Home » Market » StocksEcperts seen recovery in cement sector due to infra activity

इंफ्रा एक्टिविटी बढ़ने से सीमेंट सेक्टर को मिलेगा बूस्ट, इन शेयरों में बनेगा पैसा

पिछले 4-5 साल में वॉल्यूम ग्रोथ सुस्त रहने के बाद इस फाइनेंशियल सीमेंट सेक्टर में अच्छी रिकवरी दिखने की उम्मीद है।

1 of

नई दिल्ली. पिछले 4-5 साल में वॉल्यूम ग्रोथ सुस्त रहने के बाद इस फाइनेंशियल सीमेंट सेक्टर में अच्छी रिकवरी दिखने की उम्मीद है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि आने वाले दिनों में आम चुनाव होने हैं, वहीं इसके पहले कुछ राज्यों में भी चुनाव है। बेनेफिट लेने के लिए सरकार इंफ्रा पर किए गए कमिटमेंट को पूरा करना चाहेगी। ऐसे में आने वाले दिनों में इंफ्रा एकिटविटी के साथ लो कास्ट हाउसिंग पर काम बढ़ने का फायदा सीमेंट कंपनियों को मिलेगा। साउथ रीजन से मजबूत डिमांड की उम्मीद से भी सेक्टर का आउटलुक बेहतर दिख रहा है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि जेके लक्ष्‍मी सीमेंट, एसीसी, रैमको सीमेंट और डालमिया भारत सीमेंट में अच्छा रिटर्न मिल सकता है। 

 

 

इंफ्रा एक्टिविटी बढ़ने का होगा फायदा
मार्केट एक्सपर्ट सचिन सर्वदे के मुताबिक मोदी सरकार ने इंफ्रा को लेकर कई कमिटमेंट किए थे। साल 2019 में आम चुनाव है, ऐसे में इससे पहले देश भर में इंफ्रा एक्टिविटी मसलन रोड कंस्ट्रक्शन, ओवरब्रिज कंस्ट्रक्शन के साथ ही रोड कंस्ट्रक्शन एक्टिविटी बढ़ने की उम्मीद है। सरकार के फोकस में अफोर्डेबल हाउसिंग भी है। चुनावों के पहले लो कास्ट हाउसिंग को लेकर भी सरकार अपना लक्ष्‍य पूरा करना चाहेगी। जैसे-जैसे कंस्ट्रक्शन का काम बढ़ेगा, सीमेंट की डिमांड भी बढ़ेगी। सचिन सर्वदे के मुताबिक इसमें लॉर्जकैप और मिडकैप सेग्मेंट से नामी कंपनियों मसलन एसीसी, इंडिया सीमेंट को ज्यादा फायदा होगा। 

 
लो बेस होने का मिलेगा फायदा
एक्सपर्ट्स का कहना है कि पिछले फाइनेंशियल में सीमेंट सेक्टर में ग्रोथ बहुत ज्यादा नहीं रही थी। पिछले साल नोटबंदी की वजह से रियल्टी सेक्टर में खासी सुस्ती रही थी। वहीं, पिछले 4-5 साल की बात करें तो वॉल्यूम ग्रोथ सुस्त रहा है। ऐसे में लो बेस होने का फायदा इस फाइनेंशियल ईयर में मिलेगा। एक्सपर्ट्स का मानना है कि फाइनेंशियल ईयर 2019 की पहली 2 तिमाही में सेक्टर में अच्छी ग्रोथ रहेगी। इस साल इसमें टर्नअराउंड दिख सकता है। 
 
साउथ रीजन से रहेगी मजबूत डिमांड 
#मोतीलाल ओसवाल की रिपोर्ट के मुताबिक इंफ्रा और अफोर्डेबल हाउसिंग प्रोजेक्ट में तेजी आने से फाइनेंशियल ईयर 2019 में साउथ इंडिया में सीमेंट की डिमांड तेज रहेगी। रिपोर्ट के मुताबिक साउथ रीजन में सालाना बेसिस पर सीमेंट की डिमांड 9 फीसदी बढ़ सकती है। इसमें सबसे ज्यादा 15 फीसदी डिमांड आंध्र प्रदेश और तेलांगाना से आने की उम्मीद है। दोनों ही राज्यों में इंफ्रा एक्टिविटी ज्यादा रहने की उम्मीद है। वहीं, लो कास्ट हाउसिंग सेग्मेंट में सबसे ज्यादा काम इन्हीं दोनों राज्यों में हो रहा है। आंध्र और तेलांगाना में साउथ रीजन का 17 फीसदी लो कास्ट हाउसिंग कंस्ट्रक्शन होना है। ऐसे में इन दोनों राज्यों में डिमांड मजबूत रहेगी। 

 

#मोतीलाल ओसवाल के मुताबिक पिछले 5 से 6 साल के दौरान तमिलनाडु में सीमेंट की डिमांड में कमी आई है। फाइनेंशियल ईयर 2018 की पहली छमाही तक पॉलिटिकल अनसर्टेनिटी, सैंड माइनिंग इश्‍यू और सूखे की स्थिति की वजह से डिमांड कमजो रही है। लेकिन पिछले साल बेहतर मानसून से रिकवरी देखी गई। इस बार भी मानसून बेहतर रहने की उम्मीद है, ऐसे में वहां डिमांड बेहतर रहने की उम्मीद है। 

बढ़ सकती है सीमेंट की कीमतें 
आने वाले दिनों में सीमेंट की कीमतों में इजाफा दिख सकता है। पिछले दिनों पेट कोक, डीजल और कोल की कीमतें लगातार बढ़ने से सीमेंट कंपनियों की लागत भी बढ़ी है। इस वजह से कंपनियों के मार्जिन पर दबाव है। रेटिंग एजेंसी इकरा के अनुसार कंपनियां प्रॉफिट पर दबाव कम करने के लिए कीमतें और बढ़ा सकती हैं। कीमतें बढ़ती हैं तो मार्जिन में सुधार होगा। 

 

किन शेयरों में करें निवेश 

 

जेके लक्ष्‍मी सीमेंट
जेके लक्ष्‍मी सीमेंट सीमेंट इंडस्ट्री की पॉयोनियर कंपनी है। कंपनी अपने प्रोडक्ट के स्टैंडर्ड क्वालिटी के साथ ही सीमेंट प्लांट और फैक्ट्रीज के भी स्टैंडर्ड क्वालिटी के लिए जानी जाती है। ब्रोकरेज हाउस रिलायंस सिक्युरिटीज ने जेके लक्ष्‍मी के शेयर के लिए 550 रुपए का लक्ष्‍य रखा है। शेयर का मौजूदा भाव 420 रुपए है। इस लिहाज से शेयर में 31 फीसदी रिटर्न मिल सकता है। 

 

आगे पढ़ें, और किन शेयरों में करें निवेश

 

 

ACC

एसीसी लिमिटेड देश की सीमेंट और रेडी मिक्स्ड कांक्रीट बनाने वाली कंपनी है। कंपनी का नेटवर्क पूरे देश में मजबूत है और हर प्रमुख एरिया में मार्केटिंग ऑफिस है। सचिन सर्वदे ने एसीसी सीमेंट में 1690 रुपए का लक्ष्‍य दिया है। शेयर का मौजूदा भाव 1584 रुपए है। 

 

रैमको सीमेंट

रैमको सीमेंट की मार्केट मजबूत है और कंपनी ईस्ट में अपना एक्सपेंशन कर रही हे। कंपनी की बैलेंसशीट मजबूत है और कर्ज बहुत कम है। कंपनी का साउथ रीजन में भी कनेक्शन मजबूत है। ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल ने द रैमको सीमेंट में 967 रुपए के लक्ष्‍य के साथ निवेश की सलाह दी है। शेयर का करंट प्राइस 829 रुपए है। इस लिहाज से शेयर में 17 फीसदी रिटर्न मिल सकता हे। 

 

अंबुजा सीमेंट
अंबुजा सीमेंट लिमिटेड इंडिया की लीडिंग सीमेंट प्रोड्यूसिंग कंपनी है। कंपनी का प्रोडक्ट की पहुंच घरेलू बाजार में मजबूत है, साथ ही एक्सपोर्ट भी होता है। कंपनी ने पिछले दिनों कास्ट कटिंग के उपाय किए हैं, जिसका फायदा आगे मिलेगा। वहीं, कंपनी का फोकस प्रीमियम प्रोडक्ट पर भी होने का फायदा अंबुजा सीमेंट को मिलेगा। ब्रोकरेज हाउस रिलायंस सिक्युरिटीज ने शेयर के लिए 310 रुपए का लक्ष्‍य रखा है। करंट प्राइस 244 रुपए के लिहाज से शेयर में 27 फीसदी रिटर्न मिल सकता है।

 

डालमिया भारत सीमेंट
डालमिया भारत सीमेंट का वॉल्यूम ग्रोथ हेल्दी है। कंपनी का ऑपरेटिंग कैश फ्लो बेहतर हुआ है। कंपनी अपना कर्ज कम करने में कामयाब रही है और यही ट्रेंड आगे भी जारी रहने की उम्मीद है। ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल ने शेयर में 3350 रुपए के लक्ष्‍य के साथ निवेश की सलाह दी है। शेयर का करंट प्राइस 2840 रुपए है। इस लिहाज से शेयर में 18 फीसदी रिटर्न मिल सकता है। 

 

 

(नोट-निवेश की सलाह एक्सपर्ट्स व ब्रोकरेज हाउस के द्वारा दी गई हैं। कृपया अपने स्तर पर या अपने एक्सपर्ट्स के जरिए किसी भी तरह की सलाह की जांच कर लें। मार्केट में निवेश के अपने जोखिम हैं, इसलिए सतर्कता जरूरी है।)

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट