बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocks12 महीने में 1 लाख रु बन गए 13 लाख, ये हैं FY18 के मल्टीबैगर्स स्टॉक

12 महीने में 1 लाख रु बन गए 13 लाख, ये हैं FY18 के मल्टीबैगर्स स्टॉक

दिलचस्प बात यह है कि सबसे अधिक रिटर्न देने वाले स्टॉक्स स्मॉलकैप सेगमेंट के हैं।

1 of

नई दिल्ली.  फाइनेंशियल ईयर 2017-18 में भले ही सेंसेक्स और निफ्टी में उम्मीद के मुताबिक रिटर्न नहीं मिला। इसके बावजूद कुछ कंपनियों के स्टॉक्स ने निवेशकों को बंपर रिटर्न दिए। इन कंपनियों में पैसा लगानेवाले निवेशकों की वेल्थ 12 महीने में दोगुनी हो गई है। दिलचस्प बात यह है कि सबसे अधिक रिटर्न देने वाले स्टॉक्स स्मॉलकैप सेगमेंट के हैं।

 

निवेशकों ने कमाए 20.70 लाख करोड़ रु

- फाइनेंशियल ईयर 2018 में बीएसई पर लिस्टेड कुल कंपनियों का मार्केट कैप 20.70 लाख करोड़ रुपए बढ़ा है। यानी इस फाइनेंशियर ईयर में निवेशकों ने मार्केट से 20.70 लाख करोड़ रुपए की कमाई की है।
- 31 मार्च 2017 को बीएसई मार्केट कैप 1,21,54,525.46 करोड़ रुपए था, जो 28 मार्च 2018 को आखिरी कारोबारी दिन 20,70,471.54 करोड़ रुपए बढ़कर 1,42,24,997 करोड़ रुपए हो गया।

 

दो महीने में बिगड़ा खेल

इस साल 29 जनवरी को सेंसेक्स और निफ्टी ने लाइफटाइम हाई लेवल छुआ था। उसके बाद से बेंचमार्क इंडेक्स में 10 फीसदी तक का करेक्शन हो चुका है। जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के हेड ऑफ रिसर्च विनोद नायर ने कहा कि फाइनेंशियल ईयर 2018 के पहले 10 महीने में डोमेस्टिक के साथ फॉरेन इंफ्लो बढ़ने से मार्केट में ज्यादा रैली देखने को मिली। लेकिन सरकार द्वारा बजट में शेयर से कमाई पर 10 फीसदी लॉन्गटर्म कैपिटल गेन टैक्स लागए जाने और ग्लोबल सेलऑफ की वजह से आखिरी दो महीने (फरवरी और मार्च) में बाजार ने तेजी गंवा दी। इन दो महीनों में सेंसेक्स 8.18 फीसदी टूट गया, जबकि निफ्टी में 8.20 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई।

 

आगे पढ़ें- यहां एक साल में मिला 1300% रिटर्न

HEG Ltd
 

- ग्रेफाइट इलेक्ट्रोड्स बनाने वाली देश की अग्रणी कंपनी HEG Ltd के स्टॉक ने निवेशकों को मालामाल किया है।
- इस साल कंपनी के स्टॉक ने 1333 फीसदी का रिटर्न दिया है।
- एचईजी के पास ग्रेफाइट इलेक्ट्रोड्स बनाने का दुनिया का सबसे बड़ा प्लांट है। कंपनी की सालाना उत्पादन की क्षमता 80,000 टन है। कंपनी का 80 फीसदी रेवेन्यू ग्रेफाइट इलेक्ट्रोड्स के बिजनेस से आता है।
- दरअसल, चीन में पर्यावरण मसले के चलते सलेक्टेड स्टील और इलेक्ट्रोड बनाने वाली कंपनियां बंद हो गई है। चीन में कंपनियों के बंद होने का फायदा भारतीय कंपनियों को मिला।
- वहीं वॉल्यूम और ग्रेफाइट इलेक्ट्रोड्स की कीमतों में रिकवरी से कंपनी को सपोर्ट मिला।
- यानी इसमें लगाए गए 1 लाख रुपए सिर्फ 12 महीने में बढ़कर 13 लाख रुपए हो गए।

 

आगे पढ़ें- 1 साल में 1 लाख बने 4.50 लाख रु

भंसाली इंजिनियरिंग पॉलिमर्स

 

- स्पेशियलिटी केमिकल मैन्युफैक्चर करने वाली कंपनी भंसाली इंजिनियरिंग पॉलिमर्स ने भी निवेशकों को खुश किया है।
- फाइनेंशियल ईयर 2018 में स्टॉक में 448 फीसदी की ग्रोथ रही है।
- यानी इसने निवेशकों को 4 गुना रिटर्न दिए हैं।
- तीसरे क्वार्टर में कंपनी का नेट प्रॉफिट 849.6 फीसदी बढ़कर 29.06 करोड़ रुपए रहा था। पिछले साल समान अवधि में कंपनी का 3.06 करोड़ रुपए था।
- इसमें लगाए गए 1 लाख रुपए एक साल में बढ़कर करीब 4.50 लाख रुपए हो गए।

 

आगे पढ़ें- 12 महीने में 338% मिला रिटर्न

इंडियाबुल्स वेंचर्स

 

- इंडियाबुल्‍स वेंचर्स सिक्‍युरिटीज, कमोडिटीज और करंसी ब्रोकिंग सर्विस देने वाली अग्रणी कंपनी है।
- FY18 में स्टॉक्स में 338 फीसदी का उछाल दर्ज किया गया।
- कंज्यूमर फाइनेंस बिजनेस में बढ़ोतरी कंपनी के स्टॉक्स बढ़े हैं।
- तीसरे क्वार्टर में कंपनी का नेट प्रॉफिट पिछले साल समान अवधि में 10.58 करोड़ रुपए से बढ़कर 70.25 करोड़ रुपए रहा।
- स्टॉक में लगाए 1 लाख रुपए एक साल में बढ़कर 3.38 लाख रुपए हो गए।

 

(नोट: यहां सिर्फ स्टॉक का परफॉर्मेंस दिया गया है। यह निवेश की सलाह नहीं है। निवेश के किसी भी फैसले से पहले रजिस्टर्ड एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें।)

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट