Home » Market » StocksMutual funds garner Rs 7000 cr via SIPs in Apr 2018

अप्रैल में SIP से आया म्‍युचुअल फंड में 7000 करोड़ रुपए, 2 करोड़ से ज्‍यादा है फोलियो की संख्‍या

म्‍युचुअल फंड में रिटेल इन्‍वेस्‍टर की हिस्‍सेदारी SIP माध्‍यम से बढ़ रही है।

Mutual funds garner Rs 7000 cr via SIPs in Apr 2018
 
नई दिल्‍ली. सिस्‍टेमैटिक इन्‍वेस्‍टमेंट प्‍लान (SIP) माध्‍यम से म्‍युचुअल फंड में रिटेल इन्‍वेस्‍टर्स की हिस्‍सेदारी बढ़ रही है। अप्रैल में निवेशकों ने SIP माध्‍यम से 7000 करोड़ रुपए का निवेश किया। यह निवेश पिछले साल अप्रैल में हुए निवेश से 57 फीसदी ज्‍यादा है।
 
 
67 हजार करोड़ रुपए का आया निवेश
वर्ष 2017-18 के दौरान SIP माध्‍यम से 67 हजार करोड़ रुपए से ज्‍यादा का निवेश आया था। वहीं इसके पहले के वित्‍त वर्ष में यह निवेश 43,900 करोड़ रुपए का रहा था। यह डाटा एसोसिएशन ऑफ म्‍युचुअल फंड इन इंडिया (Amfi) की तरफ से जारी किया गया है।
 
 
इक्विटी स्‍कीम के अच्‍छे प्रदर्शन का मिला फायदा
एडेलवाइस म्‍युचुअल फंड की CEO राधिका गुप्‍ता के अनुसार SIP में निवेश बढ़ने का कारण इक्विटी स्‍कीम के अच्‍छे प्रदर्शन का भी रहा। इसके अलावा निवेशकों को जागरूक करने के कार्यक्रम का भी फायदा मिला है। उनके अनुसार SIP रिटेल निवेशकों की पसंद का जरिया बन कर उभर रहा है।
 
 
निवेश के पुराने तरीके बदल रहे
उन्‍होंने कहा कि निवेशक अब निवेश के पुराने तरीकों से हट कर फैसला कर रहा है। इन तरीकों में रियल स्‍टेट, गोल्‍ड में निवेश शामिल था। इनकी जगह अब निवेशक म्‍युचुअल फंड को महत्‍व दे रहे हैं। इसके अलावा सेबी के एक्‍सपेंस रेशियो को घटाने का फायदा भी म्‍युचुअल फंड निवेशकों को मिलेगा। इस कटौती के बाद अब केवल 5 बेसिस प्‍वाइंट चार्ज की लिया जा सकेगा, जो अभी तक 20 बेसिस प्‍वाइंट लिया जा रहा था। 1 बेसिस प्‍वाइंट का मतलब 0.01 फीसदी होता है।
आंकड़ों के अनुसार अप्रैल में SIP माध्‍यम से 6690 करोड़ रुपए का निवेश आया है, जबकि अप्रैल 2017 में यह निवेश 4269 करोड़ रुपए रहा था।  आंकड़ों केे अनुसार इस वक्‍त म्‍युचुअल फंड में SIP के 2.16 करोड़ फोलिया हैं। 1 फोलियो का मतलब 1 निवेश होता है। एक निवेशक के 1 से ज्‍यादा फोलियो हो सकते हैं।

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट