Home » Market » StocksKumar Mangalam Birla and ajay pirama clashes in front of PM Modi

पीएम मोदी के सामने भिड़े बिड़ला और पीरामल, बैंकरप्सी कानून बना वजह

अजय पीरामल और कुमार मंगल बिड़ला की तकरार को चुपचाप सुनते रहेे मोदी

1 of

नई दिल्ली. वैसे तो प्रधानमंत्री और इंडस्ट्री लीडर्स के बीच होने वाली बैठकें सद्भावना और शांतिपूर्ण होती रही हैं, लेकिन इस बार मामला उलट गया। मंगलवार को पीएम नरेंद्र मोदी के साथ हुई देश के प्रमुख उद्योगपतियों की बैठक में ऐसी ही स्थिति सामने आई। इस बैठक में आदित्य बिड़ला ग्रुप के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला और पीरामल ग्रुप के चेयमरैन अजय पीरामल के बीच बैंकरप्सी कानून को लेकर मतभेद सामने आ गए। बिजनेस स्टैंडर्ड ने अपनी एक रिपोर्ट में इस नोकझोंक का खुलासा किया है।

 

 

बिनानी सीमेंट को लेकर टकराए बिड़ला और पीरामल
रिपोर्ट के मुताबिक, बिड़ला और पीरामल के बीच का टकराव बिनानी सीमेंट के अधिग्रहण के संबंध में नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) प्रोसेस को लेकर सामने आया। बैठक में शामिल एक सूत्र के हवाले से रिपोर्ट में लिखा गया है कि पीरामल ने पीएम मोदी को कुछ कंपनियों द्वारा एनसीएलटी प्रोसेस के उल्लंघन से अवगत कराया। दरअसल पीरामल ग्रुप, बिनानी सीमेंट के अधिग्रहण की दौड़ से बाहर हो चुका है। 

 

 

बिड़ला ने ऐसे दिया जवाब
कुमार मंगलम बिड़ला भी पीरामल की बात का जवाब देने में पीछे नहीं रहे। उन्होंने कहा कि एनसीएलटी प्रोसेस स्पष्ट था, जिसमें सबसे ऊंची बोली लगाने वाले को कंपनी सौंपी जानी थी, न कि मनमाने तरीके से। बिड़ला ने यह भी कहा कि एनसीएलटी प्रोसेस ऐसी ही होनी चाहिए, जिसमें सभी स्टेकहोल्डर्स का कम से कम नुकसान हो।

 

 

पीरामल-बिड़ला की बात को चुपचाप सुनते रहे पीएम 
रिपोर्ट के मुताबिक पीएम मोदी द्वारा इकोनॉमिक ग्रोथ बढ़ने पर बिजनेस लीडर्स से टिप्पणियां मांगे जाने पर पीरामल ने अपनी बात रखी थी। रिपोर्ट के मुताबिक, बैठक में शामिल रहे एक सीईओ ने कहा, ‘रूम में खासी टेंशन थी, क्योंकि यह कॉरपोरेट बैटल सीधे पीएम मोदी के सामने हुई थी। हममें से कुछ आरोप-प्रत्यारोप को लेकर सहज थे।’ पीएम मोदी, पीरामल और बिड़ला की बात को चुपचाप सुनते रहे।

 

 

आगे पढ़ें -बैठक में कौन-कौन थे मौजूद 

 

 

बैठक में मौजूद थे ये इंडस्ट्रियलिस्ट 
बैठक में मौजूद अन्य इंडस्ट्रियलिस्ट में रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी, आदित्य बिड़ला ग्रुप के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला, आरपीजी ग्रुप चेयरमैन हर्ष गोयनका, एचडीएफसी चेयरमैन दीपक पारेख और पीरामल ग्रुप के चेयरमैन अजय पीरामल शामिल थे। इसके अलावा स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के चेयरमैन रजनीश कुमार और कोटक महिंद्रा बैंक के चेयरमैन उदय कोटक सहित कई टॉप बैंकर भी बैठक में मौजूद रहे।

 

 

सुप्रीम कोर्ट में खारिज हुई पीरामल की याचिका
इस महीने की शुरुआत में सुप्रीम कोर्ट ने बिनानी सीमेंट को लेकर डालमिया भारत की याचिका खारिज कर दी थी। पीरामल एंटरप्राइजेज द्वारा समर्थित डालमिया भारत ने भी बिनानी सीमेंट के लिए बिड डाली थी, लेकिन वह आदित्य बिड़ला ग्रुप की अल्ट्राटेक सीमेंट के साथ होड़ में पिछड़ गई। हालांकि कोर्ट ने कहा कि डालमिया भारत की याचिका पर 2 जुलाई को सुनवाई होगी। 

 

आगे भी पढ़ें -पहले राउंड में आगे थी पीरामल बैक्ड कंपनी

 

पहले राउंड में आगे थी पीरामल बैक्ड कंपनी
बैंकरप्सी कोर्ट द्वारा अल्ट्राटेक सीमेंट की बिड की पात्रता पर अंतिम फैसला दिया तो बोली के पहले राउंड में हाइएस्ट बिडर के तौर पर सामने आई डालमिया भारत ने लेंडर्स द्वारा अल्ट्राटेक सीमेंट के पक्ष में वोट करने के फैसले पर सवाल उठाए थे। 
बैंकरप्सी कोर्ट द्वारा लेंडर्स को अल्ट्राटेक की बिड पर विचार करने का निर्देश दिए जाने के बाद बिडिंग का दूसरा राउंड किया गया था।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss