बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksअच्छे मानसून से इन सेक्टर को होगा फायदा, ये स्टॉक्स दे सकते हैं बेहतर रिटर्न

अच्छे मानसून से इन सेक्टर को होगा फायदा, ये स्टॉक्स दे सकते हैं बेहतर रिटर्न

मौसम विभाग की तरफ से सामान्‍य मानूसन के अनुमान ने शेयर बाजार में तेजी की उम्‍मीद जगा दी है।

1 of

नई दिल्‍ली। मौसम विभाग की तरफ से सामान्‍य मानूसन के अनुमान ने शेयर बाजार में तेजी की उम्‍मीद जगा दी है। जानकारों का मानना है कि बेहतर मानसून के अनुमान से अगले कुछ ट्रेडिंग सेशन में रूरल-एग्रो सेक्टर से जुड़े शेयरों के साथ ऑटो, एनबीएफसी, एफएमसीजी स्टॉक्स में तेजी आएगी। वहीं, अगर आगे मानसून सामान्य रहता है तो मार्केट में अच्छी रिकवरी देखने को मिलेगी। हालांकि इस बारे में ज्यादा क्लेरिटी जून में आएगी। उनका कहना है कि अच्‍छे मानसून से ग्रामीण क्षेत्रों में पर्चेजिंग पावर बढ़ती है, जिससे देश की तमाम कंपनियों के कारोबार पर पॉजिटिव असर पड़ता है।
 
इस साल सामान्य मानसून का अनुमान 
सोमवार को जारी मौसम विभाग के पहले अनुमान में मानसून के सामान्य रहने की बात कही गई है। मौसम विभाग के मुताबिक इस साल अन-नीनो की स्थिति न्यूट्रल है। मौसम विभाग ने इस साल सामान्य से 97 फीसदी बारिश की उम्मीद जताई है। जून के पहले हफ्ते में मानसून के अनुमान को अपडेट किया जाएगा। बता दें कि पिछले साल सामान्य से 98 फीसदी बारिश का अनुमान था और पूरे सीजन में 95 फीसदी बारिश हुई थी। स्काईमेट ने भी जून से सितंबर के बीच 100 फीसदी बारिश की उम्मीद जताई है। 
 
ओवरऑल इकोनॉमी को मिलेगा बूस्ट   
फॉर्च्युन फिस्कल के डायरेक्टर जगदीश ठक्कर के मुताबिक, मानसून सामान्य रहने का सीधा असर रूरल इकोनॉमी पर पड़ता है। रूरल इकोनॉमी बेहतर होती है, जिससे रूरल डिमांड में तेजी आती है। इससे ओवरऑल इकोनॉमी को भी बूस्ट मिलता है। उनका कहना है कि अभी सामान्य मानसून के अनुमान हैं। इसमें ज्यादा क्लेरिटी जून में जब मौसम विभाग द्वारा अपडेट होगा, तब आएगी। फिलहाल सामान्य मानसून के अनुमान से रूरल और एग्रो सेक्टर से जुड़े शेयरों में तेजी आएगी। वहीं, मानसून बेहतर रहा तो इन सेक्टर के अलावा ऑटो, कंज्यूमर डुरेबल्स सेक्टर और एफएमसीजी सेक्टर को ज्यादा फायदा होगा। 

 

अनुमान से इन सेक्टर को फायदा
केडिया कमोडिटी के डायरेक्टर अजय केडिया का कहना है कि मानसून बेहतर रहने का अनुमान है। अच्छी बारिश की उम्मीद से एग्रो सेक्टर के लिए सेंटीमेंट पॉजिटिव हो जाते हैं। ऐसे में बेहतर अनुमान के बाद से सीड्स, फर्टिलाइजर, कृषि के उपकरण, पंप सिस्टम की मांग बढ़ने लगती है। ऐसे में कोरोमंडल इंटरनेशनल, चंबल फर्टिलाइजर, दीपक फर्टिलाइजर और आरसीएफ के शेयरों में तेजी देखने को मिल सकती है। 

 

बेहतर मानसून से इन सेक्टर को फायदा 
अगर मानसून बेहतर रहा तो कंजम्पशन स्टोरी तेज होती है। फास्ट मूविंग कंज्यूमर गुड्स कंपनीज को मिलता है। बेहतर मानसून से एचयूएल, डाबर और गोदरेज कंज्यूमर प्रोडक्ट इसमें विनर साबित हो सकते हैं। वहीं, फार्म प्रोडक्शन बढ़ने से पैकेज्ड फूड कंपनियों को रॉ मैटेरियल सस्ते में मिलता है। इसका फायदा ब्रिटानिया, नेसले और जीएसके कंज्यूमर्स को मिल सकता है। 
वहीं, एंजेल ब्रोकिंग के सीनियर एनालिस्ट अमरजीत मौर्या का कहना है कि मानसून का सीधा इंपैक्ट ऑटो सेक्टर पर होता है। ऑटो सेक्टर की बड़ी डिमांड रूरल इलाकों से ही आती है। ऐसे में रूरल इनकम बढ़ने से डिमांड तेज होगी। टू व्हीलर, ट्रैक्टर बनाने वाली कंपनियों के अलावा मारूति सुजुकी जैसी कार बनाने वाली कंपनियों को फायदा होगा। 

 

किन शेयरों में आ सकती है तेजी 

 

UPL
यूपीएल भारत की सबसे बड़ी मल्टीनेशनल एग्रोकेमिकल कंपनी है, जो एग्रोकेमिकल के रिसर्च, प्रोडक्शन, अनुसंधान, उत्पादन, मार्केटिंग, बिक्री और डिस्ट्रीब्यूशन में है। ब्रोकरेज हाउस जेएम फाइनेंशियल ने शेयर के लिए 935 रुपए का लक्ष्‍य रखा है। 

 

कोरोमंडल इंटरनेशनल 

कोरोमंडल इंटरनेशनल फर्टिलाइजर बिजनेस में है। इसके अलावा कंपनी पेस्टिसाइड और स्पेशिएलिटी न्यूट्रिएंट्स बनाती है। कंपनी रूरल रिटेल बिजनेस में भी है। अजय केडिया ने शेयर के लिए 650 रुपए लक्ष्‍य रखा है। वहीं, ब्रोकरेज हाउस बोनांजा ने शेयर के लिए 689 रुपए का लक्ष्‍य रखा है। 

 

मारूति सुजुकी
एंजेल ब्रोकिंग ने मारूति सुजुकी के शेयर के लिए 10619 रुपए का लक्ष्‍य दिया हे। रूरल इकोनॉमी के रिकवरी पर मारूति सुजुकी टॉप बेट में शामिल हो सकता है। रूरल इलाकों में कंपनी के कार की डिमांड अच्छी रहती है। ऐसे में बेहतर मानसून का फायदा कंपनी को होगा। 

 

HUL 
एचयूएल देश की कंज्यूमर गुड्स कंपनी है। होम केयर पर्सनल केयर, रिफ्रेशमेंट और फूड बिजनेस में अच्छी ग्रोथ रही है। जीएसटी के बाद डिमांड में रिकवरी आ चुकी है। बेहतर मानसून के बाद रूरल इकोनॉमी के मजबूत होने से डिमांड और बढ़ेगी। ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल ने शेयर के लिए 1515 और अजय केडिया ने 1600 रुपए का लक्ष्‍य रखा है। 

 

आगे पढ़ें, और किन शेयरों में होगा फायदा

 

 

हीरो मोटोकॉर्प
हीरो मोटोकॉर्प देश की लीडिंग टू-व्हीलर कंपनी है। टू-व्हीलर कटेगिरी में कंपनी का देश में मार्केट शेयर 46 फीसदी है। कंपनी के प्रोडक्ट की डिमांड देश के अलावा विदेशों में भी है। रूरल इकोनॉमी में रिकवरी का फायदा कंपनी को होगा। रूरल इलाकों में टू-व्हीलर की डिमांड लगातार बढ़ी है। ब्रोकरेज हाउस केपी रिसर्च ने शेयर के लिए 4097 रुपए का लक्ष्‍य रखा है। 

 

महिंद्रा एंड महिंद्रा 
महिंद्रा एंड महिंद्रा के लिए ब्रोकरेज हाउस प्रभुदास लीलाधर ने 890 रुपए का लक्ष्‍य दिया है। रूरल रिकवरी का टॉप बेट्स महिंद्रा एंड महिंद्रा भी हो सकता हे। किसानों की आय बढ़ने से कंपनी के ट्रैक्टर बिजनेस को बूस्ट मिलेगा। रिपोर्ट के अनुसार ट्रैक्टर सेग्मेंट में मार्जिन ऑटो सेग्मेंट की तुलना में ज्यादा होता है, इसका फायदा भी कंपनी को मिलेगा। 

 

(नोट-निवेश की सलाह एक्सपर्ट्स व ब्रोकरेज हाउस के द्वारा दी गई हैं। कृपया अपने स्तर पर या अपने एक्सपर्ट्स के जरिए किसी भी तरह की सलाह की जांच कर लें। मार्केट में निवेश के अपने जोखिम हैं, इसलिए सतर्कता जरूरी है।)

 
 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट