Home » Market » StocksThese saving schemes are giving higher interest than bank FD

FD पर घट रहा है ब्याज, ज्यादा फायदे के लिए चुनें निवेश के ये 5 विकल्प

पिछले कुछ महीनों ने स्माल सेविंग स्कीम पर मिलने वाला ब्याज घटा है। वहीं, कई बैंकों ने डिपॉजिट रेट भी कम कर दिए हैं।

1 of

नई दिल्ली। पिछले कुछ महीनों ने स्माल सेविंग स्कीम पर मिलने वाला ब्याज घटा है। वहीं, कई बैंकों ने डिपॉजिट रेट भी कम कर दिए हैं। मसलन 2015 में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में 1 साल की एफडी पर 8 फीसदी ब्याज मिलता था। लेकिन अब एसबीआई ने इसे घटाकर 6.25 फीसदी कर दिया है। तकरीबन ज्यादातर बैंकों में 1 से 2 साल की उफडी पर 6.25 फीसदी से 7 फीसदी के आस-पास ब्याज मिल रहा है। यानी जिस एक 1 लाख रुपए की एफडी पर पहले एक साल में 8000 रुपए ब्याज मिल रहा था, उस पर अब 6250 रुपए ही रिटर्न रह गया है। 

 

ऐसे में अगर आप चाहते हैं कि अपनी जमा-पूंजी पर ज्यादा फायदा मिले और वह भी सुरक्षित निवेश के रूप में तो यह खबर आपके काम की हो सकती है। हम यहां निवेश के ऐसे 5 विकल्प बता रहे हैं, जिसमें आपका पैसा एफडी से जयादा तेजी से बढ़ेगा। इनमें से कुछ ऐसे भी हैं, जिससे होने वाली आय पर आप टैक्स देने से भी बच जाएंगे, यानी फायदा डबल...........

 
आगे पढ़ें, बैंक एफडी से ज्यादा फायदा देने वाली पहली स्कीम

 

वॉलंटियरी प्रोविडेंट फंड  (VPF) 
ब्याज दर: 8.65 फीसदी 

 

वॉलंटियरी प्रोविडेंट फंड सैलरीड क्लास के लिए एक बेहतर विकल्प है, जहां ब्याज दर 8.65 फीसदी मिल रहा है। यानी एफडी से तो ज्यादा ब्याज है ही, पीपीएफ से भी ज्यादा ब्याज यहां मिल रहा है।
टाइम लिमिट: निवेश करने की टाइम लिमिट नहीं है। रिटायरमेंट के समय पूरी राशि वापस मिल जाती है। 
निवेश की लिमिट: यह आपकी सैलरी पर निर्भर होगी। निवेश आपके ईपीएफ अकाउंट में जाएगा, इसके लिए कोई अलग से अकाउंट नहीं होता है। 
टैक्स: वीपीएफ पर मिलने वाला ब्याज टैक्स फ्री होता है। हालांकि 5 साल से पहले ही पैसा निकालने पर इस पर टैक्स लगेगा। 

 

आगे पढ़ें, बैंक एफडी से ज्यादा फायदा देने वाली एक और स्कीम 

 

लिक्विडिटी फंड 
रिटर्न: 9 फीसदी तक सालाना


-लिक्विड फंड एक तरह के म्यूचुअल फंड हैं। ये गवर्नमेंट सिक्योरिटीज, सर्टिफिकेट ऑफ डिपॉजिट, ट्रेजरी बिल्स, कॉमर्शियल पेपर्स और दूसरे डेट इंस्टू्मेंट्स में निवेश करते हैं। इनमें जोखिम कम होता है। 
-पिछले एक साल में लिक्विड फंड ने औसतन 9 फीसदी तक सालाना रिटर्न दिया है।
-सेविंग अकाउंट की तरह स्कीम का कर सकते हैं इस्तेमाल।
-योजना में लॉक-इन-पीरियड नहीं होता है। अकाउंट में कभी भी पैसे जमा कर सकते हें, कभी भी निकाल सकते हैं। 
-लिक्विड फंड पर कैपिटल गेन टैक्सेबल होता है। 

 

आगे पढ़ें, बैंक एफडी से ज्यादा फायदा देने वाली एक और स्कीम 

 

सेविंग बॉन्ड
ब्याज दर: 7.75 फीसदी सालाना


टाइम लिमिट: 7 साल के लिए कर सकते हैं निवेश 
उम्र: कोई लिमिट नहीं 
निवेश की सीमा: कितना भी पैसा सेविंग बॉन्ड में निवेश कर सकते हैं, इसकी कोई लिमिट नहीं है।
कहां मिलेगा: यह बॉन्ड अधिकृत बैंक शाखाओं से लिए जा सकते हैं।
टैक्स: बॉन्ड के जरिए होने वाली इनकम पर टैक्स लगेगा। 

 

आगे पढ़ें, बैंक एफडी से ज्यादा फायदा देने वाली एक और स्कीम

 

सुकन्या समृद्धि योजना
ब्याज दर: 8.1 फीसदी 


टाइम लिमिट: इस योजना के तहत बेटी के 14 साल होने की उम्र तक निवेश किया जा सकता है। योजना की मेच्योरिटी बेटी के 21 साल की होने पर है। 
उम्र: बेटी के 10 साल या इससे कम उम्र की होने पर ही योजना में निवेश किया जा सकता है। 
निवेश की लिमिट: हर साल 1.5 लाख रुपए तक निवेश किया जा सकता है। 
टैक्स: योजना के तहत होने वाली इनकम पर इनकम टैक्स से छूट है। 

 

आगे पढ़ें, बैंक एफडी से ज्यादा फायदा देने वाली एक और स्कीम

 

पोस्ट ऑफिस  
ब्याज: 7.9 फीसदी 


-अगर आप बैंक में पैसे रखने की जगह उसे पोस्ट ऑफिस की बचत योजनाओं में जमा कराते हैं तो यहां भी आप फायदे में रहेंगे।  
-पोस्ट ऑफिस बचत योजनाओं पर 7.9 फीसदी सालाना रिटर्न मिलता है। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट