार इसे 25 हजार करोड़ की डील बता रहे हैं। अनिल अंबानी की इस कंपनी की एसेट्स के लिए जियो ने सबसे बड़ी बोली लगाई थी। 

 

 

RCom ने अपने बयान में क्या कहा

- RCom ने गुरुवार को जारी बयान में कहा-  "वायरलेस स्पेक्ट्रम, टावर, फाइबर और मीडिया कन्वर्जेंस नोड (एमसीएन) एसेट्स की बिक्री के लिए रिलायंस जियो इन्फोकॉम (आरजियो) के साथ एक समझौता किया है। अपनी वैल्युएबल एसेट्स के लिए कॉम्पीटिटिव प्रोसेस को आगे बढ़ाने के लिए एसबीआई कैपिटल मार्केट्स लिमिटेड के साथ मिलकर काम कर रही है।" 

 

RCom की इन एसेट्स को टेकओवर करेगी रिलायंस Jio

-  800/900/1800/2100 मेगाहर्ट्ज बैंड में 122.4 मेगाहर्ट्ज 4जी स्पेक्ट्रम। 

-  टॉवर बिजनेस। कंपनी के पास 43 हजार टावर हैं। ये कंपनी देश की टॉप 3 इंडिपेंडेंट टावर होल्डिंग्स में शामिल है। 

-  फाइबर बिजनेस। 

-  248 मीडिया कन्वर्जेंस नोड्स, जिन्हें टेलिकाम इन्फ्रास्ट्रक्चर की होस्टिंग के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

 

Jio ने लगाई थी सबसे बड़ी बोली 

- RCom के मुताबिक, कंपनी के एसेट्स के वैल्युएशन के लिए  एक कमेटी बनाई गई थी। इसी तहत बोली मंगाई गईं। सबसे ऊंची बोली रिलायंस Jio ने लगाई। यह प्रोसेस मार्च 2018 के पूरा होने की उम्मीद है।" 

- " जो भी पैसा मिलेगा उससे कर्ज चुकाएगा जाएगा, जिसमें डिपार्टमेंट ऑफ टेलिकॉम (डॉट) से स्पेक्ट्रम की इंस्टालमेंट का भुगतान शामिल है।" 

 

 RCom पर कितना कर्ज है? 

 RCom पर 45 हजार करोड़ रुपए का कर्ज है। हाल में चेयरमैन अनिल अंबानी ने कहा था कि कर्ज में डूबी रिलायंस कम्‍युनिकेशंस मार्च 2018 तक अपना कर्ज 25 हजार करोड़ रुपए कम कर लेगी। इसके लिए कंपनी ने स्‍पेक्‍ट्रम, टॉवर और रियल एस्‍टेट एसेट्स बेचने का फैसला किया है। एसेट बिक्री की प्रक्रिया 49 दिनों में पूरी हो जाएगी। 

 

25 हजार करोड़ की डील होने की उम्मीद
- न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, भले ही दोनों कंपनियों ने डील की राशि को लेकर खुलासा नहीं किया है, लेकिन बैंकिंग सोर्सेज ने इस डील में 24,000 करोड़ से 25,000 करोड़ रुपए के होने की उम्मीद जताई है।

 

7 दिन में 180% से ज्यादा बढ़ा शेयर

- गुरुवार को आरकॉम का स्टॉक 7.72 फीसदी चढ़कर 30.96 रुपए पर बंद हुआ। इससे पहले स्टॉक ने 33.83 का हाई बनाया। पिछले 7 ट्रेडिंग सेशन में आरकॉम के स्टॉक्स में 180 फीसदी से ज्यादा की तेजी दर्ज की गई है। 18 दिसंबर 2017 को स्टॉक 11.83 रुपए पर बंद हुआ था। इस तरह 7 ट्रेडिंग सेशन में स्टॉक में लगभग 185.96 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई। मंगलवार को बीएसई पर शेयर 30.77 फीसदी बढ़ा था। वहीं बुधवार को शेयर 40.41 फीसदी बढ़कर 29.95 रुपए के भाव पर पहुंच गया था।

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट