Home » Market » StocksExperts seen better growth in pharma sector, stocks may give better return

फार्मा सेक्टर से दबाव घटने के संकेत, लंबी अवधि में ये 4 स्टॉक दे सकते हें 74% तक रिटर्न

एक्सपर्ट्स का कहना है कि फार्मा कंपनियों से जुड़े रेग्युलेटरी इश्‍यू सॉल्व होने, नई लॉन्चिंग से पॉजिटिव संकेत हैं।

Experts seen better growth in pharma sector, stocks may give better return

नई दिल्ली। 2 साल से भी ज्यादा समय से अंडरपरफॉर्मर रहे फार्मा शेयरों में पिछले एक महीने से ग्रोथ दिख रही है। एक महीने के दौरान जहां मार्केट वोलेटाइल रहा है, निफ्टी पर फार्मा इंडेक्स में 16 फीसदी तेजी है। इस दौरान स्टॉक में 26 फीसदी तक तेजी दिखी। एक्सपर्ट्स का कहना है कि इंडियन फार्मास्युटिकल मार्केट में सेकंडरी सेल्स में सस्टेनेबल ग्रोथ रही है, वॉल्यूम हेल्दी बना हुआ है। हालांकि यूएस मार्केट में अभी प्राइसिंग प्रेशर बना हुआ है। लेकिन कंपनियों से जुड़े रेग्युलेटरी इश्‍यू सॉल्व होने और नई लॉन्चिंग से पॉजिटिव संकेत मिल रहे हैं। ऐसे में अट्रैक्टिव वैल्युएशन पर चल रहे फार्मा शेयरों में लंबी अवधि में अच्छा रिटर्न मिल सकता है। 

 

 

पिछले एक महीने में 26% तक चढ़े शेयर

पिछले एक महीने में जहां निफ्टी पर फार्मा इंडेक्स में 16 फीसदी तेजी रही है, वहीं फार्मा शेयरों में 26 फीसदी तक तेजी दिखी। इस दौरान डॉ रेड्डीज के शेयरों में 26 फीसदी, सनफार्मा में 26 फीसदी, पिराम इंटरप्राइजेज में 5.4 फीसदी, कैडिला में 4.8 फीसदी, अरबिंदो फार्मा में 2.05 फीसदी, ग्लेनमार्क में 13 फीसदी, ल्यूपिन में 22 फीसदी, सिप्ला में 8.26 फीसदी की तेजी रही है। वहीं, डिवाइस लैब में 5.72 फीसदी, बॉयोकॉन में 3.52 फीसदी की गिरावट रही है। 

 

वॉल्यूम हेल्दी: रिपोर्ट 
मोतीलाल ओसवाल की रिपोर्ट के मुताबिक इंडियन फार्मास्युटिकल मार्केट में सेकंडरी सेल्स ग्रोथ मजबूत है। मई में सालाना आधार पर यह ग्रोथ 10.8 फीसदी रही है। वॉल्यूम हेल्दी बना हुआ है। न्यू प्रोडक्ट की लॉन्चिंग से कंपनियों की सेल्स ग्रोथ बेहतर हुई है। रिपोर्ट के मुताबिक इंडियन फार्मास्युटिकल मार्केट में पिछले कुछ दिनों से सस्टेनेबल ग्रोथ के संकेत हैं। हालांकि प्राइसिंग प्रेशर अभी भी बना हुआ है और लगातार 12वें महीने कीमतों में गिरावट है। 

 

लंबी अवधि में मिलेगा अच्छा रिटर्न 
फॉर्च्युन फिस्कल के डायरेक्टर जगदीश ठक्कर का कहना है कि फार्मा सेक्टर पिछले 2 साल से अंडरपरफॉर्मर रहा है। लेकिन रेग्युलेटरी इश्‍यू धीरे-धीरे सॉल्व हो रहे हैं। अमेरिका, यूरोप और जापान से अब नई दवाओं को मंजूरी मिल रही है। रेग्युलेटरी इश्‍यू से जुड़ीं जो दिक्कतें हैं, उसे दूर होने में कुछ समय लगेगा, लेकिन सेक्टर का बुरा दौर जल्द खत्म होने की उम्मीद है। जिनका एक्सपोजर इंडियन मार्केट में ज्यादा है, उनमें अभी भी परेशानी नहीं है। जिन कंपनियों का रेवेन्यू यूएस मार्केट से ज्यादा आता है, उनमें जिनका बेस बड़ा है और बिजनेस मॉड्यूल बेहतर है, वे जल्द दबाव से बाहर आएंगी। 
वहीं, ट्रेडस्विफ्ट ब्रोकिंग के संदीप जैन का भी मानना है कि इंडियन कंपनियां कॉम्पिटीशन को बेहतर ढंग से हैंडल कर सकती हैं। दिक्कतें समय के साथ दूर हो रही हैं, लंबी अवधि में फार्मा सेक्टर का आउटलुक बेहतर है।

 

फार्मा सेक्टर के लिए अच्छी खबर
-सनफार्मा के हलोल प्लांट को हाल ही में यूएस फार्मा रेग्युलेटर यूएसएफडीए की ओर से मंजूरी मिली है। जिसके बाद सनफार्मा के शेयरों में अच्छी तेजी दिख रही है। 
-अरबिंदो फार्मा के हाइपरटेंशन की दवा को भी हाल ही में यूएस एफडीए से मंजूरी मिल गई है। 
-टोरेंट फार्मा को भी अपनी हाइपरटेंशन की दवा के लिए यूएस एफडीए से मंजूरी मिल गई है। 
-एलेंबिक फार्मा के एंटी डिप्रेशन की दवा को भी यूएस फार्मा रेग्युलेटर यूएसएफउीए से मंजूरी मिली है। जिसके बाद शेयर को लेकर सेंटीमेंट पॉजिटिव बना है। 

 

किन शेयरों में करें निवेश 

 

सनफार्मा
यूएस एफडीए से हलोल प्लांट को क्लियरेंस मिल जाने से शेयर को लेकर सेंटीमेंट पॉजिटिव बना है। कंपनी की प्रोडक्ट पाइपलाइन मजबूत है। निगेटिव बातें डिस्काउंट हो चुकी हैं। ब्रोकरेज हाउस इक्विटी 99 ने सनफार्मा के शेयर के लिए 650 रुपए का लक्ष्‍य रखा है। करंट प्राइस 570 रुपए के लिहाज से शेयर में 14 फीसदी रिटर्न मिल सकता है। 

 

ग्लेनमार्क
ब्रोकरेज हाउस एचडीएफसी सिक्युरिटीज ने ग्लेनमार्क के शेयर में 710 रुपए के लक्ष्‍य के साथ निवेश की सलाह दी है। करंट प्राइस 582 रुपए के लिहाज से शेयर में आगे 22 फीसदी रिटर्न मिल सकता है। 

 

अरबिंदो फार्मा
ब्रोकरेज हाउस सेंट्रम ने अरबिंदो फार्मा के शेयर के लिए लंबी अवधि में 1070 रुपए का लक्ष्‍य रखा है। शेयर का करंट प्राइस 614 रुपए है। इस लिहाज से निवेशकों को शेयर में 74 फीसदी रिटर्न मिल सकता है। 

 

इप्का लैब 
ब्रोकरेज हाउस प्रभुदास लीलाधर ने फार्मा कंपनी इप्का लैब के शेयर के लिए 837 रुपए का लक्ष्‍य रखा है। शेयर के करंट प्राइस 672 रुपए के लिहाज से इसमें निवेशकों को 25 फीसदी रिटर्न मिल सकता है। 

 

(नोट-निवेश की सलाह एक्सपर्ट्स व ब्रोकरेज हाउस के द्वारा दी गई हैं। कृपया अपने स्तर पर या अपने एक्सपर्ट्स के जरिए किसी भी तरह की सलाह की जांच कर लें। मार्केट में निवेश के अपने जोखिम हैं, इसलिए सतर्कता जरूरी है।)

 
 
 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट