Home » Market » Stocksशेयर मार्केट में अभी बना रहेगा उतार-चढ़ाव, लेकिन ये शेयर हो सकते हैं सेफ विकल्प - experts seen some more volatility in stock market due to selling pressure

मार्केट में अभी बना रहेगा उतार-चढ़ाव, लेकिन ये शेयर हो सकते हैं सेफ विकल्प

निवेशकों को लंबी अवधि के लिहाज से उन शेयरों में निवेश करना चाहिए जो ग्रोथ स्टोरी के साथ आगे बढ़ें।

1 of

नई दिल्ली। बुधवार को मार्केट बढ़त के साथ खुला लेकिन तेजी बरकरार नहीं रह पाई। एक्सपर्ट्स का कहना है कि वोलैटिलिटी इंडेक्स अभी करीब 1 साल के हाई पर है। ग्लोबल सेंटीमेंट बेहतर नहीं हो पाए हैं। वहीं, मॉनेटरी पॉलिसी में ग्रोथ रेट कम रहने और महंगाई बढ़ने का अनुमान है। ये फैक्टर मार्केट के लिए शॉर्ट टर्म के लिए निगेटिव सेंटीमेंट बना रहे हैं। हालांकि लंबी अवधि के नजरिए से यह गिरावट मार्केट के लिए जरूरी था। ऐसे में निवेशकों को लंबी अवधि के लिहाज से उन शेयरों में निवेश करना चाहिए जो ग्रोथ स्टोरी के साथ आगे बढ़ें। 

 

 

कैसी रहेगी मार्केट की चाल
स्टैलियन एसेट्स डॉट कॉम के सीआईओ अमीत जेसवानी का कहना है कि मार्केट में बुधवार को भी सेलिंग प्रेशर दिखा। आरबीआई पॉलिसी मीटिंग में महंगाई बढ़ने की आशंका से मार्केट पर निगेटिव असर हुआ। वहीं, ग्रोथ रेट का अनुमान भी कम किया गया है। दूसरी ओर ग्लोबल सेंटीमेंट भी सुधरे नहीं हैं, यूएस मार्केट में बिकवाली का दबाव बना हुआ है। ऐसे में मार्केट में और गिरावट दिख सकती है। हालांकि निफ्टी को पैनिक लो 10276 के लेवल से नीचे की ओर से सपोर्ट मिल रहा है। यह लेवल ब्रेक होने पर निफ्टी 10 हजार के लेवल से नीचे आ सकता है। वहीं, अगले कुछ ट्रेडिंग सेशन में निफ्टी को ऊपर की ओर 10750 के लेवल से रेजिस्टेंस मिलता दिख रहा है। 

 

बजट 2018: PMEGP में 7.5 लाख को मिलेगा रोजगार, सरकार ने बढ़ाया 80% टारगेट

 

VIX अभी भी हॉयर लेवल पर
बुधवार को ट्रेडिंग में मंगलवार की तुलना में निफ्टी पर वोलैटिलिटी इंडेक्स में कुछ गिरावट जरूर आई है लेकिन अबभी यह 19.405 के लेवल पर बना हुआ है। यह करीब 12 महीनों का हाई लेवल है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि वोलैटिलिटी इंडेक्स जबतक हाई रहेगा, मार्केट में  उतार-चढ़ाव की आशंका बनी रहेगी। 

 

फंडामेंटल में बदलाव नहीं
एक्सपर्ट्स का कहना है कि डोमेस्टिक लेवल पर बेसिक फंडामेंट में बजट के पहले से कुछ खास अंतर नहीं आया है। मैक्रो इकोनॉमिक माहौल पहले जैसा ही है। रिफॉर्म्स हो रहे हैं, रूरल व इंफ्रा सेक्टर के लिए बजट में काफी कुछ किया गया है। रूरल इकोनॉमी के सहारे देश की ग्रोथ को स्पीड मिलेगी। जीएसटी के भी पॉजिटिव रिजल्ट आने हैं। ऐसे में एक बार संभलने के बाद मार्केट को फिर तेजी मिलेगी। 

 

लंबी अवधि के लिए पॉजिटिव है गिरावट 
वहीं, एक्सपर्ट्स इस गिरावट को लंबी अवधि के नजरिए से पॉजिटिव भी मान रहे हैं। उनका कहना है कि अर्निंग और ग्रोथ स्टोरी के रेश्‍यो में मार्केट काफी महंगा हो चुका था। मार्केट के ऊंचे स्तर को अर्निंग का सपोर्ट नहीं था, ऐसे में गिरावट की आशंका बनी हुई थी। बाजार की आगे की चाल फॉर्च्यून फिस्कल के डायरेक्टर जगदीश ठक्कर का कहना है कि गिरावट लंबे नजरिए से निवेश का अच्छा मौका है। लेकिन अभी उन्हीं शेयरों में पैसे लगाने की सलाह होगी जो लंबी अवधि में देश की ग्रोथ स्टोरी को पकड़ कर चलने वाले हैं।

 

सेंसेक्स 300 अंकों से ज्यादा बढ़ा, निफ्टी 10550 के पार, इंफोसिस में 3% का उछाल

 

आगे पढ़ें, ये शेयर हो सकते हैं सेफ बेट

 

ये शेयर हो सकते हैं सेफ बेट 


NOCIL 
अमीत जेसवानी ने नोसिल लिमिटेड (NOCIL Ltd) में 250 रुपए के लक्ष्‍य के साथ निवेश की सलाह दी है। नोसिल भारत की सबसे बड़ी रबर केमिकल मैन्युफैक्चरर कंपनी है। कंपनी स्टेट ऑफ आर्ट टेक्नोलॉजी के तहत काम करती है। आने वाले दिनों में ऑटो सेक्टर में तेजी से टायर की डिमांड भी तेज होगी। इसका फायदा कंपनी को होगा। 

 

HPCL
ब्रोकरेज हाउस मॉर्गन स्टैनले से एचपीसीएल के शेयर के लिए 467 रुपए का लक्ष्‍य रखा है। शेयर की मौजूदा कीमत 395 रुपए है। मॉर्गन स्टैनले के अनुसार 45 दिनों में शेयर 467 रुपए के भाव पर पहुंच सकता है। 

 

महिंद्रा लाइफस्पेस 
ब्रोकरेज हाउस आईसीआईसीआई डायरेकट ने महिंद्रा लाइफस्पेस में 570 रुपए के लक्ष्‍य के साथ निवेश की सलाह दी है। शेयर की मौजूदा कीमत 460 रुपए है। महिंद्रा लाइफस्पेस मुंबई बेस्ड रियल एस्टेट कंपनी है जो कॉरपोरेट और रेजिडेंशियल डेवलपमेंट में है। साउथ इंडिया सहित नॉर्थ इंडिया में कंपनी के कई प्रोजेक्ट हैं। आने वाले दिनों में कंस्टक्शन सेक्टर की तेजी का फायदा कंपनी को मिलेगा। 

 

HDFC

हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉरपोरेशन लिमिटेड पर भी ब्रोकरेज हाउस बुलिश हैं। आईसीआईसीआई डायरेक्ट ने 2250 औ प्रभुदास लीलाधर ने शेयर के लिए 2160 रुपए का लक्ष्‍य रखा है। शेयर का करंट प्राइस 1785 रुपए है। कंपनी का ट्रैक रिकॉर्ड बेहतर है। एसेट क्वालिटी बेहतर है। लोन ट्रांजैक्शन और रिटर्न रेश्‍यो हेल्दी है। 

 

(नोट-निवेश की सलाह एक्सपर्ट्स व ब्रोकरेज हाउस के द्वारा दी गई हैं। कृपया अपने स्तर पर या अपने एक्सपर्ट्स के जरिए किसी भी तरह की सलाह की जांच कर लें। मार्केट में निवेश के अपने जोखिम हैं, इसलिए सतर्कता जरूरी है।)

 
 

 

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट