Home » Market » StocksInvestors remained bearish on gold exchange traded funds

गोल्‍ड ETFs से लोगों का हो रहा मोह भंग, निकाल लिए 835 करोड़ रुपए

वर्ष 2017-18 के दौरान गोल्‍ड एक्‍सचेंज ट्रेडिड फंड (ETFs) से निवेशकों को 835 करोड़ रुपए निकाला है।

1 of

 

नई दिल्‍ली. गोल्‍ड से निवेशकों का मोहभंग हो रहा है। वर्ष 2017-18 के दौरान गोल्‍ड एक्‍सचेंज ट्रेडिड फंड (ETFs) से निवेशकों को 835 करोड़ रुपए निकाला है। यह लगातार 5वां साल है जब ETFs से पैसा निकला है। एम्‍फी की तरफ से जारी आंकड़ों के अनुसार इस दौरान ETFs की आसेट अंडर मैनेजमेंट (AUM) में 12 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है।

 

लगातार निवेश में आ रही गिरावट

एसोसिएशन ऑफ म्‍युचुअल फंड ऑफ इंडिया (एम्‍फी) की तरफ से जारी आंकड़ों के अनुसार कुछ माह को छोड़ दिया जाए तो फरवरी 2013 से लगातार गोल्‍ड ईटीएफ में निवेश में कमी आ रही है। 2012 तक ऐसे फंड में करोड़ों रुपए का निवेश हर माह आ रहा था। लेकिन अब यह निवेश कई माह में जीरो ही रहता है। फंड्स इंडिया डॉट काम की विद्या बाला के अनुसार गोल्‍ड ने पिछले कुछ साल से बहुत ही कम रिटर्न दिया है, कई बार तो यह बैंकों के सेविंग बैंक अकाउंट से भी कम रहा है। उनके अनुसार लोग गोल्‍ड और रियल स्‍टेट की जगह इक्विटी जैसे विकल्‍पों में निवेश कर रहे हैं।

 

वर्ष

पैसा निकाला

2016-17

775 करोड़ रुपए

2015-16

903 करोड़ रुपए

2014-15

1,475 करोड़ रुपए

2013-14

2,293 करोड़ रुपए

 

 

गोल्‍ड ETFs की आसेट बेस घटी

आंकड़ों के अनुसार गोल्‍ड ETFs की आसेट बेस में कमी दर्ज की गई है। यह मार्च 2017 में जहां 5480 करोड़ रुपए थी, वहीं मार्च 2018 में यह 4806 करोड़ रुपए रह गई। म्‍युचुअल फंड कंपनियां इस वक्‍त 14 गोल्‍ड आधिारित निवेश स्‍कीम चला रही हैं। देश में इनका कारोबार वर्ष 2006-07 से शुरू हुआ था।

 
 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट