विज्ञापन
Home » Market » StocksStock market open flat as mix global trading sentiments

Stock Market: निचले स्तरों से सुधरा मार्केट, सेंसेक्स 159 अंक टूटा, निफ्टी 10650 के पार बंद, मेटल स्टॉक्स में गिरावट

ग्लोबल मार्केट में मिले-जुले संकेतों के चलते साल 2018 के दूसरी छमाही में घरेलू बाजार में गिरावट दिख रही है।

Stock market open flat as mix global trading sentiments
ग्लोबल मार्केट में मिले-जुले संकेतों के चलते साल 2018 के दूसरी छमाही में घरेलू बाजार में गिरावट दिख रही है। कारोबार के दौरान बिकवाली तेज होने से मार्केट में गिरावट बढ़ गई। सेंसेक्स 215 अंकों की कमजोरी के साथ 35151 के स्तर पर आ गया। वहीं, निफ्टी भी 95 अंक टूटकर 10619 के स्तर पर कारोबार कर रहा है। ग्लोबल ट्रेड वार की आशंकाओं के चलते मार्केट में चौतरफा बिकवाली है।

नई दिल्ली। ट्रेडिंग के आखिरी घंटे में खरीददारी लौटने से मार्केट में निचले स्तरों से सुधार हुआ। इंफोसिस और आईसीआईसीआई बैंक में तेजी से मार्केट को सपोर्ट मिला। कारोबार के अंत में सेंसेक्स 159 अंक टूटकर 35264 के स्तर पर बंद हुआ। वहीं, निफ्टी 57 अंक टूटकर 10657 के स्तर पर बंद हुआ। कारोबार के अंत में सिर्फ पीएसयू बैंक और ऑटो इंडेक्स ही हरे निशान में बंद हुए। मेटल इंडेक्स में सबसे ज्यादा 1.79 फीसदी गिरावट रही। 

 

सुबह ग्लोबल मार्केट में मिले-जुले संकेतों के चलते साल 2018 के दूसरी छमाही में घरेलू बाजार की फ्लैट शुरूआत हुई। हालांकि कारोबार के दौरान बिकवाली तेज होने से मार्केट में गिरावट बढ़ गई। सेंसेक्स 300 अंकों की कमजोरी के साथ 35124 के स्तर पर पहुंच गया। वहीं, निफ्टी भी 104 अंक टूटकर 10610 के स्तर पर आ गया था। 

 

 

किन शेयरों में तेजी, किनमें गिरावट

कारोबार के दौरान टाटा स्टील, बजाज ऑटो, टाटा मोटर्स, हिंदुस्तान पेट्रोलियम, टेक महिंद्रा, मारूति सुजुकी, बीपीसीएल, टाइटन कंपनी और इंफोसिस में करीब 3 फीसदी तक तेजी है। वहीं, वेदांता, आयशर मोटर्स, एलटीपीसी, गेल, आईटीसी, भारती एयरटेल, एल एंड टी, कोल इंडिया और नाल्कों में 3 फीसदी से ज्यादा गिरावट है। 

 

मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में भी दबाव नजर आ रहा है। बीएसई का मिडकैप इंडेक्स 0.1 फीसदी चढ़ा है, जबकि निफ्टी का मिडकैप 100 इंडेक्स सपाट नजर आ रहा है। बीएसई के स्मॉलकैप इंडेक्स 0.1 फीसदी तक तेजी है। 

 

बैंक, मेटल और एफएमसीजी में तेज गिरावट

कारोबार के दौरान बैकं, मेटल और कंजम्पशन बेस्ड शेयरों में तेज गिरावट दिखी। निफ्टी पर 11 में से 9 इंडेक्स लाल निशान में बंद हुए। मेटल इंडेक्स में 1.79 फीसदी, रियल्टी में 1.39 फीसदी की गिरावट रही। प्राइवेट बैंक इंडेक्स में 0.46 फीसदी, निफ्टी बैंक में 0.55 फीसदी, फार्मा में 0.43 फीसदी और एफएमसीजी इंडेक्स में 0.65 फीसदी की गिरावट रही। पीएसयू बैंक इंडेक्स में 0.07 फीसदी और आईटी इंडेक्स में 0.59 फीसदी की तेजी रही। 

 

 

रुपए में 13 पैसों की रिकवरी

डॉलर के मुकाबले रुपए की शुरुआत सोमवार को 2 पैसे की कमजोरी के साथ हुई। हालांकि कारोबार के दौरान डॉलर की फ्रेश सेलिंग के चलते इसमें रिकवरी आई। कारोबार के दौरान रुपया 13 पैसों की मजबूती के साथ 68.33 प्रति डॉलर के स्तर पर है। वहीं, पिछले कारोबारी दिन यानी शुक्रवार को रुपए में रिकवरी देखने को मिली थी। डॉलर के मुकाबले रुपया 33 पैसे की मजबूती के साथ 68.46 के स्तर पर बंद हुआ। गुरूवार को रुपए ने ऑलटाइम लो टच किया था और पहली बार 69 प्रति डॉलर का भाव पार किया था। क्रूड की ऊंची कीमतों  और करंट अकाउंट डेफिसिट व महंगाई बढ़ने की आशंकाओं से रुपए को लेकर सेंटीमेंट्स सतर्क दिख रहा है। 

 

ब्रेंट क्रूड 78 डॉलर प्रति बैरल के करीब 
ओपेक देशों द्वारा रोजाना 10 लाख बैरल क्रूड सप्लाई बढ़ाने के फैसले के बाद भी क्रूड की कीमतों में तेजी जारी है। अभी क्रूड 78 डॉलर प्रति बैरल से ऊपर बना हुआ है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि अभी क्रूड सप्लाई बढ़ाने के फैसले को अमल में लाने को लेकर संशय बना हुआ है। हालांकि ऐसी खबरें आ रही हैं कि जरूरत पड़ने पर सऊदी अरब सप्लाई बढ़ा सकता है, जिससे क्रूड में नरमी के संकेत मिल रहे हैं। 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन