Home » Market » Stocksरुचि सोया पर हो सकती है इनसॉल्वेंसी की कार्रवाई-NCLT admits 2 foreign banks insolvency plea against Ruchi Soya

रुचि सोया पर हाेगी इनसॉल्वेंसी की कार्रवाई, स्‍टेक सेल की योजना पर पड़ सकता है असर

बकाया नहीं चुकाने पर रुचि सोया के खिलाफ जल्द ही इनसॉल्वेंसी की कार्रवाई शुरू हो सकती है।

रुचि सोया पर हो सकती है इनसॉल्वेंसी की कार्रवाई-NCLT admits 2 foreign banks insolvency plea against Ruchi Soya

मुंबई. बकाया नहीं चुकाने पर रुचि सोया के खिलाफ जल्द ही इनसॉल्वेंसी की कार्रवाई शुरू हो सकती है। नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) ने कंपनी के खिलाफ दो विदेशी लेंडर्स स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक और डीबीएस बैंक द्वारा फाइल की गई इनसॉल्वेंसी पिटीशन को स्वीकार कर लिया है।

इस संबंध में व्यापक आदेश के साथ इनसॉल्वेंसी रिजॉल्यूशन प्रोफेशनल की नियुक्ति की जाएगी, जो मंगलवार को आने का अनुमान है।

 

हिस्सेदारी बेचने की योजना पर पड़ सकता है असर

इनसॉल्वेंसी प्रॉसेस की शुरुआत से खाद्य तेल कंपनी द्वारा हाल में डेवनशायर कैपिटल को 51 फीसदी हिस्सेदारी बेचने के लिए हुआ 4000 करोड़ रुपए का बाइंडिंग एग्रीमेंट और अन्य लेंडर्स के साथ संभावित डेट रिस्ट्रक्चरिंग पर असर पड़ेगा।

 

एग्रीमेंट के मुताबिक रुचि सोया के प्रमोटर कंपनी में अपनी 51 फीसदी हिस्सेदारी डेवनशायर कैपिटल को बेचेगी, जो कुछ खास एडिबल ब्रांड और डिस्ट्रीब्यूशन बिजनेस में पूरा कंट्रोल भी हासिल करेगी।

 

दो बैंकों ने किया इनसॉल्वेंसी का आवेदन

इंदौर की कंपनी ने कहा था कि स्टेक सेल से मिलने वाली अधिकांश रकम को कर्ज चुकाने में इस्तेमाल किया जाएगा। रुचि सोया की वित्त वर्ष 2016-17 की एनुअल रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी पर स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक की 33.64 करोड़ रुपए और डीबीएस बैंक की 140 करोड़ रुपए की देनदारी है। 31 मार्च तक कंपनी पर कुल 5330 करोड़ रुपए का कर्ज था।

 

कंपनी के लेंडर्स में एसबीआई, आईसीआईसीआई बैंक, यूनियन बैंक, एक्सिस बैंक और बैंक ऑफ इंडिया सहित 16 लेंडर्स शामिल हैं। 2016 में केयर रेटिंग्स ने रुचि सोया को डाउनग्रेड करते हुए 'डिफॉल्ट' की कैटेगरी में डाल दिया था।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट