बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksमिड और स्‍माल कैप स्‍टॉक से MF बना रहे दूरी, निवेश के मौके घटने से बढ़ी परेशानी

मिड और स्‍माल कैप स्‍टॉक से MF बना रहे दूरी, निवेश के मौके घटने से बढ़ी परेशानी

म्‍युचुअल फंड कंपनियों के सामने मिड और स्‍माल कैप कंपनियों में निवेश के मौके घटने से परेशानी बढ़ रही है।

1 of


नई दिल्‍ली. म्‍युचुअल फंड कंपनियों के सामने मिड और स्‍माल कैप कंपनियों में निवेश के मौके घटने से परेशानी बढ़ रही है। इसी के चलते आईसीआईसीआई आसेट मैनेजमेंट की पोर्टफोलियो मैनेजमेंट सर्विस डिविजन (PMS) ने अपनी दो स्‍कीम्‍स को बंद कर निवेशकों को पैसा लौटाने का फैसला किया है। इन स्‍कीम में निवेशकों के इन्‍वेस्‍टमेंट की वैल्‍यू करीब 700 करोड़ रुपए है। यह PMS वेल्‍थी लोगों की आसेट मैनेज करता है। इससे पहले कुछ अन्‍य म्‍युचुअल फंड कंपनियां अपनी स्‍कीम्‍स में निवेश पर प्रतिबंध लागू कर चुकी हैं। स्‍टॉक मार्केट की तेजी के बीच ज्‍यादातर मिड और स्‍मॉल कैप कंपनियों की वैल्‍यूएशन काफी ज्‍यादा हो चुकी है। इसके चलते फंड मैनेजर्स मिड और स्‍मॉल कैप कंपनियों में नया निवेश करने से दिक्‍कतों का सामना करना पड़ रहा है।

 

आईसीआईसी इन स्‍कीम्‍स को किया बंद

आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल पीएमएस की PIPE और स्‍मॉल कैप पोर्टफोलिया सिरीज 1 को कैश करने जा रहा है। इस फंड के मैनजर को अपनी कैटेगरी में निवेश के ज्‍यादा मौके नजर नहीं आ रहे हैं। इस फंड को आदित्‍य सूद मैनेज करते हैं। इन फंड्स की वैल्‍यू करीब 700 करोड़ रुपए है। फाइनेंशियल एडवाइजर फर्म बीपीएन फिनकैप के डायरेक्‍टर एके निगम के अनुसार अभी तक ऐसा विकसित देशों में फंड मैनेजर्स करते थे, लेकिन अब यह देश में भी होने लगा है। उनका कहना है कि स्‍माल और मिड कैप में वैल्‍यू स्‍टॉक चुनना अब कठिन होता जा रहा है। इसी के चलते पिछले दिनों आईडीएफसी ने अपनी अच्‍छा रिटर्न देने वाली स्‍कीम फोकस इक्विटी फंड, डीएसपी माइक्रो कैप फंड, मिराज इमर्जिंग ब्‍लूचिप और एसबीआई स्‍मॉल एंड मिड कैप में निवेश को प्रतिबंधित किया गया है। इन फंड हाउस ने कहा यह प्रतिबंध लगाते वक्‍त अपनी कैटेगरी में अच्‍छे स्‍टॉक की कमी को कारण बताया था।

 


पोर्टफोलियो ने दिया है 300 फीसदी से ज्‍यादा रिटर्न


आंकड़ों के हिसाब से जनवरी 2018 तक इन फंड ने 300 फीसदी से ज्‍यादा का रिटर्न दिया है। नवबंर 2013 में इन फंड की शुरुआत हुई थी। इस दौरान बीएसई स्‍मॉल कैप इंडेक्‍स का रिटर्न 230 फीसदी रहा है। सही स्‍टॉक चुनने के चलते इन स्‍कीम का रिटर्न बैंचमार्क से भी अच्‍छा रहा है। स्‍मॉल कैप इंडेक्‍स में इस वक्‍त 848 स्‍टॉक हैं।

 

 

 

यह भी पढ़ें : म्‍युचुअल फंड की यह है A B C D, 10 स्टेप्स में समझें कमाई का तरीका

 

 

 

निवेश में सावधानी की जरूरत

शेयरखान के वाइस प्रेसीडेंट मृदुल कुमार वर्मा के अनुसार स्‍टॉक मार्केट काफी ऊपर हैं, ऐसे में बाजार में तेज उठा पटक देखी जा सकती है। इसलिए निवेशकों को म्‍युचुअल फंड में एक बार में निवेश करने से बचना चाहिए। इसकी जगह हर माह निवेश की योजना SIP (सिस्‍टमैटिक इन्‍वेस्‍टमेंट प्‍लान) के माध्‍यम से निवेश करना चाहिए। निवेशकों को यह बात समझनी चाहिए कि SIP तेजी और गिरावट दोनों में चलती रहना चाहिए। इसलिए अगर निवेश शुरू कर रहे हैं, तो उसे कम से दो से तीन साल तक जरूरी चलाते रहें। ऐसा होने से निवेशक अच्‍छा रिटर्न पाने में सफल रह सकते हैं।

 

 

यह भी पढ़ें : ये है घर बैठे म्‍यूचुअल फंड में निवेश की A B C D, आसान है तरीका

 

 

 

आगे पढ़ें : टॉप 3 स्‍मॉल एंड मिड कैप स्‍कीम्‍स का रिटर्न

 

 

स्‍माल एंड मिड कैप म्‍युचुअल फंड स्‍कीम्‍स

 

स्‍कीम     

1 साल का रिटर्न

एसबीआई स्‍माल एंड मिड कैप फंड डायरेक्‍ट (G)

73.4 %

एलएंडटी इमर्जिंग बिजनेस फंड डायरेक्‍ट (G)

60.5 %

रिलायंस स्‍माल कैप डायरेक्‍ट (G)

59.3 %

 

 

नोट : डाटा 23 जनवरी 2018 का।

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट