बिज़नेस न्यूज़ » Budget 2018 » Market/Investorबजट 2018 - बजट से कंजम्पशन सेक्टर को मिलेगा बड़ा बूस्ट, इन शेयरों पर रखें नजर

बजट 2018 - बजट से कंजम्पशन सेक्टर को मिलेगा बड़ा बूस्ट, इन शेयरों पर रखें नजर

गुजरात चुनाव में बीजेपी को रूरल एरिया से कम सपोर्ट मिलने से सरकार लोक-लुभावन बजट पेश कर सकती है।

1 of

नई दिल्ली. आगामी बजट में सरकार का फोकस खासतौर से ग्रामीण इलाकों में नए रोजगार के अवसर तलाशने पर होगा। इसके लिए आम बजट 2018 में इंफ्रा और रूरल सेक्टर पर जोर रहने की उम्मीद है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि सरकार नई नौकरियां देने के लिए बजट में कई उपाय कर सकती है, जिसका सीधा फायदा कंजम्पशन सेक्टर और उससे जुड़ी कंपनियों को होगा। कंजम्पशन बढ़ने से कंपनियों की अर्निंग बढ़ेगी, जिसका फायदा निवेशकों को होगा। ऐसे में आगे के लिए कंजम्पशन बेस्ड स्टॉक्स सेफ बेट साबित हो सकते हैं। 

Live Budget 2018 News - आम बजट 2018 से जुड़ी हर खबर

 

सरकार पर नौकरी बढ़ाने का दबाव
फॉर्च्यून फिस्कल के डायरेक्टर जगदीश ठक्कर का कहना है कि नोटबंदी और जीएसटी का असर नौकरियों पर पड़ा है। इससे अनस्किल्ड नौकरियों की संख्या घटी है। जिसका खामियाजा सरकार को गुजरात चुनाव में भुगतना पड़ा है। गुजरात चुनाव में सरकार को रूरल एरिया से कम सपोर्ट मिला है क्योंकि जीएसटी और नोटबंदी की सबसे ज्यादा मार रूरल एरिया में पड़ी है। ऐसे में सरकार पर रोजगार के नए अवसर बढ़ाने का दबाव है। सरकार का फोकस आगामी बजट में रूरल फंड  बढ़ाने पर होगा ताकि रोजगार के नए अवसर पैदा हो सके।

 

ये भी पढ़ें- BSE का मार्केट कैप पहली बार 150 लाख करोड़ के पार, निवेशकों ने 1 साल में कमाए 44.65 लाख करोड़

 

इन सेक्टर को मिलेगा बूस्ट

क्रिस रिसर्च के फाउंडर अरुण केजरीवाल का कहना है कि रोजगार के नए अवसर पैदा होने का सबसे ज्यादा फायदा कंजम्पशन सेक्टर को मिलेगा। रोजगार बढ़ने पर लोगों के हाथ में पैसा आएगा। पैसा आने के साथ ही खरीददारी बढ़ेगी। जिसका तात्कालिक फायदा सेक्टर को होगा।

 

वहीं एसएमसी इन्वेस्ट्मेंट्स एंड एडवाइजर्स लिमिटेड के रिसर्च हेड सचिन सर्वदे के मुताबिक, अर्बन इकोनॉमी से बड़ी रूरल इकोनॉमी है। 2022 तक सरकार का लक्ष्य किसानों की इनकम बढ़ाकर दोगुना करने की है। किसानों की इनकम बढ़ने पर कंजम्पशन सेक्टर को बड़ा बूस्ट मिलेगा। वहीं, रूरल एरिया व इंफ्रा के लिए खर्च बढ़ाने पर इन सेक्टर के अलावा ऑटो व लॉजिस्टिक कंपनियों को भी फायदा होगा। 

 

लेबर ओरिएंटेड इंडस्ट्रीज को बढ़ावा देने की कोशिश 

जगदीश ठक्कर ने कहा कि सरकार बजट में लेबर ओरिएंटेड इंडस्ट्रीज को बढ़ावा देने की कोशिश करेगी। टेक्सटाइल्स, लेदर, फिशरी इंडस्ट्रीज में सबसे ज्यादा लेबर काम करते हैं। इनको बजट में कुछ पैकेज मिलेंगे, तो इस इंडस्ट्रीज में रोजगार बढ़ेंगे। रोजगार बढ़ने पर कंज्यूमर बेस्ड गुड्स का कंजम्पशन बढ़ेगा।

 

ये भी पढ़ें- 2018 में फार्मा सेक्टर में दिख सकता है टर्न अराउंड, ऐसे बनाएं निवेश की स्ट्रैटेजी

 

एक महीने में 10,650 तक जा सकता है निफ्टी

सिमी भौमिक डॉट कॉम की टेक्निकल एनालिस्ट सिमी भौमिक का कहना है कि शुक्रवार को निफ्टी ने 10500 के स्तर को पार किया है। इससे मार्केट में आगे भी तेजी जारी रहने के संकेत मिल रहे हैं। टेक्निकल चार्ट पर निफ्टी का आउटलुक पॉजिटिव हैं और अगले एक महीने में निफ्टी 16,650 के लेवल को छू सकता है।

 

आगे पढ़ें- इन शेयरों में बने निवेश के मौके

 

ये भी पढ़ें- गुजरात रिजल्ट से DII का बढ़ेगा भरोसा, ये मिडकैप शेयर दे सकते हैं 92% तक रिटर्न

इन स्टॉक्स में करें निवेश

 

GSK कंज्यूमर हेल्थकेयर

सचिन सर्वदे ने कहा कि रोजगार के नए अवसर बढ़ने का सबसे ज्यादा फायदा कंज्यूमर बेस्ड प्रोडक्ट्स को मिलेगा। सचिन ने जीएसके कंज्यूमर हेल्थकेयर में 7180 रुपए के टारगेट के साथ निवेश की सलाह दी है। 

 

 

गुजरात स्टेट फर्टिलाइजर्स एंड केमिकल्स

जगदीश ठक्कर ने गुजरात स्टेट फर्टिलाइजर्स एंड केमिकल्स में 195 रुपए के टारगेट के साथ निवेश की सलाह दी है। किसानों की इनकम बढ़ने का फायदा इसे मिलेगा।

 

हीरो मोटोकॉर्प
सिमी भौमिक का कहना हैै कि रूरल इकोनॉमी में ग्रोथ और रोजगार बढ़ने का फायदा ऑटो कंपनियों को मिलेगा। सिमी ने हीरो मोटोकॉर्प में 4000 रुपए के टारगेट के साथ निवेश की सलाह दी है।

 

ITC

सचिन सर्वदे ने आईटीसी में 289 रुपए के टारगेट के साथ निवेश की सलाह दी है। 

 

डॉलर इंडस्ट्रीज

ब्रोकरेज हाउस कोटक सिक्युरिटीज ने डॉलर इंडस्ट्रीज में 560 रुपए के टारगेट के साथ निवेश की सलाह ही है।

 

(नोट- यहां दी गई सभी सलाह टॉप ब्रोकरेज हाउस के द्वारा जारी रिपोर्ट और मार्केट एक्सपर्ट्स की सलाह के आधार पर हैं। हर स्टॉक से जुड़े अपने जोखिम होते है, इसलिए सलाह है कि अपने स्तर पर जांच या अपने एक्सपर्ट की सलाह के बाद ही निवेश का फैसला लें।)

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट