बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksसैलरी 15 करोड़ लेकिन इनकम 1800 करोड़, भर गई मुकेश अंबानी की जेब

सैलरी 15 करोड़ लेकिन इनकम 1800 करोड़, भर गई मुकेश अंबानी की जेब

वित्त वर्ष 2017-18 में सैलरी की तुलना में Mukesh Ambani को 120 गुनी डिविडेंड इनकम हुई है।

1 of

 

नई दिल्ली. भले ही मुकेश अंबानी ने लगातार 10वें साल अपनी सैलरी नहीं बढ़ाकर बड़ा उदाहरण पेश किया है, लेकिन इसके बावजूद उनकी इनकम लगातार बढ़ती जा रही है। हम देश के सबसे अमीर शख्स को रिलायंस इंडस्ट्रीज से हुई डिविडेंड इनकम की बात कर रहे हैं। वित्त वर्ष 2017-18 में सैलरी की तुलना में अंबानी को 120 गुनी डिविडेंड इनकम हुई है। इस दौरान उनकी सैलरी जहां महज 15 करोड़ रुपए थी, वहीं उन्हें लगभग 1800 करोड़ रुपए का डिविडेंड मिला।

 

 

10 साल में डिविडेंड से मिले 14,553 करोड़ रु

वित्त वर्ष 2017-18 में रिलायंस से मुकेश अंबानी की सैलरी लगातार 10वें साल 15 करोड़ रुपए पर सीमित रखी गई, जिसमें सैलरी, अतिरिक्त सुविधाएं, कमीशन और रिटायरल बेनिफिट्स शामिल हैं। हालांकि इन दस साल के दौरान कंपनी द्वारा डिक्लेयर डिविडेंड से उन्हें 14,553 करोड़ रुपए की इनकम हो चुकी है। दरअसल अंबानी आरआईएल के सबसे बड़े शेयरहोल्डर भी हैं, जिससे उन्हें यह फायदा हुआ है।

वर्ष 2008 से अब तक रिलायंस 31,616 करोड़ रुपए के डिविडेंड का भुगतान कर चुकी है। प्रमोटर और बड़े शेयरहोल्डर होने के कारण अंबानी और उनकी फैमिली को इसमें 14,553 करोड़ रुपए का डिविडेंड मिला है।

 

 

आगे भी पढ़ें

 

 

 

डिविडेंड इनकम 10 साल में हुई दोगुनी

2008 में उन्हें महज 927 करोड़ रुपए डिविडेंड मिला था, जबकि 2017-18 में यह बढ़कर 1804 करोड़ रुपए हो गया। हालांकि इन 10 साल में उन्हें महज 150 करोड़ रुपए सैलरी मिली, जो उनकी कुल डिविडेंड इनकम की महज 1 फीसदी ही है।

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज पर उपलब्ध डाटा के मुताबिक मार्च, 2018 के अंत तक 47 एंटिटीज के माध्यम से अंबानी की आरआईएल में कुल हिस्सेदारी 47.4 फीसदी है।

 

आगे भी पढ़ें

 

 

 

एशिया के तीसरे बड़े अमीर हैं अंबानी

ब्लूमबर्ग बिलेनायर इंडेक्स के मुताबिक, अंबानी फिलहाल 40 अरब डॉलर की नेटवर्थ के साथ एशिया के तीसरे बड़े अमीर शख्स हैं। वहीं अलीबाबा के जैक मा पहले और वहीं के

टेनसेंट होल्डिंग्स के मा हुआतेंग दूसरे नंबर पर हैं।

 

आगे भी पढ़ें

 

अन्‍य डायरेक्‍टर्स की बढ़ी सैलरी

31 मार्च, 2018 को खत्‍म हुए फाइनेंशि‍यल ईयर में जब कंपनी के सभी पूर्णकालिक निदेशकों, जिनमें उनके चचेरे भाई निखिल और हीतल मेसवानी शामि‍ल हैं, की सैलरी में अच्‍छी बढ़ोतरी देखी गई की है। लेकि‍न चेयरमैन और एमडी मुकेश अंबानी की सैलरी पहले जि‍तनी ही बनी हुई है।

 



 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट