विज्ञापन
Home » Market » StocksMukesh Ambani vs Jeff Bezos in india take new turn

दुनिया के टॉप अमीर को उसी के दांव से मात देंगे अंबानी, ताबड़तोड़ खरीदीं 26 कंपनियां

अंबानी ने 5 साल में खर्च कर दिए 37 हजार करोड़ रुपए

1 of


नई दिल्ली. भारत के सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani), दुनिया के सबसे अमीर शख्स जेफ बेजोस (Jeff Bezos) को भारत में ही तगड़ी टक्कर देने की तैयारी में हैं। दिलचस्प यह है कि अंबानी उनके सामने उन्हीं का दांव आजमाने जा रहे हैं, जिसके दम पर बेजोस की ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन (Amazon) दुनिया पर राज कर रही है। दरअसल अमेजन के जेफ बेजोस (Jeff Bezos) ने अपने विस्तार के लिए छोटी-छोटी कंपनियों के टेकओवर पर बड़े स्तर पर दांव लगाया। बीते लगभग 20 साल के दौरान जेफ बेजोस लगभग 70 कंपनियों को खरीद चुके हैं या उनमें निवेश कर चुके हैं। 


अंबानी ने दो साल में की 26 डील

बिजनेस इनसाइडर की एक रिपोर्ट के मुताबिक, बीते लगभग 24 महीने के दौरान अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) यानी RIL 26 मर्जर मर्जर और एक्विजिशन डील कर चुकी है। इनमें 15 डील ऐसी हैं, जिन पर कंपनी को खासा खर्च करना पड़ा है। इस लिहाज से भी अहम है कि इन डील्स में से ज्यादातर मीडिया प्रोडक्शन हाउस से लेकर म्यूजिक स्ट्रीमिंग ऐप्स, केबल नेटवर्क, टेलिकॉम सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर यूनिट तक शामिल हैं।

 

यह भी पढ़ें-लाखों की जॉब छोड़ दो दोस्तों ने शुरू की कंपनी, अंबानी ने लगा दिए 700 करोड़ 

 

5 साल में किया 37 हजार करोड़ रु का निवेश

कुछ साल पहले तक आरआईएल (RIL) को दिग्गज एनर्जी कंपनी के तौर पर जाना जाता था। वर्तमान में भले ही ऑयल रिफाइनिंग और पेट्रोकेमिकल्स कैश जेनरेट करने वाली यूनिट बनी हुई हैं, लेकिन अंबानी की नजर फ्यूचर के बिजनेस में विस्तार पर बनी हुई है। वैसे भी वह कई मौके पर कह चुके हैं, ‘डाटा ही नया ऑयल है।’ मॉर्गन स्टैनली (Morgan Stanley) द्वारा तैयार एक रिपोर्ट के मुताबिक, बीते 5 साल के दौरान किए गए कुल 5.3 अरब डॉलर के निवेश में 79 फीसदी टेलिकॉम सेक्टर में किया गया है।

 

यह भी पढ़ें-बनि‍यों की 4 आदतें उन्‍हें बनाती हैं सफल, आप भी जानें क्‍या है इनमें खास

 


 

 

आरआईएल के शेयर ने एक साल में दिया 46 फीसदी रिटर्न

इन डील्स का फायदा आरआईएल (RIL) के शेयर को भी मिलता दिख रहा है। मार्च, 2018 की तुलना में एक साल में आरआईएल का शेयर लगभग 46 फीसदी मजबूत हो चुका है। इससे भारत की सबसे ज्यादा मार्केट कैप वाली कंपनी द्वारा की गईं इन डील्स पर निवेशकों का भरोसा जाहिर होता है।

 
 
यह थी सबसे बड़ी डील

रिलायंस ने अक्टूबर, 2018 में 63 करोड़ डॉलर की एक बड़ी डील की थी, जिसके माध्यम से कंपनी ने टेलिकॉम स्पेस की कंपनी डेन नेटवर्क्स (Den Networks) की 59 फीसदी और हैथवे केबल (Hathway Cable) की 51.3 फीसदी हिस्सेदारी का अधिग्रहण किया था। आरआईएल की यह डील देश में केबल टीवी और ब्रॉडबैंड मार्केट की अग्रणी कंपनी बनने की दिशा में उठाया गया बड़ा कदम मानी जा रही है। इससे रिलायंस जियो (Reliance Jio) को फिक्स्ड ब्रॉडबैंड सर्विस गीगाफाइबर (GigaFiber) की लॉन्चिंग में खासी मदद मिलेगी। 

 

 
 
आरआईएल की बड़ी डील

1. आरआईएल ने जून, 2017 में बालाजी टेलीफिल्म्स की 25 फीसदी स्टेक खरीदी, जिसकी डील 6.4 करोड़ डॉलर में हुई।
2. फरवरी, 2018 में इरोज की 51 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी, जिसके लिए 15 करोड़ डॉलर चुकाए।
3. मार्च, 2018 में आरआईएल ने म्यूजिक ऐप सावन (Saavn) की 41 फीसदी हिस्सेदारी का अधिग्रहण किया। यह डील 12.2 करोड़ डॉलर में हुई।
4. जून, 2018 में रैडिसस की 100 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी, जिसके लिए 7.4 करोड़ डॉलर चुकाए।
5. अक्टूबर, 2018 में डेन नेटवर्क की 59 फीसदी हिस्सेदारी और हैथवे केबल की 51.3 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी। यह डील कुल 63 करोड़ डॉलर में हुई।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss