बिज़नेस न्यूज़ » Market » StocksFY18 में निवेशकों ने कमाए 21 लाख करोड़, 10 स्टॉक्स में मिला 400% से ज्यादा रिटर्न

FY18 में निवेशकों ने कमाए 21 लाख करोड़, 10 स्टॉक्स में मिला 400% से ज्यादा रिटर्न

बाजार में तेजी से इस फाइनेंशियल ईयर में निवेशकों ने 20.70 लाख करोड़ रुपए की कमाई की।

1 of

नई दिल्ली.  फाइनेंशियल ईयर 2017-18 में स्टॉक मार्केट 10 फीसदी से ज्यादा तेजी के साथ बंद हुआ। इस दौरान सेंसेक्स 3,348.18 अंक या 11.30 फीसदी चढ़ा, जबकि निफ्टी 939.95 अंक या 10.25 फीसदी बढ़ा। बाजार में तेजी से इस फाइनेंशियल ईयर में निवेशकों ने 20.70 लाख करोड़ रुपए की कमाई की। इस दौरान 10 स्टॉक में 400 फीसदी से ज्यादा रिटर्न मिला।


FY18 में कैसा रहा बाजार

- फाइनेंशियल ईयर 2017-18 में सेंसेक्स ने पहली बार 36 हजार के स्तर को पार किया। वहीं निफ्टी भी 11,000 के ऊपर पहुंचा।
- सेंसेक्स ने 29 जनवरी 2018 को ऑलटाइम हाई 36443.98 के स्तर को छूने में कामयाब रहा, जबकि निफ्टी ने 11,171.55 का ऑलटाइम हाई बनाया।
- इस दौरान सेंसेक्स 3,348.18 अंक या 11.30 फीसदी चढ़ा। इससे पिछले फाइनेंशियल ईयर में सेंसेक्स 16.88 फीसदी चढ़ा था।
- वहीं निफ्टी ने 939.95 अंक यानी 10.25 फीसदी की बढ़त दर्ज की। इससे पिछले फाइनेंशियल ईयर में निफ्टी 18.55 फीसदी चढ़ा था।


# ये फैक्टर्स मार्केट के लिए रहे सपोर्टिव

- मार्केट एक्सपर्ट सचिन सर्वदे का कहना है कि फाइनेंशियल ईयर 2018 में मार्केट की नई ऊंचाइयां छूने की वजह कई फैक्टर्स रहे। ग्लोबल मार्केट में तेजी से घरेलू स्टॉक मार्केट में तेजी रही। इसके अलावा बेहतर मानसून, सरकार के रिफॉर्म्स से डीआईआई और एफआईआई का घरेलू स्टॉक मार्केट में निवेश बढ़ना, मूडीज द्वारा भारत की रेंटिंग में सुधार, ईज ऑफ डूइंग रैंकिंग में सुधार के अलावा बैंक रीकैपिटलाइजेशन प्रोग्राम का सपोर्ट मिला, जिससे मार्केट में लिक्विडिटी बढ़ी। 

 

फरवरी-मार्च में 8% से ज्यादा टूटा मार्केट

- जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के हेड ऑफ रिसर्च विनोद नायर ने कहा कि फाइनेंशियल ईयर 2018 के पहले 10 महीने में डोमेस्टिक के साथ फॉरेन इंफ्लो बढ़ने से मार्केट में ज्यादा रैली देखने को मिली। लेकिन सरकार द्वारा बजट में शेयर से कमाई पर 10 फीसदी लॉन्गटर्म कैपिटल गेन टैक्स लागए जाने और ग्लोबल सेलऑफ की वजह से आखिरी दो महीने (फरवरी और मार्च) में बाजार ने तेजी गंवा दी। इन दो महीनों में सेंसेक्स 8.18 फीसदी टूट गया, जबकि निफ्टी में 8.20 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई।

 

20.7 लाख करोड़ बढ़ा बीएसई का मार्केट कैप

- फाइनेंशियल ईयर 2018 में बीएसई पर लिस्टेड कुल कंपनियों का मार्केट कैप 20.70 लाख करोड़ रुपए बढ़ा है। यानी इस फाइनेंशियर ईयर में निवेशकों ने मार्केट से 20.70 लाख करोड़ रुपए की कमाई की है।
- 31 मार्च 2017 को बीएसई मार्केट कैप 1,21,54,525.46 करोड़ रुपए था, जो 28 मार्च 2018 को आखिरी कारोबारी दिन 20,70,471.54 करोड़ रुपए बढ़कर 1,42,24,997 करोड़ रुपए हो गया।

 

400% से ज्यादा बढ़े ये स्टॉक्स

फाइनेंशियल ईयर 2018 के टॉप परफॉर्मिंग स्टॉक्स ने 400 फीसदी से ज्यादा रिटर्न दिए। रिटर्न देने के मामले में सरकारी कंपनी KIOCL का प्रदर्शन सबसे बेहतर रहा। इस दौरान स्टॉक ने 1492 फीसदी रिटर्न दिया है। इसके अलावा एचईजी 1388.67%, गोवा कार्बन 753.82%, ग्रेफाइट इंडिया 559.79%, सोरिल होल्डिंग्स 551%, मास्क इन्वेस्टमेंट्स 481.41%, कैलिफोर्निया सॉफ्टवेयर 450%, भंसाली इंजीनियरिंग 433.13% और ग्रॉब टी में 400.33 फीसदी की बढ़ोतरी रही।

 

लॉर्जकैप में बजाज फाइनेंस टॉप गेनर

- निफ्टी50 में शामिल 50 में से 9 कंपनियों में 25 फीसदी से ज्यादा का रिटर्न मिला। सबसे ज्यादा रिटर्न बजाज फाइनेंस लिमिटेड में 49.70 फीसदी दर्ज की गई। इसके अलावा मारुति सुजुकी 49.07%, HUL 46.11%, रिलायंस इंडस्ट्रीज 40.48%, टेक महिंद्रा 39.38%, HDFC बैंक 320.02%, इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस 28.71%, इंडसइंड बैंक 28.50%, एलएंडटी 26.33%, टाटा स्टील 23.74%, कोटक महिंद्रा बैंक 22.18%, HDFC 19.94% और टीसीएस 16.55% तक बढ़े।

हालांकि, ल्यूपिन 49 फीसदी, टाटा मोटर्स 30 फीसदी, सन फार्मा 28 फीसदी, बॉश लिमिटेड 21 फीसदी, डॉ रेड्डीज 21 फीसदी और अरविंदो फार्मा 17.5 फीसदी तक लुढ़के हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट