बिज़नेस न्यूज़ » Market » StocksRIL 7 लाख करोड़ मार्केट कैप वाली बनी दूसरी कंपनी, टीसीएस का मार्केट कैप सबसे ज्यादा 7.62 लाख करोड़

RIL 7 लाख करोड़ मार्केट कैप वाली बनी दूसरी कंपनी, टीसीएस का मार्केट कैप सबसे ज्यादा 7.62 लाख करोड़

रिलायंस इंडस्‍ट्रीज का मार्केट कैप इससे पहले अक्‍टूबर 2007 में पहली बार 100 अरब डॉलर के पार गया था।

RIL stock rose up to 2.2 per cent, market cap crosses 7 lakh cr

नई दिल्ली। शुक्रवार को इंट्रा डे के दौरान रिलायंस इंडस्ट्रील लिमिटेड (RIL) का मार्केट कैप 7 लाख करोड़ रुपए पहुंच गया। आरआईएल 7 लाख करोड़ मार्केट कैप वाली देश की दूसरी कंपनी बन गई है। अभी टीसीएस का मार्केट कैप सबसे ज्यादा 7.62 लाख करोड़ रुपए है। बता दें कि पिछले ट्रेडिंग सेशन में आरआईएल 100 अरब डॉलर मार्केट कैप पार करने वाली टीसीएस के बाद देश की दूसरी कंपनी बनी थी। आरआईएल का मार्केट कैप गुरूवार को 6.89 लाख करोड़ रुपए पहुंच गया था। रिलायंस इंडस्‍ट्रीज का मार्केट कैप इससे पहले अक्‍टूबर 2007 में पहली बार 100 अरब डॉलर के पार गया था। उस समय एक डॉलर की कीमत 39.5 रुपए थी। 

 

 

स्टॉक में 2.20 फीसदी तेजी
पिछले कुछ दिनों से रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में जो तेजी बनी हुई है, वह शुक्रवार को भी जारी रही। शुक्रवार के कारोबार में आरआईएल के शेयर में  सुबह 10 बजे के करीब 2.20 फीसदी तक की तेजी दिखी। आरआईएल ने आज के कारोबार में 1107 रुपए तक भाव टच किया। शेयर का भाव 1106 रुपए पर पहुंचते ही कंपनी का मार्केट कैप 7 लाख करोड़ रुपए के पार हो गया और कंपनी टीसीएस के बाद 7 लाख करोड़ लाख क्लब में शामिल होने वाली दूसरी कंपनी बन गई। फिलहाल आरआईएल का शेयर 1101 रुपए के भाव पर कारोबार कर रहा है। 
 
AGM के बाद लगातार तेजी
रिलायंस इंडस्ट्रीज ने पिछले हफ्ते होने वाली एजीएम के दौरान कुछ नए प्लान का ऐलान किया था। कंपनी के एग्रेसिव प्लान की वजह से शेयर में तेजी बनी हुई है। आरआईएल का शेयर 5 जुलाई को जहां 965 रुपए के भाव पर था, वह 12 जुलाई यानी गुरूवार को 1082 रुपए के भाव पर पहुंच गया। वहीं, शुक्रवार को यह 1107 रुपए तक के भाव पर पहुंच गया। यानी एजीएम के बाद शेयर में करीब 14.7 फीसदी तक तेजी आई है।  

 

गोल्डमैन सॉक्श ने दी खरीद की सलाह
ग्लोबल ब्रोकरेज हाउस गोल्डमैन सॉक्श ने रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर में अगले कुछ महीनों में 1340 रुपए का टारगेट दिया है। गुरूवार के क्लोजिंग प्राइस 1082 रुपए के हिसाब से शेयर में आगे 24 फीसदी रिटर्न मिल सकता है। रिपोर्ट के अनुसार मौजूदा फाइनेंशियल की पहली तिमाही में आरआईएल का एबिटडा सालाना आधापर 45 फीसदी बढ़ सकता है। वहीं, तिमाही आधार पर भी इसमें 2 फीसदी ग्रोथ दिख सकती है। पेटकोक गैसिफिकेशन से रिलायंस इंडस्ट्रीज को रिफाइनिंग मार्जिन बढ़ाने में मदद मिलेगी।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट