Home » Market » Stocksmerck limited share price surge 15 percent

खास स्‍टॉक : मर्क लि. में 15% तक की तेजी, कारोबार बेचने का मिला फायदा

ग्रुप कंपनी को कारोबार बेचने का दवा कंपनी मर्क लिमिटेड के स्टॉक को खासा फायदा मिला।

1 of

 

नई दिल्ली. ग्रुप कंपनी को कारोबार बेचने का दवा कंपनी मर्क लिमिटेड के स्टॉक को खासा फायदा मिला। सोमवार के कारोबार के दौरान कंपनी का स्टॉक 15 फीसदी तक की तेजी के साथ 2,172.80 रुपए के लेवल पर पहुंच गया। इसके अलावा कंपनी के अच्‍छे नतीजों का असर भी स्टॉक पर दिखा। पिछले फाइनेंशियल ईयर की चौथी तिमाही में कंपनी के नेट प्रॉफिट में 53.23 फीसदी की तेजी आई है। कंपनी का कारोबार 11.15% की तेजी के साथ 2,115 रुपए के भाव पर बंद हुआ।

 

ऐसी रही शेयर की चाल

पिछले ट्रेडिंग सेशन में 1,902.90 रुपए के प्राइस पर बंद मर्क लिमिटेड का स्टॉक 2,000 रुपए के भाव पर खुला। इस दौरान कंपनी के शेयर ने 2,172.80 रुपए के भाव के साथ 52 सप्‍ताह के हाई लेवल को भी टच किया।  


 

इसलिए आई यह तेजी 

दरअसल, मर्क लिमिटेड ने ग्रुप की ही मर्क लाइफ साइंस प्राइवेट लिमिटेड को बायोफार्मा और परफॉर्मेंस मैटेरियल कारोबार बेचने का फैसला लिया है। शुक्रवार को यह जानकारी कंपनी ने बीएसई को दी है। मर्क लिमिटेड के बोर्ड ने इस कन्सिडरेशन को 1052 करोड़ रुपए में मंजूरी दे दी है। अब यह शेयरहोल्‍डर्स और अन्य वैधानिक शर्तों के अनुमोदन के अधीन है। 

 

 

22.71 करोड़ रुपए का नेट प्रॉफिट 

31 मार्च, 2018 को समाप्त तिमाही में कंपनी को 22.71 करोड़ रुपए का नेट प्रॉफिट हुआ है जो पिछले साल की तुलना में 53.23 फीसदी का ग्रोथ है। पिछले साल इसी अवधि में कंपनी को 14.82 करोड़ रुपए का नेट प्रॉफिट हुआ था। 


 

रेवेन्‍यू भी बढ़कर 301.16 करोड़ रुपए

वहीं चौथी तिमाही में कंपनी का रेवेन्‍यू भी बढ़कर 301.16 करोड़ रुपए हो गया है। जबकि इसी अवधि में पिछले साल मर्क लिमिटेड का रेवेन्‍यू 236.92 करोड़ रुपए रहा था।  

 

 

जानें कंपनी के बारे में

मर्क लिमिटेड इंडिया में लिस्टेड कंपनी है जो जर्मनी के मर्क ग्रुप की कंपनी है। मर्क लि. जर्मन फर्म की पहली एशियन सब्सिडियरी कंपनी है। कंपनी फॉर्मास्युटिकल्स और केमिकल बिजनेस में है। कंपनी फॉर्मास्युटिकल्स केमिकल्स, फॉर्म्यूलेटेड केमिकल प्रोडक्ट्स, केमिकल, इंडस्ट्रियल केमिकल्स व अन्य केमिकल प्रोडक्ट्स ऑफर करती है। कैंसर, न्यूरो, इनफर्टिलिटी, एंडोक्राइन, मेटोबोलिक डिसऑर्डर और कॉर्डियोवास्कुलर डिजीज से रिलेटेड दवाएं बनाती है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss