Home » Market » StocksExperts Suggests to Bullish on Auto Sector for Better Return

ऑटो सेक्टर का मजबूत है आउटलुक, इन स्टॉक्स में मिल सकता है बेहतर रिटर्न

ऑटो सेक्टर का आउटलुक मजबूत है। ऑटो और उससे जुड़े अच्छे शेयरों में लंबी अवधि के लिए निवेश अच्छा रिटर्न दिला सकता है।

1 of

नई दिल्ली. पैसेंजर व्हीकल्स के साथ टू व्हीलर और कमर्शियल व्हीकल्स की डिमांड ग्रोथ मजबूत है। कंपनियों को नए मॉडल लाने का फायदा भी मिल रहा है। वहीं, कंपनियों ने कीमतों में भी बढ़ोतरी की हैं। एक्सपर्ट्स का कहना है कि ऑटो सेक्टर के लिए अभी फेवरेबल माहौल है। सरकार का फोकस इंफ्रा और रूरल एरिया पर है। जिससे ऑटो सेक्टर में डिमांड बढ़ेगी। ऑटो सेग्मेंट में क्रेडिट ग्रोथ इस बात के संकेत भी हैं। फिलहाल ऑटो सेक्टर का आउटलुक मजबूत नजर आ रहा है। ऑटो और उससे जुड़े अच्छे शेयरों में लंबी अवधि के लिए निवेश अच्छा रिटर्न दिला सकता है। 

 

 

स्टैलियन एसेट्स  डॉट कॉम के सीआईओ अमीत जेसवानी का कहना है कि ऑटो सेक्टर में पिछले कुछ महीनों से अच्छा मोमेंटम बना हुआ है। रूरल इकोनॉमी सुधरने से डिमांड बेहतर है। वहीं, सरकार का फोकस रूरल रिकवरी और एमएसपी बढ़ाने पर है, जिससे सेक्टर का सेंटीमेंट और मजबूत हुआ है। बजट में इंफ्रा सेक्टर के लिए काफी कुछ कहा गया है। इंफ्रा एक्टिविटी बढ़ने से ट्रांसपोर्टेशन आदि के कामों में व्हीकल्स की भी डिमांड बढ़ेगी। ट्रेड स्विफ्ट के रिसर्च हेड संदीप जैन टू व्हीलर इंडस्ट्री पर बुलिश हैं। उनका कहना है कि रूरल इकोनॉमी में सुधार से टू व्हीलर की खासी डिमांड रहेगी। इससे टू व्हीलर बनाने वाली कंपनियों का मार्जिन बढ़ने का अनुमान है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि ऑटो में तेजी का फायदा उन कंपनियों को भी मिलेगा जो ऑटो कंपानेंट बनाते हैं। 

 

क्या कहती है रिपोर्ट 
ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल की रिपोर्ट के मुताबिक अनुसार ऑटो सेक्टर में नए प्रोडक्ट्स आने का फायदा मिल रहा है, जिससे सेंटीमेंट्स पॉजिटिव बने हुए हैं। फाइनेंशियर ईयर 2018 में टू-व्हीलर और 4 व्हीलर इंडस्ट्री में ग्रोथ है। स्कूटर और मोटरसाइकिल दोनों सेग्मेंट में ग्रोथ है। ओवरऑल पैसेंजर व्हीकल्स सेग्मेंट में रिटेल ग्रोथ हेल्दी बनी हुई है। कमर्शियल व्हीकल्स में भी ठीक डिमांड है। ब्रोकिंग फर्म के मुताबिक, मौजूदा साल में रूरल डिमांड में मजबूत पिक-अप देखने को मिल रही है। इंडिया में कॉम्पिटीटिव एन्वायरमेंट का भी फायदा सेक्टर को मिल रहा है। 

 

Q4 में मुनाफा बढ़ने का अनुमान
एक्सपर्ट्स का कहना है कि ऑटो कंपनियों की सेल्स बेहतर रही है। पिछले दिनों शादी के सीजन का भी फायदा सेक्टर को मिला है। टू व्हीलर और 4 व्‍हीलर पैसेंजर व्हीकल्स के साथ कमर्शियल व्हीकल सेग्मेंट में अच्छी ग्रोथ है। वहीं टू-व्हीलर और यूटिलिटी व्हीकल्स के आंकड़े भी अच्छे रहे हैं। बिक्री के आंकड़ों से अनुमान है कि चौथे क्वार्टर में कंपनियों का मुनाफा भी अच्छा रहेगा। 

आगे पढ़ें- इन स्टॉक्स में करें निवेश..........

 

बजाज ऑटो
ब्रोकरेज फर्म नोमुरा ने हीरो मोटो पर खरीद की राय दी है। नोमुरा ने हीरो मोटो के लिए 4149 रुपए का लक्ष्य तय किया है। वहीं, ब्रोकरेज हाउस केआर चोकसी ने बजाज ऑटो के लिए 3504 रुपए का लक्ष्‍य तय किया है। रूरल इकोनॉमी में रिकवरी का सबसे ज्यादा फायदा अगर किसी को होगा तो उनमें बजाज ऑटो भी शामिल है। कंपनी टू व्हीलर और थ्री व्हीलर बनाती है। रूरल एरिया में दोनों की डिमांड मजबूत है। आगे किसानों की आय बढ़ने का भी फायदा कंपनी को होगा। 

 

टाटा मोटर्स
टाटा मोटर्स पर भी एक्सपर्ट्स और ब्रोकरेज हाउस बुलिश हैं। कंपनी की पैसेंजर व्हीकल और कमर्शियल व्हीकल मार्केट में डोमेस्टिक प्रेजेंस मजबूत है। कंपनी लग्जरी व्हीकल्स पर भी फोकस कर रही है। कंपनी इलेक्ट्रिक व्हीकल पर भी फोकस कर रही है। कंपनी का प्रति क्वार्टर 50 हजार करोड़ औसतन टर्नओवर है। कंपनी अगले 2 साल में पैसेंजर और कमर्शियल सेग्मेंट में मार्केट शेयर बढ़ाने पर फोकस कर रही है। फॉर्च्यून फिस्कल के डायरेक्टर जगदीश ठक्कर ने शेयर में निवेश की सलाह दी है। वहीं, ब्रोकरेज हाउस प्रभुदास लीलाधर ने शेयर के लिए 483 रुपए का लक्ष्‍य रखा है। 

 

अमरा राजा बैटरी
अमरा राजा बैटरी भारत में बैटरी बनाने वाली लीडिंग कंपनियों में शामिल है। कंपनी इन्वर्टर और ऑटोमोबाइल दोनों के लिए बैटरी तैयार करती है। ऑटो सेक्टर में डिमांड बढ़ने से कंपनी को मजबूत डिमांड मिलने की उम्मीद है। ब्रोकरेज हाउस चोलामंडलम सिक्युरिटीज ने शेयर के लिए 945 रुपए का लक्ष्‍य रखा है। 

 

अशोक लेलैंड
अशोक लेलैंड भारत में दूसरी बड़ी कमर्शियल व्हीकल मैन्युफैक्चरर कंपनी है। ब्रोकरेज हाउस इडेलवाइस का मानना है कि आने वाले दिनों में इंफ्रा एक्टिविटी बढ़ने से हैवी व्हीकल्स की डिमांड बढ़ेगी। कंपनी इंडस्ट्रियल और मैरिन एप्लीकेशंस के लिए स्पेयर पाटर्स और इंजन भी बनाती है। कंपनी का फोकस लाइट कमर्शियल व्हीकल्स पर भी है, जिससे मार्केट शेयर बढ़ाने का मौका मिलेगा। इंफ्रा पर काम बढ़ने से कंपनी का ऑर्डरबुक भी मजबूत होगा। कंपनी ने रेवेन्यू पोट्रफोलियो डाइवर्सिफाई भी किया है। ब्रोकरेज हाउस ने शेयर के लिए 175 रुपए का लक्ष्‍य दिया है। 

 

(नोट- दी गई निवेश सलाह मार्केट एक्सपर्ट्स और ब्रोकरेज हाउस के द्वारा जारी की गई रिपोर्टेस पर आधारित हैं। निवेश के फैसले से पहले अपने स्तर पर भी इन सलाह की जांच कर लें। मार्केट में निवेश के अपने जोखिम हैं, ऐसे में निवेश से पहले सतर्कता जरूरी है।)

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट