बिज़नेस न्यूज़ » Market » StocksFDI नियमों में छूट से मजबूत हुए रियल सेक्टर के सेंटीमेंट, ये शेयर दे सकते हैं 74% तक रिटर्न

FDI नियमों में छूट से मजबूत हुए रियल सेक्टर के सेंटीमेंट, ये शेयर दे सकते हैं 74% तक रिटर्न

एक्सपर्ट्स का मानना है कि एफडीआई नियमों में छूट का फायदा रियल्टी कंपनियों को मिलेगा।

1 of

नई दिल्ली। कैबिनेट ने बड़ा फैसला लेते हुए कंस्ट्रक्शन सेक्टर में ऑटोमेटिक रूट से 100% एफडीआई को मंजूरी दे दी है। यानी अब विदेशी कंपनियों को कंस्ट्रक्शन सेक्टर में केंद्र सरकार और भारतीय रिजर्व बैंक से निवेश से पहले अप्रूवल नहीं लेना पड़ेगा। एक्सपर्ट्स का मानना है कि इस फैसले का फायदा रियल्टी कंपनियों को मिलेगा। इस सेक्टर में विदेशी पैसा बढ़ेगा, जिससे खासतौर पर छोटी और मणैली कंपनियों पर दबाव कम होगा। वहीं, बंद पड़े हुए प्रोजेक्ट भी दोबारा शुरू हो सकेंगे। 

 

 

निवेश की समस्या दूर होगी 
ट्रेड स्विफ्ट के रिसर्च हेड संदीप जैन का कहना है कि रियल्टी सेक्टर के लिए बड़ी परेशानी यह बन गई थी कि पिछले कुछ दिनों से डोमेस्टिक लेवल पर इस सेक्टर में निवेश कम हो गया था। अब कंस्ट्रक्शन सेक्टर में ऑटोमैटिक रूट से 100 फीसदी एफडीआई की मंजूरी से निवेश बढ़ेगा। इसका फायदा रियल्टी कंपनियों को होगा। उन्होंने बताया कि छोटी रियल्टी कंपनियों में निवेश की कमी बड़ी परेशानी बनी हुई थी। इस वजह से इसका ज्यादा फायदा छोटी और मझौली कंपनियों को होगा। ये कंपनियां अब FDI निवेशकों से बातचीत करना शुरू कर पाएंगी।
 
रुके प्रोजेक्ट्स शुरू करने में मदद 
स्टैलियन एसेट्स डॉट कॉम के सीआईओ अमीत जेसवानी का कहना है कि कंस्ट्रक्शन में एफडीआई नियमों में ढील का फायदा रियल्टी को होगा। उनका कहना है कि 100 फीसदी एफडीआई की मंजूरी मिलने से देश में निवेश बढ़ेगा। इससे बंद पड़े प्रोजेक्ट्स को फिर से शुरू किया जा सकेगा। वहीं, घर मिलने में होने वाली देरी की समस्या भी कम होगी, जिससे इस सेक्टर में फिर डिमांड बढ़ेगी। 

 

सेक्टर का आउटलुक पॉजिटिव 
हाल ही में रेटिंग एजेंसी फिच और मूडीज ने रियल एस्टेट सेक्टर का आउटलुक पॉजिटिव बताया है। रेटिंग एजेंसी फिच का कहना है कि रियल एस्टेट एक्ट की वजह से मौजूदा समय में रियल एस्टेट कंपनियां अपने अधूरे प्रोजेक्ट को पूरा करने में लगी है। उम्मीद है कि फाइनेंशियल ईयर 2018 में अनसोल्ड इन्वेंट्रीज की संख्‍या घटेगी, जिससे फ्लैट की सेल बढ़ेगी। असल में तैयार प्रोजेक्ट पर टैक्स न होने से कस्टमर्स ऑनगोइंग प्रोजेक्ट में जाने की जगह तैयार प्रोजेक्ट में पैसा लगा रहे हैं। इससे अनसोल्ड इन्वेंट्रीज की संख्‍या बढ़ी है। वहीं, रेटिंग एजेंसी मूडीज ने भी रियल एस्टेट के लिए आउटलुक बेहतर बताया है, जिससे निवेशकों को सेंटीमेंट बेहतर हुआ है।  

 

आगे पढ़ें, किन शेयरों में करें निवेश

 

 

अजमेरा


अजमेरा रियल्टी एंड इंफ्रा इंडिया लिमिटेड देश की बड़ी रियल एस्टेट कंपनियों में शामिल है। कंपनी का मुंबई, अहमदाबाद और बंगलुरू में मजबूत प्रेजेंस है। बहरीन जैसे देश में भी कंपनी का बड़ा प्रोजेक्ट है। कंपनी का वडाला में 100 एकड़ लैंड बैंक है। कंपनी के 3 प्रोजेक्ट समय से पूरे होने वाले हैं, जिससे नए प्रोजेक्ट शुरू करने में आसानी होगी। कंपनी के पास कैपिटल की कमी नहीं है और कंपनी मुनाफे में है। एफडीआई के नियम आसान होने का फायदा कंपनी को होगा। अमीत जेसवानी ने शेयर के लिए 600 रुपए का लक्ष्‍य रखा है। मौजूदा कीमत 345 के लिहाज से शेयर में 74 फीसदी रिटर्न मिल सकता है। 

 

महिंद्रा लाइफ


महिंद्रा लाइफस्पेस डेवलपर्स रियल्टी सेक्टर की अच्छी कंपनियों में शामिल है, जिसका हेडक्वार्टर मुंबई में है। कंपनी के प्रोजेक्ट पुणे, हैदराबादए चेन्नई, गुड़गांव और नागपुर जैसे शहरों में चल रहे हैं। कंपनी ने अपने कई प्रोजेक्ट समय से पूरे किए हैं। कंपनी की बैलेंसशीट बेहतर है। वहीं, ऑर्डरबुक भी मजबूत है। आने वाले दिनों में कंस्ट्रक्शन एक्टिविटी बढ़ने का फायदा कंपनी को होगा। संदीप जैन ने शेयर के लिए 525 रुपए का लक्ष्‍य रखा है। मौजूदा कीमत 461 रुपए के लिहाज से शेयर में 14 फीसदी रिटर्न मिल सकता है।

 

ओबेरॉय रियल्टी


ओबेरॉय रियल्टी मुंबई बेस्ड डेवलपर है और कंपनी ने मुंबई के आस-पास के एरिया में 39 प्रोजेक्ट डेवलप किए हैं। रेजिडेंशियल के अलावा रिटेल और हॉस्पिटैलिटी और सोशल इंफ्रा प्रॉपर्टीज में भी कंपनी का इंटरेस्ट है। कंपनी का प्रदर्शन बेहतर है। अमीत जेसवानी के अनुसार कंपनी में आने वाले 2 से 3 साल हर साल औसतन 25 फीसदी की ग्रोथ दिख रही है। फिलहाल जेसवानी ने शेयर के लिए 700 रुपए का लक्ष्‍य दिया है। कंपनी की मौजूदा कीमत 529 रुपए के लिहाज से शेयर में 32 फीसदी रिटर्न मिल सकता है। 

 

 

आगे पढ़ें, और किन शेयरों में निवेश का मौका 

 

 

 

शोभा लिमिटेड


शोभा लिमिटेड बंगलुरू बेस्ड रियल एस्टेट कंपनी है, जिसका 38 फीसदी लैंड बैंक बंगलुरू में है। कोच्चि, चेन्नई सहित साउथ इंडिया के कई शहरों में कंपनी को प्रोजेक्ट है। गुरूग्राम में भी कंपनी की प्रजेंस है। दूसरी तिमाही में कंपनी का मुनाफा और आय दोनों बढ़ा है। कंपनी का थर्ड पार्टी से भी कंस्ट्रक्शन के लिए कांट्रैक्ट है और बिजनेस मॉडल कंपनी के लिए बेहतर साबित हो रहा है। आने वाले दिनों में कुछ नए प्रोजेक्ट पर कंपनी का फोकस है। अफोर्डेबल हाउसिंग स्कीम से भी कंपनी को फायदा मिलेगा। SMC इन्वेस्टमेंट्स एंड एडवाइजर्स लिमिटेड के रिसर्च हेड सचिन सर्वदे ने शेयर के लिए 800 रुपए का लक्ष्‍य रखा है। मौजूदा कीमत 606 के लिहाज से शेयर में 32 फीसदी रिटर्न मिल सकता है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट