Home » Market » StocksICEX seek Sebi approval for future trading in petrol, disel

अब पेट्रोल-डीजल में शुरू होगा वायदा कारोबार, सेबी से मंजूरी मिलने का इंतजार

आने वाले दिनों में पेट्रोल-डीजल में वायदा कारोबार शुरू हो सकता है।

1 of

नई दिल्ली। आने वाले दिनों में पेट्रोल-डीजल में वायदा कारोबार शुरू हो सकता है। ऑयल मिनिस्ट्री ने पहले ही इंडियन कमोडिटी एक्सचेंज (ICEX) को पेट्रोल-डीजल के वायदा कारोबार को मंजूरी दे चुका है। हालांकि इस पर अंतिम फैसला मार्केट रेग्युलेटर सेबी को लेना है। अगर   सेबी इस पर फैसला दे देता है तो पेट्रोल-डीजल की खरीद और बिक्री एक्सचेंज पर शुरू हो जाएगी। 

 

इस बार में कमोडिटी डेरिवेटिव एक्सचेंज ICEX के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ संजीत प्रसाद ने जानकारी दी है। ऑफिशियल के अनुसार ICEX  ने ऑयल मिनिस्ट्री से पेट्रोल और डीजल में वायदा कारोबार शुरू करने का इजाजत मांगी थी। ऑयल मिनिस्ट्री ने इसके लिए इन-प्रिंसिपल अप्रूवल भी दे दिया है। हालांकि अब गेंद सेबी के पाले में है। सेबी भी मंजूरी दे देता है तो एक्सचेंज पर पेट्रोल-डीजल में ट्रेडिंग शुरू हो जाएगी। ऐसा होने पर कोई भी तय नियमों के मुताबिक एक्सचेंज के प्लेटफॉर्म पर पेट्रोल और डीजल में खरीदारी या बिकवाली शुरू कर सकेगा।

 

कीमतों में स्थिरता की उम्मीद: ICEX
वायदा कारोबार शुरू होने पर तेल कीमतों में होने वाले उतार-चढ़ाव को थामने में मदद मिलेगी। इंडियन कमोडिटी एक्सचेंज (आईसीईएक्स) ने पेट्रोल और डीजल के फ्यूचर कॉन्ट्रेक्ट लॉन्च करने के लिए सेबी की मंजूरी मांगी थी। इसके बाद सेबी ने पेट्रोलियम मंत्रालय से इस पर राय मांगी । मंत्रालय ने आईसीएक्स से प्रजेंटेशन देने के लिए कहा था। प्रसाद ने कहा कि सेबी की मंजूरी के बाद हम जल्द फ्यूचर कॉन्ट्रैक्ट लॉन्च करेंगे। इसके लिए हमारे पास पर्याप्त सुविधाएं मौजूद हैं।

 

कैसे होगी पेट्रोल-डीजल में ट्रेडिंग 
कमोडिटीज की खरीद-बिकवाली के लिए एक्सचेंजों पर होने वाले कारोबार को वायदा कारोबार कहते हैं। आमतौर पर हर कमोडिटी के अलग-अलग सौदे होते हैं। वायदा कारोबार में कारोबारी अपनी सुविधानुसार खरीदारी और बिकवाली करते हैं। इसकी शर्त यह है कि आपको खरीदारी या बिकवाली कम से कम एक लॉट की करनी होगी। इसके लिए आपको तय मार्जिन भी देना होता है। वायदा कारोबार में जहां मुनाफा मिलता है, वहीं इसमें जोखिम भी होता है। 

 

कमोडिटी एक्सचेंज प्लेटफॉर्म पर कमोडिटी को खरीदा जा सकता है। कमोडिटीज को अपने पास रखने की जरूरत नहीं होती है। निवेशक पैसे देकर एक्सचेंज के प्लेटफॉर्म पर खरीददारी या बिकवाली करते हैं। अगर उन्हें उस कमोडिटी की जरूरत नहीं होती है तो वह वायदा एक्सपायर होने से पहले अपना सौदा काट सकते हैं या फिर अगले वायदा में ट्रांसफर कर सकते हैं। इसी तरह से पेट्रोल-डीजल में भी ट्रेडिंग होगी। 

 

पेट्रोल-डीजल में कमाई का मिलेगा मौका
अबतक आम आदमी को पेट्रोल-डीजल में सिर्फ जेब ढीली करनी पड़ती है, लेकिन वायदा कारोबार में इसके जरिए कमाई करने का भी मौका मिलेगा। एक्सचेंज पर वायदा कारोबार शुरू हाने पर आपको मौका मिलेगा कि आप पेट्रोल-डीजल की कीमतें घटने पर खरीद लें और जब उसकी कीमत बढ़े तो उसे बेचकर मुनाफा कमाएं। 

 

पेट्रोल-डीजल की कीमतें आसमान पर

क्रूड कीमतों में गिरावट के बावजूद लगातार 15वें दिन देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोत्तरी हुई। सोमवार को मुंबई में पेट्रोल की कीमतें 86 रुपए प्रति लीटर के पार हो गई। सोमवार को पेट्रोल की कीमतें 15 पैसे और डीजल की  कीमतें 11 पैसे प्रति लीटर बढ़ी है। दिल्ली में पेट्रोल की कीमतें 15 पैसे बढ़कर 78.27 रुपए और मुंबई में 86.08 रुपए प्रति लीटर के स्तर पर पहुंच गईं। इस प्रकार लगातार 15वें दिन कीमतों में बढ़ोत्तरी के साथ पेट्रोल और डीजल ने देश में नया रिकॉर्ड बना दिया है।

 

मेट्रो शहरों में पेट्रोल-डीजल की नई कीमतें
इंडियन ऑयल की वेबसाइट के मुताबिक, पेट्रोल की नई कीमतें दिल्ली में 78.27 रुपए, कोलकाता में 80.91 रुपए, मुंबई में 86.08 रुपए और चेन्नई में 81.26 रुपए प्रति लीटर होंगी।
वहीं डीजल की कीमतें दिल्ली में 69.17 रुपए, कोलकाता में 71.72 रुपए, मुंबई में 73.64 रुपए और चेन्नई में 73.03 रुपए होंगी। राज्यों द्वारा लगाई जाने वाली लेवीज के कारण राज्यों में दोनों फ्यूल की कीमतें अलग-अलग होती हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट