बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksइस साल 53% तक सस्ते हुए पीएसयू स्टॉक्स में बने मौके, आगे दे सकते हैं 81% तक रिटर्न

इस साल 53% तक सस्ते हुए पीएसयू स्टॉक्स में बने मौके, आगे दे सकते हैं 81% तक रिटर्न

बीएसई पीएसयू इंडेक्स अपने 18 महीने के निचले स्तर पर हैं, इस साल स्टॉक में 53 फीसदी तक गिरावट रही है।

PSU stocks down up to 53% YTD, opportunity for investment

नई दिल्ली। सोमवार के कारोबार में बीएसई पीएसयू इंडेक्स अपने 18 महीने के निचले स्तर को क्रॉस कर गया। बीएसई पीएसयू इंडेक्स जहां 1 जनवरी को 9159 के स्तर पर था, सोमवार को 7479 के स्तर पर बंद हुआ। यानी इस साल अब तक इंडेक्स में 18 फीसदी से ज्यादा गिरावट हो चुकी है। इस दौरान पीएसयू कंपनियों के स्टॉक्स में 53 फीसदी से ज्यादा गिरावट रही है। इनमें से कई स्टॉक ऐसे हें, जिनके फंडामेंट मजबूत हैं और किसी न किसी इश्‍यू की वजह से इनमें गिरावट रही है। एक्सपर्ट्स मानते हैं कि इश्‍यू जैसे जैसे सॉल्व होंगे, ऐसे चुनिंदा स्टॉक्स में आगे तेजी बनेगी। ब्रोकरेज हाउस ने भी चुनिंदा स्टॉक्स में निवेश की सलाह दी है। 

 

 

स्टॉक्स में 53 फीसदी तक गिरावट
इस साल की बात करें तो 1 जनवरी से अबतक पीएसयू स्टॉक्स में 53 फीसदी तक गिरावट दिखी है। पंजाब नेशनल बैंक में जहां 53 फीसदी गिरावट रही है, वहीं एनबीसीसी, जम्मू एंड कश्‍मीर बैंक, गेल, बैंक ऑफ बड़ौदा, बीपीसीएल, एचपीसीएल, पावर ग्रिड, एनटीपीसी, जनरल इंश्‍योरेंस, एनएमटीसी, कोल इंडिया, एलाहाबा बैंक, सिंडिकेट बैंक, नाल्को, केनरा बैंक, भेल, आईओबी और आईटीडीसी के शेयरों में 42 फीसदी तक गिरावट रही है। 

 

किन शेयरों में करें निवेश 
 

NBCC
NBCC रीयल एस्टेट डेवलपमेंट एंड कंस्ट्रक्शन बिजनेस में काम करने वाली सरकारी कंपनी है। कंपनी प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कंसल्टेंसी भी प्रावइड करती है। कंपनी का देशभर में 10 रिजनल या जोनल ऑफिस है। कंपनी के प्रोजेक्ट 23 राज्यों में हैं। कंपनी दूसरे देशों में भी प्रोजेक्ट लेती है। सरकार का अफोर्डेबल हाउसिंग स्कीम कंपनी के लिए बड़ी अपॉर्च्युनिटी है। ब्रोकरेज हाउस आईसीआईसीआई डायरेक्ट ने स्टॉक के लिए 115 रुपए का लक्ष्‍य रखा है। करंट प्राइस 81 रुपए के लिहाज से स्टॉक में 42 फीसदी रिटर्न मिल सकता है। 

 

कंटेनर कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया
कंटेनर कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया रेल मिनिस्ट्री के तहत ऑपरेट करती है। कंपनी का कोर बिजनेस कार्गो कैरियर, टर्मिनल ऑपरेटर, वेयर हाउस ऑपरेटर और एमएमएलपी ऑपरेशन में है। चौथी तिमाही में कंपनी का रेवेन्यू सालाना आधार पर 12 फीसदी बढ़कर 1559 करोड़ रुपए रहा है। डोमेस्टिक रेवेन्यू 16 फीसदी बढ़ा है। आगे लॉजिस्टिक सेक्टर में डिमांड बढ़ने का फायदा कंपनी को होगा। ब्रोकरेज हाउस आईसीआईसीआई डायरेक्ट ने स्टॉक के लिए 1560 रुपए का लक्ष्‍य दिया हे। करंट प्राइस 1241 रुपए के लिहाज से स्टॉक में 26 फीसदी रिटर्न मिल सकता है। 

 

मंगलौर रिफाइनरी एंड पेट्रोकेमिकल्स लि.
मंगलौर रिफाइनरी एंड पेट्रोकेमिकल्स लिमिटेड मिनीरत्त कंपनी है जो मिनिस्ट्री ऑफ पेट्रोलियम एंड नेचुरल बैस के तहत आती है। ओएनजीसी कंपनी की पैरेंट कंपनी है। कंपनी मॉरिशस को लंबे समय से फ्यूल की सप्लाई कर रही है। कंपनी के चौथी तिमाही के नतीजे उम्मीद के मुताबिक रहे हैं। कंपनी का रेवेन्यू तिमाही आधार पर 7.7 फीसदी बढ़कर 18753 करोड़ रुपए रहा है। ब्रोकरेज हाउस आईसीआईसीआई डायरेक्ट ने स्टॉक के लिए 130 रुपए का लक्ष्‍य रखा है। करंट प्राइस 90 रुपए के लिहाज से 44 फीसदी रिटर्न मिल सकता है। 

 

जम्मू एंड कश्‍मीर बैंक
जम्मू एंड कश्‍मीर बैंक का अपने होम स्टेट में मार्केट शेयर 50 फीसदी के आस-पास है। डिपॉजिट और क्रेडिट दोनों ही फ्रंट पर जम्मू एंड कश्‍मीर में बैंक बेहतर कर रहा है। बैंक की एसेट क्वालिटी में सुधार है। क्रेडिट ग्रोथ बेहतर है और लोनबुक में सालाना आधार पर 10 फीसदी की ग्रोथ है। रिटेल, एसएमई सेक्टर में बैंक का प्रदर्शन बेहतर रहा है। ब्रोकरेज हाउस प्रभुदास लीलाधर ने स्टॉक के लिए 100 रुपए का लक्ष्‍य रखा है। करंट प्राइस 55 रुपए के लिहाज से स्टॉक में करीब 81 फीसदी रिटर्न मिल सकता है। 

 

NTPC
NTPC लिमिटेड पब्लिक सेक्टर कंपनी है जो इलेक्ट्रिसिटी जेनरेशन और एलाइड एक्टिविटीज बिजनेस में है। कंपनी की बैलेंसशीट बेहतर है और कैश की कमी नहीं है। थर्मल पावर में कुल नेशनल कैपेसिटी में करीब 16 फीसदी कैपेसिटी कंपनी के पास है। पिछले 5 साल से कंपनी औसतन 2.5 फीसदी की दर से डिविडेंड यील्ड दे रही है। ब्रोकरेज हाउस जेएम फाइनेंशियल ने स्टॉक में 220 रुपए का लक्ष्‍य दिया है। करंट प्राइस 155 रुपए के लिहाज से स्टॉक में 41 फीसदी रिटर्न मिल सकता है। 

 

(नोट-निवेश की सलाह ब्रोकरेज हाउस के द्वारा दी गई हैं। कृपया अपने स्तर पर या अपने एक्सपर्ट्स के जरिए किसी भी तरह की सलाह की जांच कर लें। मार्केट में निवेश के अपने जोखिम हैं, इसलिए सतर्कता जरूरी है।)

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट