Home » Market » Stocksइंडिया थीम वाले स्टॉक्स में निवेश का सही मौका, मिल सकता है 25% तक रिटर्न,investors can get 25 percent return on India

इंडिया थीम वाले स्टॉक्स में निवेश का सही मौका, मिल सकता है 25% तक रिटर्न

हमने यहां एक्सपर्ट्स के हवाले से ऐसे ही कुछ शेयर चुने हैं, जिनमें आगे अच्छा रिटर्न मिल सकता है।

1 of


नई दिल्ली.   बजट में रूरल सेक्टर, इंफ्रा और पावर सेक्टर को लेकर सरकार द्वारा बड़े एलान किए जाने की उम्मीद है। एक्सपर्ट्स का मानना है कि खासतौर से रूरल सेक्टर को लेकर सरकार स्पेंडिंग में बड़ा इजाफा कर सकती है। मीडियम से लांग टर्म के लिहाज से सरकार के इस कदम से उन सेक्टर को फायदा होगा, जो भारत थीम से जुड़े हैं। इनमें एग्रीकल्चर सेक्टर से जुड़ी कंपनियां, इंफ्रा, ऑटो और पावर बिजनेस वाली कंपनियां शामिल हैं। हमने यहां एक्सपर्ट्स के हवाले से ऐसे ही कुछ शेयर चुने हैं, जिनमें आगे अच्छा रिटर्न मिल सकता है। 


रूरल पर खर्च बढ़ाएगी सरकार

 

एसएमसी इंस्टीट्यूशनल इक्विटीज के टेक्निकल एनालिस्ट सचिन सर्वदे के मुताबिक, इकोनॉमिक ग्रोथ में तेजी लाने के लिए सरकार रिकॉर्म्स कदम उठा सकती है। फिलहाल, सरकार की सबसे बड़ी चिंता रूरल इकोनॉमकी को लेकर है। 2022 तक सरकार का लक्ष्य किसानों की इनकम बढ़ाकर दोगुना करने की है। इसके लिए बजट में कुछ एलान हो सकता है। वहीं, रूरल एरिया व इंफ्रा के लिए खर्च बढ़ाने पर फर्टिलाइजर औऱ ऑटो कंपनियों को फायदा मिल सकता है।

 

नए रोजगार पैदा करने पर जोर

क्रिस रिसर्च के फाउंडर अरुण केजरीवाल का कहना है कि रोजगार बढ़ाने पर सरकार का फोकस होगा। रोजगार देने वाले सेक्टर को सरकार बढ़ावा देगी। एसएमई, रूरल इकोनॉमी, सेविंग्स बढ़ाने पर भी सरकार जोर देगी। रोजगार बढ़ने पर लोगों के हाथ में पैसा आएगा। पैसा आने के साथ ही खरीददारी बढ़ेगी। जिसका तात्कालिक फायदा रूरल इंडिया पर फोकस करने वाली कंपनियों को होगा।

 

लेबर ओरिएंटेड इंडस्ट्रीज मिलेगा बढ़ावा

फॉर्च्युन फिस्कल के डायरेक्टर जगदीश ठक्कर ने कहा कि सरकार बजट में लेबर ओरिएंटेड इंडस्ट्रीज को बढ़ावा देने की कोशिश करेगी। टेक्सटाइल्स, लेदर, फिशरी इंडस्ट्रीज में सबसे ज्यादा लेबर काम करते हैं। इनको बजट में कुछ पैकेज मिलेंगे, तो इस इंडस्ट्रीज में रोजगार बढ़ेंगे। रोजगार बढ़ने पर इनकम बढ़ने से कंजप्शन में बढ़ोतरी होगी।

 

चीन से तेज बढ़ेगी भारत की इकोनॉमी

इंटरनेशनल मॉनेटरी फंड (आईएमएफ) ने उम्मीद जताई है कि 2018 में भारतीय इकोनॉमी दुनिया की सबसे तेज रफ्तार से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था होगी। आईएमएफ की वर्ल्ड इकनॉमिक आउटलुक रिपोर्ट के मुताबिक, 2018 में भारत की ग्रोथ रेट 7.4% जबकि 2019 के लिए 7.8% रहने का अनुमान है। भारत की ग्रोथ के साथ-साथ कंपनियों की ग्रोथ होगी।

 

इन स्टॉक्स में करें निवेश

 

केएसबी पंप्स
टारगेट-
1080

 

केएसबी पंप्स देश की लिडिंग पंप्स एंड वैल्व मैन्युफैक्चरर कंपनी है। कंपनी इरीगेशन खासकर एग्रीकल्चर उद्देश्यों से पम्प और वैल्व का निर्माण करती है। कंपनी 80 फीसदी बिक्री पम्प सेग्मेंट और बाकी 20 फीसदी वैल्व सेग्मेंट में है। सरकार द्वारा रूरल इंडिया पर खर्च बढ़ाए जाने से किसानों की इनकम बढ़ने का फायदा कंपनी को मिलने की उम्मीद है। ब्रोकरेज हाउस आईसीआईसीआई डायरेक्ट ने केएसबी पंप्स में 1080 रुपए के लक्ष्य के साथ निवेश की सलाह दी है। यानी स्टॉक में करंट भाव से 24 फीसदी का रिटर्न मिल सकता है।

 

आगे पढ़ें- यहां मिल सकता है 20% रिटर्न

GNFC
टारगेट-
550

 

गुजरात नर्मदा वैली फर्टिलाइजर्स एंड केमिकल स्टेट पीएसयू है जो फर्टिलाइजर और केमिकल बिजनेस में है। इसके अलावा आईटी के स्माल बिजनेस में भी है जो कई सरकारी विभाग को सपोर्ट करती है। भरूच और दाहेज में कंपनी का प्लांट है। कंपनी केमिकल बिजनेस पर ज्यादा फोकस भी कर रही है। सरकार की न्यू फर्टिलाइजर पॉलिसी से भी कंपनी को फायदा होगा। वहीं चुनाव के मद्देनजर बजट में कृषि पर फोकस बढ़ेगा। सरकार 2022 तक किसानों की आमदनी दोगुना करना चाहती है। फर्टिलाइज और केमिकल बनाने वाली इस कंपनी को फायदा होगा। फॉर्च्यून फिस्कल के डायरेक्टर जगदीश ठक्कर ने स्टॉक में 550 रुपए का लक्ष्य दिया है। यानी करंट प्राइस से इसमें 11 फीसदी का रिटर्न मिल सकता है।

 

आयन एक्सचेंज
टारगेट-
675

 

आयन एक्सचेंज (इंडिया) लिमिटेड वाटर प्युरीफिकेशन की लिडर कंपनी है। वाटर ट्रिटमेंट सॉल्यूशन कंपनी ने वाटर इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स पर फोकस बढ़ा है। सरकार के स्वच्छ भारत अभियान का दायरा बढ़ने पर वाटर फिल्टर प्रोजेक्ट लगाने वाली इस कंपनी को फायदा होगा। ट्रेडस्विफ्ट ब्रोकिंग के डायरेक्ट संदीप जैन ने इसमें 675 रुपए का लक्ष्य दिया है। यानी करंट प्राइस से स्टॉक में 21.41 का रिटर्न मिल सकता है।


एस्कॉर्ट्स लिमिटेड
टारगेट-
1000

 

एस्कॉर्ट्स लिमिटेड एग्रीकल्चरल ट्रैक्टर्स और कंस्ट्रक्शन इक्विपमेंट्स बनाने कंपनी है। रूरल सेक्टर पर सरकार का फोकस बढ़ने खासकर किसानों की इनकम बढ़ने ट्रैक्टर्स की डिमांड बढ़ेगी और इसका फायदा कंपनी को होगा। इसके अलावा कंपनी रेलवे कोच के लिए हाइड्रॉलिक शॉक आबजॉर्बर्स, टेलिस्कोपिक फ्रॉन्ट फोर्क और ब्रेक लॉक्स का निर्माण करती है। रेलवे कोच में सुधार का लाभ भी कंपनी को मिल सकती है। एसएमसी इंस्टीट्यूशनल इक्विटीज के टेक्निकल एनालिस्ट सचिन सर्वदे ने एस्कॉर्ट्स में 1000 रुपए का लक्ष्य दिया है। यानी करंट प्राइस से इसमें 20 फीसदी तक रिटर्न मिल सकता है।


(नोट- यहां दी गई सभी सलाह टॉप ब्रोकरेज हाउस के द्वारा जारी रिपोर्ट और मार्केट एक्सपर्ट्स की सलाह के आधार पर हैं। हर स्टॉक से जुड़े अपने जोखिम होते है, इसलिए सलाह है कि अपने स्तर पर जांच या अपने एक्सपर्ट की सलाह के बाद ही निवेश का फैसला लें।)

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट