विज्ञापन
Home » Market » StocksJet Airways grounds three aircraft due to lease rental default leading to 19 flight cancellations

किराया नहीं चुकाने से Jet Airways के 3 एयरक्राफ्ट का ऑपरेशन बंद, 19 फ्लाइट कैंसिल

कर्ज के बोझ से दबी जेट एयरवेज (Jet Airways) को एक और बड़ा झटका लगा है।

Jet Airways grounds three aircraft due to lease rental default leading to 19 flight cancellations

देश की बड़ी एयरलाइंस में से एक जेट एयरवेज (Jet Airways) को लीज रेंटल डिफॉल्ट के चलते अपने तीन एयरक्राफ्ट का परिचालन बंद कर दिया गया। सूत्रों के मुताबिक, इसके कंपनी को अपनी 19 फ्लाइट कैंसिल करनी पड़ गई हैं। गौरतलब है कि कंपनी लंबे समय से आर्थिक संकट से उबरने के लिए कई विकल्पों पर विचार कर रही है, लेकिन उसे अभी तक कोई सफलता नहीं मिली है।


नई दिल्ली. कर्ज के बोझ से दबी जेट एयरवेज (Jet Airways) को एक और बड़ा झटका लगा है। देश की बड़ी एयरलाइंस में से एक जेट एयरवेज को लीज रेंटल डिफॉल्ट के चलते अपने तीन बोइंग 737 एयरक्राफ्ट का परिचालन बंद कर दिया गया। सूत्रों के मुताबिक, इससे कंपनी को अपनी 19 फ्लाइट कैंसिल करनी पड़ गई हैं। गौरतलब है कि कंपनी लंबे समय से आर्थिक संकट से उबरने के लिए कई विकल्पों पर विचार कर रही है, लेकिन उसे अभी तक कोई सफलता नहीं मिली है।

 

दो दिन में खड़े करने पड़े 6 प्लेन

सूत्रों ने कहा कि लीज रेंटल का भुगतान नहीं कर पाने के कारण नरेश गोयल की अगुआई वाली  जेट एयरवेज को अपने तीन अन्य प्लेन का ऑपरेशन बंद करना पड़ा है। इसके चलते बीते दो दिन में कंपनी के प्लेन्स की संख्या 6 हो गई है, जिनका ऑपरेशन बंद हुआ है। घटनाक्रम की जानकारी रखने वाले एक सूत्र ने कहा, ‘जेट एयरवेज ने एयरक्राफ्ट के लीज रेंटल का डिफॉल्ट किया है और इसके चलते उसे अपने तीन नैरो-बॉडी बोइंग 737 प्लेन खड़े करने पड़ गए हैं।’ हालांकि बीते कई महीनों से कैश की तंगी से जूझ रही जेट एयरवेज की तरफ से इस संबंध में कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है।

 

इन शहरों की फ्लाइट्स पर पड़ेगा असर

इन एयरक्राफ्ट को खड़े किए जाने से एयरलाइन को दिल्ली, चेन्नई, मुंबई, पुणे, हैदराबाद, पोर्ट ब्लेयर और बेंगलुरु को आने और वहां से जाने वाली 19 फ्लाइट कैंसिल करनी पड़ी हैं।

कर्ज को इक्विटी में बदलने की तैयारी में कंपनी

 

कर्ज को इक्विटी में बदलने की तैयारी में कंपनी

गौरतलब है कि जेट एयरवेज (Jet Airways) डेट (कर्ज) को इक्विटी में तब्दील करने की योजना पर काम कर रही है। एयरलाइन ने सोमवार को ही कहा था कि उसने मौजूदा कर्ज को शेयर, सिक्युरिटीज या अन्य कन्वर्टिबल इंस्ट्रुमेंट्स में तब्दील करने के लिए अपने शेयरहोल्डर्स से मंजूरी मांगी है।
 

21 फरवरी को बुलाई शेयरहोल्डर्स की मीटिंग

इसके लिए एयरलाइन ने 21 फरवरी को अपने शेयरहोल्डर्स की मीटिंग भी बुलाई है। कंपनी ने कहा कि इसमें शेयरहोल्डर्स से लेंडर्स को बोर्ड में अपना एक नॉमिनी डायरेक्टर नियुक्त करने की अनुमति मांगी जाएगी। मीटिंग के दौरान एयरलाइन 2,000 करोड़ रुपए फेस वैल्यू वाले अतिरिक्त शेयर जारी करने और 25,000 करोड़ रुपए तक लोन जुटाने के लिए शेयरहोल्डर्स से अनुमति ली जाएगी।
कंपनी ने कहा कि एयरलाइन में निवेश करने जा रही कंपनियों या निवेश करने वाली कंपनियों के लेंडर्स बैंक को प्रिफर्ड शेयर जारी किए जाएंगे।

 

एक साल में 70 फीसदी टूट चुका है शेयर

जेट एयरवेज ने एसबीआई की अगुआई वाले बैंकों के कंसोर्टियम से लोन ले रखा है। इस खबर के बाद सोमवार को जेट एयरवेज के शेयर में लगभग 3 फीसदी की मजबूती आई, लेकिन यह तेजी कुछ ही देर कायम रह सकी। सेशन के अंत में शेयर लगभग 3 फीसदी कमजोर होकर बंद हुआ। बीते एक साल के दौरान जेट एयरवेज का शेयर लगभग 70 फीसदी टूट चुका है।
 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन