Home » Market » StocksMFs log Rs 1 lakh 40 thousand cr inflow in Apr

अप्रैल में MF में हुआ 1.4 लाख Cr का निवेश, AUM बढ़कर हुई 23.25 लाख Cr

अप्रैल में म्‍युचुअल फंड में निवेशकों ने 1.4 लाख करोड़ रुपए का निवेश किया।

1 of


नई दिल्‍ली. अप्रैल में निवेशकों ने म्‍युचुअल फंड में 1.4 लाख करोड़ रुपए का निवेश किया। इस प्रकार मार्च की तुलना में अप्रैल में 9 फीसदी का इजाफा दर्ज किया गया है। इसके चलते इंडस्‍ट्री की एसेट अंडर मैनेजमेंट (AUM)  23.25 लाख करोड़ रुपए हो गई। देश में इस वक्‍त 42 म्‍युचुअल फंड कंपनियां हैं। इनकी मार्च में AUM 21.36 लाख करोड़ रुपए थी। यह जानकारी एसोसिएशन ऑफ म्‍युचुअल फंड इन इंडिया (Amfi) ने दी है। जानकारों के अनुसार इनवेस्‍टर्स को जागरूक करने के लिए चलाए जा रहे अभियान का इसमें काफी बड़ा योगदान है। इसके अलावा म्‍युचुअल फंड कंपनियां भी छोटे शहरों तक जाकर अपनी योजनाएं बेच रही हैं। 

 

निवेशक भी इन्‍वेस्‍टमेंट के विकल्‍प तलाश रहे

इसके अलावा निवेशक भी इन्‍वेस्‍टमेंट के नए विकल्‍प तलाश रहे हैं। इसके चलते भी म्‍युचुअल फंड में नया निवेश आ रहा है। आजकल निवेशक रियल स्‍टेट और गोल्‍ड में निवेश की जगह फाइनेंशियल अासेट क्‍लास की तरफ तेजी से जा रहे हैं। 

 

 

SIP से बढ़ रहा निवेश 

म्‍युचुअल फंड में सिस्‍टेमैटिक इन्‍वेस्‍टमेंट प्‍लान (SIP) भी निवेशक को अच्‍छी च्‍वॉइस दे रहा है। इसमें निवेशक जितना चाहे उतना निवेश सुरक्षित तरीके से कर सकते हैं। ऑनलाइन म्‍युचुअल फंड बेचने वाली कंपनी Groww के सीओओ हर्ष जैन के अनुसार SIP माध्‍यम से निवेश तेजी से बढ़ रहा है। 

 

 

मार्च में निकला था 50 हजार करोड़ रुपए

डाटा के अनुसार जहां अप्रैल में निवेशकों ने 1.4 लाख करोड़ रुपए का निवेश किया है, वहीं मार्च में 50752 करोड़ रुपए का निवेशकों ने निकाला था। इसका कारण बजट में टैक्‍स के नियम बदलने को माना जा रहा है। बजट में सरकार ने लॉग टर्म कैपिटल गैन टैक्‍स लगाया है। 

 

 

डेट फंड में आया सबसे ज्‍यादा निवेश

अप्रैल में सबसे ज्‍यादा निवेश लिक्विड और मनी मार्केट कैटेगरी में आया है। लिक्विड फंड और मार्केट कैटेगरी में 1.16 लाख करोड़ रुपए का निवेश आया है। वहीं इक्विटी और टैक्‍स सेविंग फंड में 11 हजार करोड़ रुपए का निवेश आया। इनकम फंड में 5220 करोड़ रुपए आया। वहीं गिल्‍ट फंड से 436 करोड़ रुपए और गोल्‍ड ETF से 54 करोड़ रुपए निकला। 

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट