बिज़नेस न्यूज़ » Market » StocksStock Market: निफ्टी 10600 के नीचे, सेंसेक्स 179 अंक गिरकर बंद, बैंक-रियल्टी में तेज गिरावट, रिकॉर्ड लो पर रुपया

Stock Market: निफ्टी 10600 के नीचे, सेंसेक्स 179 अंक गिरकर बंद, बैंक-रियल्टी में तेज गिरावट, रिकॉर्ड लो पर रुपया

क्रूड की बढ़ती कीमतों और ट्रेड वार बढ़ने की आशंकाओं के चलते एफ एंड ओ एक्सपायरी के पहले घरेलू बाजार की कमजोर शुरूआत हुई।

Stock Market Updates: market open in negative mode ahead of F&O expiry

नई दिल्ली.  रुपए में बड़ी गिरावट, क्रूड की ऊंची कीमतों और ट्रेड वार की आशंकाओं के चलते घरेलू स्टॉक मार्केट में तेज गिरावट रही। कारोबार के अंत में सेंसेक्स 179 अंक टूटकर 35038 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं, निफ्टी 82 अंक टूटकर 10589 के स्तर पर बंद हुआ। कारोबार में चौतरफा बिकवाली दिख रही है। मिडकैप इंडेक्स 200 अंकों से ज्यादा टूटा है। बैंक, फार्मा और रियल्टी शेयरों में सबसे ज्यादा गिरावट है। निफ्टी पर मेटल को छोड़कर सभी इंडेक्स लाल निशान में हैं। बुधवार को सेंसेक्स 273 अंक गिरकर तीन हफ्ते के निचले स्तर 35,217 पर बंद हुआ। वहीं, निफ्टी 98 अंक टूटकर 10,671 के स्तर पर क्लोज हुआ।

 

 

 

किन शेयरों में तेजी, किनमें गिरावट
गुरूवार के कारोबार के दौरान महिंद्रा एंड महिंद्रा, इंफोसिस, टाटा स्टील, एचसीएल टेक, वकरांगी, सिंफनी, CONCORए ट्राइडेंट और इप्कालैब के शेयरों में करीब 5 फीसदी तक तेजी दिख रही है। वहीं, ग्रैसिम, हिंदुस्तान पेट्रसेलियम, एनटीपीसी, कोल इंडिया, बीपीसीएल, पीएनबी हाउसिंग, डीबीएल, क्वालिटी और स्वान एनर्जी के शेयरों में 5.46 फीसदी तक गिरावट रही है। 

 

दबाव में मिडकैप और स्मालकैप

कारोबार के दौरान बीएसई मिडकैप और स्मालकैप इंडेक्स में दबाव दिखा। बीएसई मिडकैप इंडेक्स में 150 अंकों यानी करीब 1 फीसदी गिरावट रही। स्मालकैप इंडेक्स में 186 अंकों यानी 1.17 फीसदी की गिरावट रही है। 
वहीं, कारोबार के दौरान निफ्टी पर रियल्टी इंडेक्स में 2.75 फीसदी, पीएसयू बैंक इंडेक्स में 0.95 फीसदी, प्राइवेट बैंक इंडेक्स में 0.56 फीसदी, निफ्टी बैंक में 0.44 फीसदी और फार्मा इंडेक्स में 0.55 फीसदी गिरावट रही है। मेटल को छोड़कर दूसरे इंडेक्स भी लाल निशान में चले गए। 

 

 

रुपया 69 प्रति डॉलर के करीब, सबसे निचला स्तर 
क्रूड की कीमतों में बढ़ोत्तरी से करंट अकाउंट डेफिसिट और महंगाई बढ़ने की आशंकाओं का असर रुपए पर पड़ रहा है। गुरूवार को रुपया 28 पैसे कमजोर होकर 68.89 प्रति डॉलर पर खुला। यह रुपए में अबतक की सबसे बड़ी गिरावट है।  एक्सपर्ट्स आशंका जता रहे हैं कि आज के कारोबार में रुपया 69 प्रति डॉलर का स्तर पार कर सकता है। इसके पहले बुधवार को रुपया अपने 19 महीने के निचले स्तर पर पहुंच गया था। कारोबार के दौरान रुपया 37 पैसे कमजोर होकर प्रति डॉलर 68.61 के स्तर पर बंद हुआ। यह 24 नवंबर, 2016 के बाद का सबसे निचला स्तर था। 

 

 

Live Update

  • 28-06-2018 | 04:02 PM

    52 हफ्ते के हाई पर इंफोसिस

    देश की दूसरी बड़ी इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी कंपनी इंफोसिस का स्टॉक 52 हफ्ते की नई ऊंचाई पर पहुंच गया। गुरुवार को बीएसई पर कंपनी का स्टॉक 2.28 फीसदी बढ़कर 1298.20 रुपए के भाव पर पहुंच गया, जो 52 हफ्ते का नया हाई है। रुपए में रिकॉर्ड कमजोरी की वजह से आईटी कंपनी के स्टॉक में तेजी आई है। गुरुवार को रुपया पहली बार 69 प्रति डॉलर के स्तर को पार कर गया। अमेरिका आईटी कंपनियों का बड़ा मार्केट है और रुपए में कमजोरी से कंपनियों की रुपए में अर्निंग बढ़ेगी।



     


  • 28-06-2018 | 02:01 PM

    ग्लोबल बाजारों में भी दबाव

    गुरूवार को एशियाई बाजारों में कमजेारी दिख रही है, वहीं यूरोप के बाजार भी दबाव में दिख रहे हैं। निक्केई, ताइवान वेटेड, KOSPI और शंघाई कंपोजिट में 1 फीसदी तक गिरावट है। वहीं, स्ट्रेट टाइम्स और हैंगशैंग में हल्की तेजी है। यूरोपीय बाजारों में भी दबाव दिख रहा है। FTSE, DAX लाल निशान में हैं। वहीं, CAC40 में हल्की बढ़त है। बुधवार को डाऊ जोंस 165 अंक कमजोरी के साथ तो नैसडैक 116 अंक कमजोरी के साथ बंद हुआ। 



     


  • 28-06-2018 | 01:33 PM

    डिविडेंड कैंसल करने से इंडियन बैंक में गिरावट

    गुरूवार को इंडियन बेंक के शेयरों में 3.5 फीसदी गिरावट दर्ज की गई। बैंक ने 6 रुपए प्रति शेयर डिविडेंड देने का ऐलान किया था, जिसे कैंसल करने का पुैसला लिया है। इसके बाद निवेशकों में इंडियन बैंक के स्टॉक को लेकर सतर्क रुख बन गया। आज के कारोबार में स्टठॉक ने 348.70 रुपए का हाई और 332 रुपए का लो टच किया। 



     


  • 28-06-2018 | 01:26 PM

    ब्रेंट क्रूड 78 डॉलर प्रति बैरल के करीब

    ओपेक देशों द्वारा रोजाना 10 लाख बैरल क्रूड सप्लाई बढ़ाने के फैसले के बाद भी क्रूड की कीमतों में तेजी जारी है। बुधवार को कारोबार के दौरान क्रूड 78 डॉलर प्रति बैरल का स्तर पार कर गया। वहीं, अभी भी क्रूड 77.50 डॉलर के स्तर पर बना हुआ है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि अभी क्रूड सप्लाई बढ़ाने के फैसले को अमल में लाने को लेकर संशय बना हुआ है। जिसकी वजह से क्रूड में तेजी जारी है। वहीं, यूएस ने इंपोर्ट करने वाले देशों से कहा है कि वे ईरान से तेल न खरीदे। दूसरी ओर इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड की डिमांड के हिसाब से सप्लाई नहीं हो पा रही है। जिसकी वजह से क्रूड में तेजी जारी है। 



     


prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट