Home » Market » Stocksstart dairy product manufacturing unit with help of mudra scheme

हर साल कमा सकते हैं 6 लाख रुपए, सरकार की इस स्कीम का उठाएं फायदा

सरकार आपको सिर्फ 4 लाख के निवेश में डेयरी प्रोडक्ट मैन्युफैक्चरिंग यूनिट खोलने का मौका दे रही है।

1 of

नई दिल्ली। अगर आप कम निवेश में बेहतर मुनाफे वाला कोई कारोबार शुरू करना चाहते हैं तो अच्छा मौका है। आपने बाजार में कई ब्रांड के मिलने वाले बटर, पैकेट वाला दूध, पैकेट बंद दही, पैकेज्ड पनीर, घी और फ्लेवर्ड मिल्क देखे होंगे। इस बिजनेस में कई बड़े ब्रांड हैं, जो करोड़ों का कारोबार कर रहे हैं। अगर आप भी इस बिजनेस में आना चाहते हैं तो सरकार मैन्युफैक्चरिंग यूनिट खोलने का मौका दे रही है। सरकार की खास स्कीम की मदद से आप कारोबार शुरू कर सकते हैं, वह भी सिर्फ 4 लाख रुपए निवेश में। इन प्रोडक्ट्स की डिमांड दिन प्रति दिन बढ़ रही है। सही मार्केटिंग कर आप भी ब्रांड बन सकते हैं। रिपोर्ट में जानें कैसे शुरू होगा बिजनेस, कैसे होगा हर महीने 50 हजार रुपए मुनाफा.......

 

 

कितनी स्पेस जरूरी: 1000 वर्गफुट, अपनी जगह नहीं है तो इसे लीज या रेंट पर ले सकते हैं।

  
लाइसेंस: पैकेज्ड फूड बनाने के लिए पहले हेल्थ अथॉरिटी से लाइसेंस लेना जरूरी होगा। 


500 लीटर प्रति दिन दूध की जरूरत: इतने स्पेस में रोजाना 500 लीटर कच्चे दूध की प्रॉसेसिंग की जा सकेगी, जिससे पैकेट वाला दूध, घी, दही, बटर और फ्लेवर्ड मिल्क तैयार किया जाएगा। 

 

 

आगे पढ़ें, यूनिट शुरू करने पर कितना आएगा खर्च

 

 

मशीन लगाने पर खर्च: 5.5 लाख रुपए
(इसमें क्रीम सेपरेटर, पैकिंग मशीन, बॉटल कैपिंग मशीन, फ्रीज, कूलर, वेट करने वाली मशीन, ट्रे के अलावा कुछ और छोटी मशीनें होंगी।)
रॉ मैटेरियल पर खर्च: 4 लाख सालाना (दूध, चीनी, फ्लेवर और सॉल्ट शामिल हैं।)
सैलरी पर खर्च: 50 हजार मंथली (अकाउंटेंट, मैनेजीर, ड्राइवर और वर्कर्स शामिल हैं।)
अन्य खर्च: 6 लाख रुपए (ट्रांसपोर्ट व्हीकल, बिजली का बिल, टैक्स, टेलिफोन आदि का खर्च।)
कुल खर्च: 16 लाख रुपए 

 

आगे पढ़ें, कैसे होगी इनकम  

 

 

अपने पास से खर्च: सिर्फ 4 लाख 
16 लाख रुपए खर्च में से आपको बिजनेस शुरू करने के लिए सिर्फ 4 लाख रुपए खर्च करना होगा। बाकी खर्च सरकार मुद्रा योजना के तहत टर्म कैपिटल लोन और वर्किंग कैपिटल लोन के रूप में देगी। यूनिट शुरू होने पर होने वाली इनकम में से आप इन खर्चों का ब्याज भर सकते हैं। 

 

50 हजार हर महीने नेट प्रॉफिट 
-प्रति दिन 500 लीटर या सालाना 1.5 लाख लीटर दूध की प्रॉसेसिंग से जितना प्रोडक्ट तैयार होगा, उससे सालाना टर्न ओवर 82 लाख रुपए तक हो सकता है। 
-इसका कुल प्रोडक्शन कास्ट 74 लाख रुपए होगा। इस लिहाज से सालाना 8 लाख रुपए आय होगी। 
-इसमें से टैक्स आदि का खर्च (25%) काटने के बाद नेट प्रॉफिट 6 लाख रुपए सालाना होगा।
-इस लिहाज से हर महीने 50 हजार रुपए इनकम हो सकती है। 

 

आगे पढ़ें, बिजनेस शुरू करने के लिए क्या करें 
 

 

कैसे करें अप्लाई 


इसके लिए प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत आप किसी भी बैंक में अप्लाई कर सकते हैं। इसके लिए आपको एक फॉर्म भरना होगा, जिसमें ये डिटेल देनी होगी...
नाम, पता, बिजनेस एड्रेस, एजुकेशन, मौजूदा इनकम और कि‍तना लोन चाहिए।
इसमें किसी तरह की प्रोसेसिंग फीस या गारंटी फीस भी नहीं देनी होती। लोन का अमाउंट आसान किस्तों में लौटा सकते हैं। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट