बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksऊंचे स्तरों से गिरावट के बाद मिडकैप में बने मौके, ये शेयर दे सकते हैं 50% तक रिटर्न

ऊंचे स्तरों से गिरावट के बाद मिडकैप में बने मौके, ये शेयर दे सकते हैं 50% तक रिटर्न

कई मिडकैप शेयर महंगे हैं, लेकिन कुछ क्वालिटी शेयर हैं, जो अच्छे वैल्युएशन पर हैं।

1 of

नई दिल्ली। ऊंचे वैल्युएशन पर पहुंचने के बाद मिडकैप शेयरों में बिकवाली बनी हुई है। साल 2018 में अबतक बीएसई मिडकैप इंडेक्स में 12 फीसदी की गिरावट आ चुकी है। इस दौरान इंडेक्स में शामिल शेयर 80 फीसदी तक करेक्ट हो चुके हैं। एक्सपर्ट्स का       कहना है कि अभी भी कई मिडकैप शेयर महंगे हैं, लेकिन कुछ क्वालिटी शेयर हैं, जो अच्छे वैल्युएशन पर हैं। इकोनॉमी में अच्छे ग्रोथ की उम्मीद है, जिससे घरेलू स्तर पर डीआईआई द्वारा निवेश की ज्यादा दिक्कत नहीं दिख रही है। बेहतर मानसून के संकेत से भी आगे डिमांड बढ़ने की उम्मीद है। ऐसे में मिडकैप शेयरों में लंबी अवधि के लिहाज से निवेश के मौके बने हैं। कर्नाटका बैंक‍, पेट्रोनेट LNG, क्रॉम्पटन ग्रीव्स, कॉनकोर, चोलामंडलम इन्वेस्टमेंट एंड फाइनेंस में अच्छा रिटर्न मिल सकता है। 

Stock Market Live: सेंसेक्स 150 अंक बढ़ा, निफ्टी 10550 के पार, IT स्टॉक्स में उछाल

 

क्यों आई है गिरावट
पिछले साल कई मिडकैप शेयर मल्टीबैगर के रूप में सामने आए थे। बेहतर मैक्रो इकोनॉमी के चलते डीआईआई द्वारा शेयर बाजार में निवेश लगातार बढ़ा। जिसकी वजह से मिडकैप और समालकैप शेयरों में तेजी आई। लेकिन ऊंचे वैल्युएशन पर मुनाफा वसूली और घरेलू निवेशकों द्वारा निवेश में सुसस्ती की वजह से मिडकैप और स्मालकैप शेयरों पर दबाव बढ़ा। जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के रिसर्च हेड विनोद नायर का कहना है कि तिमाही नतीजे उम्मीद से कुछ कमजोर रहने से निवेशकों का सेंटीमेंट कमजोर रहा है। वहीं, हाई वैल्युएशन की वजह से मिडकैप और स्मालकैप इंडेक्स में कमजोरी दिख रही है। ट्रेड स्विफ्ट के रिसर्च हेड संदीप जैन के अनुसार अर्निंग सीजन में मिडकैप शेयरों में उम्मीद के मुताबिक अर्निंग नहीं दिखी है, जिसकी वजह से भी बिकवाली देखी गई। लेकिन अभी इनमें अच्छा करेक्शन आ चुका है, जिससे वैल्युएशन आकर्षक दिख रहे हैं। 

 

इकोनॉमी में ग्रोथ का अनुमान 
एक्सपर्ट्स का कहना है कि इकोनॉमी में अच्छी ग्रोथ की उम्मीद है। मानसून बेहतर रहने का अनुमान जताया गया है। कंजम्पशन थीम में कोई परेशानी नहीं है। जीएसटी का असर खत्म हो चुका है। डोमेस्टिक लेवल पर आगे सेंटीमेंट सुधरने की उम्मीद है। ऐसे में घरेलू निवेशकों की सुस्ती दूर होगी, जिसका फायदा मिडकैप को मिलेगा और उनकी अर्निंग ग्रोथ भी बेहतर रह सकती है। मौजूदा दौर में कंज्म्पशन और रुरल इकोनॉमी वाली कंपनियों पर फोकस किया जा सकता है। प्राइवेट फाइनेंशियल कंपनियों के शेयर भी ठीक दिख रहे हैं। 

 

किन शेयरों में करें निवेश

 

कर्नाटक बैंक‍
रिटर्न अनुमान: 41%
कर्नाटका बैंक का मुनाफा चौथी तिमाही में कम हुआ है लेकिन बिजनेस में 17.59 फीसदी ग्रोथ है। क्रेडिट ग्रोथ सालाना आधार पर 27 फीसदी रही है। वहीं, बैंक ने अपने ज्यादातर फंसे हुए कर्ज की पहचान कर ली है, जिसके जरिए अपनी बुक क्लीन करने में लगा है। बैंक की ऑपरेटिंग प्रॉफिट ग्रोथ करीब 48 फीसदी रही है। ब्रोकरेज हाउस इडलेवाइस ने शेयर में 163 रुपए के लक्ष्‍य के साथ निवेश की सलाह दी है। शेयर की मौजूदा कीमत 116 रुपए के लिहाज से इसमें 41 फीसदी रिटर्न की उम्मीद है। 

 

पेट्रोनेट LNG
रिटर्न अनुमान: 50%

पेट्रोनेट एलएनजी एनर्जी सेक्टर में तेजी से ग्रोथ करने वाली वर्ल्ड क्लास कंपनी है। कंपनी लिक्विफाइड गैस की बिगेस्ट इंपोर्टर है। कंपनी ने देश का पहला एलएनजी रीसिविंग और रीगैसिफिकेशन टर्मिनल दाहेज में शुरू किया था। कंपनी मुनाफे का कारोबार कर रही है। चौथी तिमाही में कंपनी को रिकॉर्ड 523 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ है। कंपनी की कैपेसिटी यूटिलाइजेशन की क्षमता बढ़ी है। कोच्चि प्लांट में इंप्रूवमेंट हुआ है। लोअर कास्ट स्ट्रैटेजी से कंपनी फायदे में है। दाहेज प्लांट का विस्तार हो रहा है। ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल ने शेयर के लिए 317 रुपए का लक्ष्‍य तय किया है। शेयर की मौजूदा कीमत 211 रुपए के लिहाज से शेयर में 50 फीसदी रिटर्न मिल सकता है। 

आगे पढ़ें, और किन शेयरों में करें निवेश.....

 

क्रॉम्पटन ग्रीव्स
रिटर्न अनुमान: 19%

क्रॉम्पटन ग्रीव्स मल्टीनेशनल कंपनी है जो पावर जेनरेशन, ट्रांसमिशन से जुड़े प्रोडक्ट की मैन्युफैक्चरिंग, डिजाइनिंग और मार्केटिंग में है। के चौथी तिमाही के नतीजे बेहतर रहे हें और कंपनी की ग्रोथ डबल डिजिट में रही है। इस दौरान कंपनी को 103 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ जो सालाना आधार पर 32 फीसदी ज्यादा है। कंपनी अपना माके्रट शेयर बढ़ाने में लगी है। मैनेजमेंट रिटेल एक्सपेंशन की स्ट्रैटेजी पर काम कर रहा है। कंपनी का फोकर प्रोडक्ट इनोवेशन पर भी है। ब्रोकरेज हाउस इडेलवाइस ने शेयर के लिए 280 रुपए का लक्ष्‍य दिया है। करंट प्राइस 236 रुपए के लिहाज से शेयर में 19 फीसदी का रिटर्न मिल सकता है। 

 

कॉनकोर
रिटर्न अनुमान: 13%

कंटेनर कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया पब्लिक सेक्टर की नवरत्न कंपनी है। कंपनी रेल मिनिस्ट्री के तहत ऑपरेट करती है। कंपनी का कोर बिजनेस कार्गो कैरियर, टर्मिनल ऑपरेटर, वेयर हाउस ऑपरेटर और एमएमएलपी ऑपरेशन में है। चौथी तिमाही में कंपनी का रेवेन्यू सालाना आधार पर 12 फीसदी बढ़कर 1559 करोड़ रुपए रहा है। डोमेस्टिक रेवेन्यू 16 फीसदी बढ़ा है। आगे लॉजिस्टिक सेक्टर में डिमांड बढ़ने का फायदा कंपनी को होगा। ब्रोकरेज हाउस आईसीआईसीआई डायरेक्ट ने शेयर के लिए 1560 रुपए का लक्ष्‍य दिया हे। करंट प्राइस 1383 रुपए के लिहाज से शेयर में 13 फीसदी रिटर्न मिल सकता है। 

 

चोलामंडलम
रिटर्न अनुमान: 29%

चोलामंडलम इन्वेस्टमेंट एंड फाइनेंस कंपनी लिमिटेड इक्विपमेंट फाइनेंस कंपनी है। यह व्हीकल फाइनेंस, होमलोन, होम इक्विटी लोन, एसएमई लोन और दूसरे कई मद में कस्टमर्स को यह सर्विस दे रही है। कंपनी के देश्भर में 873 ब्रांच हैं। कंपनी का बिजनेस मॉडल बेहतर है। कस्टमर्स की संख्‍या भी अच्छी है। कंपनी के तिमाही नतीजे बेहतर रहे हैं और पैट 32 फीसदी सालाना आधार पर बढ़कर 290 करोड़ रुपए रहा है। ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल ने शेयर के लिए 1930 रुपए का लक्ष्‍य दिया है। करंट प्राइस 1492 रुपए के लिहाज से शेयर में 29 फीसदी रिटर्न मिल सकता है। 

 

(नोट-निवेश की सलाह ब्रोकरेज हाउस के द्वारा दी गई हैं। कृपया अपने स्तर पर या अपने एक्सपर्ट्स के जरिए किसी भी तरह की सलाह की जांच कर लें। मार्केट में निवेश के अपने जोखिम हैं, इसलिए सतर्कता जरूरी है।)

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट