बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksबॉन्ड मार्केट से कंपनियां जुटा सकेंगी 25% फंड, सेबी लाएगा कंसल्टेशन पेपर

बॉन्ड मार्केट से कंपनियां जुटा सकेंगी 25% फंड, सेबी लाएगा कंसल्टेशन पेपर

बैंकों में दबाव के चलते कई कंपनियां फंड जुटाने को बॉन्ड मार्केट का रुख कर रही हैं।

Paper on large cos sourcing 25pc of finance needs from bond markets soon

नई दिल्ली.  मार्केट रेग्युलेटर सिक्युरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड (Sebi) बड़े कॉरपोरेट्स की वित्तीय जरूरतों को पूरा करने के लिए कंसल्टेशन पेपर लाएगा। इसके तहत कॉरपोरेट्स को अपनी जरूरतों का एक चौथाई फंड बॉन्ड मार्केट से जुटाने के लिए अनिवार्य किया जाएगा। सेबी के चेयरमैन अजय त्यागी ने कहा कि बजट 2018 में किए गए प्रस्ताव का पालन किया गया है। इसका उद्देश्य अगले दशक में इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टर में होने वाले 4 लाख डॉलर के भारी भरकम निवेश को आंशिक रूप से फंडिंग करना है।

 

LIC-IDBI बैंक डील का नहीं मिला प्रस्ताव

उन्होंने यह भी कहा कि रेग्युलेटर को लाइफ इंश्योरेंस कॉरपोरेशन (LIC) से कर्ज में दबी आईडीबीआई बैंक का अधिग्रहण करने का कोई भी डेफिनिट ओपन ऑफर प्रपोजल प्राप्त नहीं हुआ है। त्यागी ने संवाददाताओं से कहा, हमें इस बारे में कोई ठोस प्रस्ताव नहीं मिला है।

 

बैंकिंग सिस्टम पर बैड लोन का दबाव

सेबी चेयरमैन ने कहा, बैंकिंग सेक्टर में बैड लोन का काफी दबाव है। पूरे सिस्टम पर बैड लोन का 12 फीसदी दबाव है। इसके चलते सरकारी बैंक कमजोर रेटिंग वाले कॉरपोरेट्स को लोन देने में सावधानी बरत रहे हैं। इस वजह से कई कंपनियां फंड जुटाने को बॉन्ड मार्केट का रुख कर रही हैं।
उन्होंने कहा, बॉन्ड मार्केट में ग्रो करने की काफी संभावनाएं हैं। इसके लिए एक बेहतर सेकेंडरी मार्केट की जरूरत है। हम डेट या बॉन्ड के लिए सेकेंडरी मार्केट विकसित करने को जल्द कंसल्टेशन पेपर लेकर आएंगे। त्यागी ने कहा, इस बारे में अंतिम गाइडलाइंस सभी स्टेकहोल्डर्स के साथ विचार-विमर्श के बाद तय किए जाएंगे। इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट के लिए भारी जरूरत के मद्देनजर बॉन्ड मार्केट और तेजी से आगे बढ़ेगा।

 

290 अरब डॉलर का है कॉरपोरेट बॉन्ड मार्केट

डोमेस्टिक कॉरपोरेट बॉन्ड मार्केट 290 अरब डॉलर का है, जो ग्रॉस डोमेस्टिक प्रोडक्ट (GDP) का मात्र 17 फीसदी है। वहीं स्टॉक मार्केट का करीब 80 फीसदी है। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट