बिज़नेस न्यूज़ » Market » StocksONGC को IOC और गेल में हिस्‍सेदारी बेचने की मिली मंजूरी, अधिग्रहण के लिए जुटाएगी पैसा

ONGC को IOC और गेल में हिस्‍सेदारी बेचने की मिली मंजूरी, अधिग्रहण के लिए जुटाएगी पैसा

ONGC को एचपीसीएल के अधिग्रहण के लिए आईओसी और GAIL में अपनी हिस्‍सेदारी बेचने की इजाजत सरकार ने दे दी है।

1 of

 

नई दिल्‍ली. ऑयल एंड नेचुरल गैस कार्पोरेशन (ONGC) को एचपीसीएल के अधिग्रहण के लिए आईओसी और गैल में अपनी हिस्‍सेदारी बेचने की इजाजत सरकार ने दे दी है। ओएनजीसी ने 36,915 करोड़ रुपए में एचपीसीएल का अधिग्रहण किया है।

 

 

30 हजार करोड़ रुपए की वैल्‍यू है हिस्‍सेदारी

ओएनजीसी के पास इंडियन ऑयल आर्पोरेशन (IOC) की करीब 13.77 फीसदी हिस्‍सेदारी है। इसकी मार्केट वैल्‍यू इस वक्‍त 26200 करोड़ रुपए की है। वहीं गैल में ओएनजीसी की 4.86 फीसदी हिस्‍सेदारी है, जिसकी मार्केट वैल्‍यू इस वक्‍त 3,847 करोड़ रुपए है।

 

सरकार ने दी इजाजत

सूत्रों का कहना है कि जनवरी की शुरुआत में सरकार ने ओएनजीसी को दोनाें कंपनियों में हिस्‍सेदारी बेचने की इजाजत दे दी है। लेकिन ओएनजीसी सही दाम पर इन शेयर को बेचना चाहती है जिसके लिए वह इंतजार कर रही है।

 

सरकार से खरीद रही HPCL की हिस्‍सेदारी

ओएनजीसी सरकार से एचपीसीएल की 51.11 फीसदी हिस्‍सेदारी खरीद रही है। इसके लिए ओएनजीसी को 36,915 करोड़ रुपए की जरूरत है। ओएनजीसी के पास इस वक्‍त करीब 12 हजार करोड़ रुपए का कैश है। बाकी पैसा कंपनी शार्ट टर्म लोन से जुटाना चाहती है। ओएनजीसी का वर्तमान में स्‍टेटस डेट फ्री कंपनी का है, जिसे वह बरकरार रखना चाहती है। इसी लिए कंपनी शार्ट टर्म लोन कभी भी बिना पेनाल्‍टी के वापस करने के विकल्‍प के साथ लेना चाह रही है। कंपनी का इरादा इस लोन को एक साल के अंदर पटा देने का है। इसके लिए वह उचित समय पर आईओसी और गैल की हिस्‍सेदारी बेच कर्ज चुकाना चाहती है।

 

हिस्‍सेदारी बाजार में बेचने की तैयारी

सूत्रों का कहना है कि ओएनजीसी ने एलआईसी को इन दोनों कंपनियों की हिस्‍सेदारी बेचने की कोशिश की थी, लेकिन एलआईसी इन शेयरों का दाम बाजार दर से 10 फीसदी कम लगा रही थी। इसके बाद ओएनजीसी ने तय किया है कि वह दोनों कंपनियों में हिस्‍सेदारी खुले बाजार में बेचेगी।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट