Home » Market » Stocksबचा टैक्स मिला 10% ज्यादा रिटर्न, SBI पर भारी पड़ा LIC LIC tax saving Scheme gives 10 per cent more return than SBI saving of tax

टैक्‍स सेविंग के साथ मिला 10% ज्‍यादा रिटर्न, SBI पर भारी पड़ा LIC

टैक्‍स सेविंग इन्‍वेस्‍टमेंट से होने वाले फायदे के मामले में LIC ने SBI को पीछे छोड़ दिया है।

1 of

 

नई दिल्‍ली. टैक्‍स सेविंग इन्‍वेस्‍टमेंट से होने वाले फायदे के मामले में LIC ने SBI को पीछे छोड़ दिया है। LIC म्‍युचुअल फंड की स्‍कीम LIC टैक्‍स प्‍लान डायरेक्‍ट (ग्रोथ) ने SBI म्‍युचुअल फंड की स्‍कीम SBI टैक्‍स गेन स्‍कीम डायरेक्‍ट (ग्रोथ) से एक साल में 10 फीसदी ज्‍यादा रिटर्न दिया है। हालांकि SBI म्‍युचुअल फंड के टैक्‍स बचाने वाले अन्‍य प्‍लान ने ज्‍यादा रिटर्न दिया है, लेकिन वे क्‍लोज एंडेड प्‍लान होने के नाते अब उनमें निवेश नहीं किया जा सकता है।

 

LIC टैक्‍स प्‍लान डायरेक्‍ट (ग्रोथ)

LIC म्‍युचुअल फंड LIC की सहयोगी कंपनी है, जो कई सारे प्‍लान चलाती है। इसमें इनकम टैक्‍स बचाने वाला प्‍लान LIC टैक्‍स प्‍लान डायरेक्‍ट (ग्रोथ) है। इस फंड ने एक साल में 17.1 फीसदी का रिटर्न दिया है। तीन साल में इस फंड का रिटर्न 9.6 फीसदी और 5 साल का रिटर्न 17.8 फीसदी रहा है। एक साल से ज्‍यादा का रिटर्न CAGR में यानी हर साल‍ मिला रिटर्न है। यह फंड जनवरी 2013 में लांच हुआ था। इस फंड में इंट्री लोड नहीं लगता है और एग्जिड लोड भी निल है। इन स्‍कीम में लॉकइन पीरियड 3 साल का होता है।

 

SBI मैग्‍नम टैक्‍स गेन स्‍कीम डायरेक्‍ट प्‍लान (ग्रोथ)

SBI बैंक की सहयोगी कंपनी SBI म्‍युचुअल फंड है। इस फंड का एक साल का रिटर्न 7.1 फीसदी रहा है। वहीं 3 साल में इस फंड ने 7.3 फीसदी और 5 साल में 16.5 फीसदी रिटर्न दिया है। एक साल से ज्‍यादा का रिटर्न CAGR में यानी हर साल‍ मिला रिटर्न है। इस फंड ने 98.85 फीसदी पैसा इक्विटी में लगा रखा है। 312.37 करोड़ रुपए का निवेश लोगों ने इस स्‍कीम में कर रखा है। इस फंड का सबसे ज्‍यादा निवेश आईसीआईसीआई बैंक और रिलायंस इंडस्‍ट्रीज में है।

 

क्‍या होते हैं ये टैक्‍स प्‍लान

इनकम टैक्‍स बचाने के लिए इक्विटी म्‍युचुअल फंड स्‍कीम चलाते हैं। इन स्‍कीम में निवेश करने पर PPF और NSC में निवेश की तरह ही इनकम टैक्‍स को बचाया जा सकता है। इन फंड में निवेश का सबसे बड़ा फायदा है कि यह तीन साल के लिए लॉकइन रहता है। निवेशक इन फंड से 3 साल के बाद अपना पैसा निकाल सकते हैं।

 

सभी टैक्‍स सेविंग प्‍लान ने दिया पॉजिटिव रिटर्न

इनकम टैक्‍स बचाने वाली म्‍युचुअल फंड की सभी स्‍कीम्‍स ने पिछले एक साल में पॉजिटिव रिटर्न दिया है। इस कैटेगरी के फंड में SBI LTAF-Sr-4 रेग्‍युलर डायरेक्‍ट (ग्रोथ) ने 31.3 फीसदी के साथ सबसे ज्‍यादा रिटर्न दिया है। लेकिन यह एक क्‍लोज एंडेड स्‍कीम है, जिसमें अब निवेश नहीं किया जा सकता है। वहीं टैक्‍स बचाने वाले फंड में सबसे कम रिटर्न यूटीआई लॉन्‍ग टर्म एडवांटेज S4 स्‍कीम ने दिया है। एक साल में इसका रिटर्न केवल 1.6 फीसदी ही रहा है। हालांकि इस कैटेगरी के सभी फंड का औसत रिटर्न 11.2 फीसदी रहा है। इनकम टैक्‍स बचाने वाली फिक्‍स ब्‍याज दरों की किसी भी स्‍कीम से ज्‍यादा रिटर्न इस कैटेगरी का औसत रिटर्न रहा है।

 

अपने आप हो जाता लॉन्‍ग टर्म इन्‍वेस्‍टमेंट

च्‍वॉइस ब्रोकिंग के प्रेसीडेंट अजय केजरीवाल के अनुसार म्‍युचुअल फंड की इक्विटी लिंक सेविंग स्‍कीम (ELSS) निवेशकों को इक्विटी में निवेश के साथ इनकम टैक्‍स बचाने का मौका देती हैं। सभी म्‍युचुअल फंड इस कैटेगरी में स्‍कीम चलाते हैं। उनके अनुसार इन स्‍कीम में निवेश का सबसे अच्‍छा तरीका हर माह निवेश की स्‍कीम SIP है। इस तरीके से हर माह उतना निवेश करते जाएं जितने की पूरे साल में जरूरत है। इस प्रकार निवेश थोड़ा-थोड़ा करके हो जाता है और बाद में बड़ा फंड बन जाता है। उनके अनुसार इस फंड में निवेश का सबसे बड़ा फायदा है कि इसमें सबसे कम लॉनइन यानी 3 साल तक पैसा न निकालने का नियम है। यह किसी भी टैक्‍स सेविंग स्‍कीम में सबसे कम है। उनके अनुसार इक्विटी में 3 साल के लिए निवेश अच्‍छा माना जाता है, यही कारण है कि इस कैटेगरी में स्‍कीम का 1 साल में औसत रिटर्न 11.2 फीसदी है तो 2 साल में 14.8 फीसदी है।

 
 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट