बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksगोल्‍ड ETF से निवेशकों ने निकाले 54 करोड़, इक्विटी MF में बढ़ रहा निवेश

गोल्‍ड ETF से निवेशकों ने निकाले 54 करोड़, इक्विटी MF में बढ़ रहा निवेश

निवेशक गोल्‍ड एक्‍सचेंज ट्रेडेड फंड (ETFs) को बेच कर बाहर निकल रहे है और पैसा इक्विटी म्‍युचुअल फंड में लगा रहे हैं।

1 of
 
नई दिल्‍ली. निवेशक गोल्‍ड एक्‍सचेंज ट्रेडेड फंड (ETFs) से बाहर निकल रहे है और अपना पैसा इक्विटी म्‍युचुअल फंड में लगा रहे हैं। अप्रैल में जारी आंकड़ों के अनुसार निवेशकों ने गोल्‍ड ETF से शुद्ध रूप से 54 करोड़ रुपए निकालेे हैंं। मार्च में निवेशकों ने गोल्‍ड ईटीएफ से 62 करोड़ रुपए निकालेे थे। वहीं अप्रैल में इक्विटी म्‍युचुअल फंड में 12400 करोड़ रुपए का नया निवेश आया है। 
 
 
क्‍या है निवेश निकालने का मतबल
एसोसिएशन ऑफ म्‍युचुअल फंड इन इ‍ंडिया (Amfi) म्‍युचुअल फंड की हर कैटेगरी का डाटा हर महीने जारी करता है। इस डाटा के अनुसार गोल्‍ड एक्‍सचेंज ट्रेडेड फंड की आसेट अंडर मैनेजमेंट (AUM) अप्रैल में 4802 करोड़ रुपए रही, जबकि मार्च में यह 4806 करोड़ रुपए थी।
 
 
5 साल से घट रहा निवेश
पिछले 5 साल से गोल्‍ड एक्‍सचेंज ट्रेडेड फंड से लगातार निवेश निकल रहा है। हालांकि 2012-13 में इन फंड्स में 1414 करोड़ रुपए का शुद्ध निवेश आया था।
 
 
साल         
निकला निवेश
2017-18    
835 करोड़ रुपए
2016-17    
775 करोड़ रुपए
2015-16    
903 करोड़ रुपए
2014-15    
1,475 करोड़ रुपए
2013-14    
2,293 करोड़ रुपए

 
 
अब रेंज बाउंड हो गया है गोल्‍ड का रेट
गोल्‍ड के दाम 2005 से लेकर 2011-12 के बीच तेजी से बढ़े थे, लेकिन उसके बाद से 1,100-1,400 डालर प्रति औंस के बीच चल रहे हैं। गोल्‍ड के दाम जहां रेंज बाउंड हैं, वहीं इक्विटी ने इस दौरान अच्‍छा प्रदर्शन किया है। इसके चलते गोल्‍ड ईटीएफ के निवेशक इक्विटी की तरफ जा रहे हैं। यही कारण है कि पिछले 5 साल से गोल्‍ड ईटीएफ से पैसा निकल रहा है।
 
 
घर में गोल्‍ड रखना पसंद करते हैं भारतीय
मार्निंग स्‍टार रिसर्च के डायरेक्‍टर कौस्‍तूभ बेलापुरकर के अनुसार भारत में परंपरा के अनुसार लोग गोल्‍ड को खरीद कर घर में रखना पसंद करते हैं, न कि इसे ऑनलाइन खरीदना। हालांकि गोल्‍ड को ऑनलाइन रखना ज्‍यादा अच्‍छा होता है। उनके अनुसार ज्‍यादातर निवेशक अपने पोर्टफोलिया में 5-10 गोल्‍ड की हिस्‍सेदारी रखते हैं।
 
इक्विटी में बढ़ा है निवेश
वहीं दूसरी तरफ इक्विटी म्‍युचुअल फंड में निवेश बढ़ा है। अप्रैल में इक्विटी स्‍कीम्‍स में 12400 करोड़ रुपए का नया निवेश आया। इसके अलावा डेट म्‍युचुअल फंड्स स्‍कीम में करीब 1.16 लाख करोड़ रुपए का निवेश आया। इस निवेश के चलते सभी 42 म्‍युचुअल फंड कंपनियों की कुल आसेट अंडर मैनेजमेंट (AUM) 23.25 लाख करोड़ रुपए हो गई है। यह मार्च के अंत में 21.36 लाख करोड़ रुपए थी।
 
 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट