बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksएक फ्लैट के साथ मिलेंगे 2000 शेयर फ्री, जेपी ग्रुप लाया ऑफर

एक फ्लैट के साथ मिलेंगे 2000 शेयर फ्री, जेपी ग्रुप लाया ऑफर

जेपी ग्रुप ने अपने हर होम बायर को जेपी इन्फ्राटेक के 2,000 इक्विटी शेयर देने का ऑफर पेश किया है।

1 of

 

नई दिल्ली. जेपी ग्रुप ने अपने हर होम बायर को जेपी इन्फ्राटेक के 2,000 इक्विटी शेयर देने का ऑफर पेश किया है। सूत्रों ने कहा कि यह बैंकरफ्सी से प्रभावित रियल  एस्टेट फर्म को रिवाइव करने के लिए 10,000 करोड़ रुपए के प्रपोजल का हिस्सा है।

इस सप्ताह की शुरुआत में जेपी ग्रुप के प्रमोटर मनोज गौर ने कर्जदाताओं, होम बायर्स और माइनॉरिटी शेयरहोल्डर्स सहित सभी स्टेकहोल्डर्स के हितों की रक्षा के लिए जेपी इन्फ्राटेक के लेंडर्स के सामने 10,000 करोड़ रुपए का ऑफर पेश किया था।

 

 

9500 फ्लैट्स की हो चुकी है डिलिवरी

जेपी ग्रुप की फ्लैगशिप फर्म जयप्रकाश एसोसिएट्स की सब्सिडियरी जेपी इन्फ्राटेक ने वर्ष 2007 में नोएडा में लगभग 32,000 फ्लैट्स के डेवलपमेंट पर काम शुरू किया था, जिनमें 9,500 की डिलिवरी की जा चुकी है। कंपनी ने 4,500 से ज्यादा फ्लैट्स को हैंडओवर करने के लिए ऑक्यूपैंसी सर्टिफिकेट्स के लिए आवेदन किया है।

 

 

4.5 करोड़ शेयर दिए जाने का अनुमान

सूत्रों के मुताबिक जेपी ग्रुप अपने नए प्रपोजल के तहत पहले पंजीकरण पर हर होमबायर को 2,000 शेयर देने का ऑफर दिया है। इसके तहत बिना कोई पैसा लिए 4.5 करोड़ शेयर ऑफर किए जाने का अनुमान है।

 

 

स्टैम्प ड्यूटी का 50 फीसदी बोझ खुद उठाएगी कंपनी

इसके अलावा ग्रुप ने पहले रजिस्ट्रेशन पर होम बायर्स की तरफ से 50 फीसदी स्टैम्प ड्यूटी का बोझ खुद उठाने का प्रस्ताव रखा है। उन्होंने कहा कि कंपनी की अगले 42 महीनों में सभी अपार्टमेंट की डिलिवरी करने की योजना है।

 

 

सप्रीम कोर्ट की रजिस्ट्री में जमा कर चुकी है 750 करोड़

सूत्रों ने कहा कि जेपी इन्फ्राटेक एग्रीमेंट और नए रियल्टी कानूनी रेरा के तहत होम बायर्स को पेनल्टी भी चुकाएगी। जयप्राकश एसोसिएट्स सुप्रीम कोर्ट की रजिस्ट्री में पहले ही 750 करोड़ रुपए जमा कर चुकी है और इस रकम को होम बायर्स को रिफंड करने में इस्तेमाल किया जाएगा।

कल ही जेपी इन्फ्राटेक के लेंडर्स ने 7,350 करोड़ रुपए की सबसे ऊंची बोली लगाने वाली कंपनी लक्षद्वीप की बिड को खारिज कर दिया था, जिसे उन्होंने काफी कम पाया था।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट