Home » Market » StocksIT SHARES UNDER PRESSURE AS RUPEE HITS 2 MONTH HIGH

रुपए में मजबूती से 4% तक टूटे आईटी स्टॉक्स, इन्फोसिस-TCS में सबसे ज्यादा गिरावट

निफ्टी आईटी इंडेक्स में शामिल टाटा कंसल्टैंसी सर्विसेस (TCS), इन्फोसिस जैसे स्टॉक्स 4 फीसदी तक टूटे।

IT SHARES UNDER PRESSURE AS RUPEE HITS 2 MONTH HIGH

 

नई दिल्ली. एक दिन पहले रुपए के दो महीने के हाई पर पहुंचने से इन्फोर्मेशन टेक्नोलॉजी (आईटी) कंपनियों के स्टॉक्स को तगड़ा झटका लगा। निफ्टी आईटी इंडेक्स में शामिल टाटा कंसल्टैंसी सर्विसेस (TCS), इन्फोसिस, एचसीएल टेक, निट टेक्नोलॉजिज, विप्रो, टाटा इलेक्सी, टेक महिंद्रा और माइंड ट्री सहित अधिकांश कंपनियों के स्टॉक में 4 फीसदी तक गिरावट दर्ज की गई।

 

 

टीसीएस-इन्फोसिस में सबसे ज्यादा गिरावट

निफ्टी आईटी इंडेक्स में शामिल टाटा कंसल्टैंसी सर्विसेस (TCS) 3.47 फीसदी, इन्फोसिस 3.41 फीसदी, टेक महिंद्रा 2.54 फीसदी, निट टेक 2.49 फीसदी, एचसीएल टेक 2.44 फीसदी, विप्रो 2 फीसदी की गिरावट के साथ बंद हुए। 

 

छोटी आईटी कंपनियों के स्टॉक्स भी टूटे

इसके अलावा इंडेक्स के बाहर की यानी छोटी आईटी कंपनियों के स्टॉक्स में 5 फीसदी तक की गिरावट दर्ज की गई, जिनमें एलएंडटी इन्फोटेक, सोनाटा सॉफ्टवेयर, केपीआईटी टेक्नोलॉजिज, जेंसर टेक्नोलॉजिज, हेक्सावेयर टेक्नोलॉजिज, परसिस्टेंट सिस्टम्स, एमफैसिस शामिल हैं।

 

आईटी इंडेक्स से बढ़ा निफ्टी पर प्रेशर

निफ्टी में निफ्टी आईटी इंडेक्स सबसे ज्यादा गिरने वाला इंडेक्स रहा, जिसमें 2.80 फीसदी की गिरावट रही। एक दिन पहले रुपया 21 पैसे मजबूत होकर प्रति डॉलर 71.46 के स्तर पर पहुंच गया था, जो रुपए का दो महीने का हाई था। क्रूड में कमजोरी के बीच एक्सपोर्टर्स द्वारा डॉलर की बिकवाली और फॉरेन फंड का बढ़ने से रुपए को खासा सपोर्ट मिला। बीते छह ट्रेडिंग सेशंस के दौरान रुपया 143 पैसे मजबूत हो चुका है, जबकि नवंबर महीने में इसमें 250 पैसे की मजबूती दर्ज की जा चुकी है।

 

रुपए की मजबूती पड़ती है भारी

रुपए में मजबूती को आईटी स्टॉक्स के लिए खासा निगेटिव माना जाता है, क्योंकि ये कंपनियां अपनी अधिकांश कमाई अमेरिका से करती हैं और डॉलर के कमजोर होने से इनकी कमाई खासी घट जाती है।

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट