Home » Market » StocksExperts seen some profit booking in next some trading session

एक्सपायरी वीक में दिख सकती है प्रॉफिट बुकिंग, इन फैक्टर्स पर रहेगी मार्केट की नजर

लंबी अवधि के नजरिए से मार्केट का आउटलुक बेहतर है, ऐसे में प्रॉफिट बुकिंग का इस्तेमाल निवेश के लिए करने की सलाह है।

1 of

नई दिल्ली। बैंकिंग सेक्टर में कमजोरी और ग्लोबल टेंशन के बाद भी पिछले हफ्ते शेयर मार्केट की चाल पॉजिटिव रही है। इस दौरान सेंसेक्स 0.65 फीसदी मजबूत होकर 34415 और निफ्टी 0.80 फीसदी की तेजी के साथ 10564 के स्तर पर बंद हुआ। एक्सपर्ट्स का कहना है कि एक्सपायरी वीक में क्रूड और रुपए के मूवमेंट के अलावा ग्लोबल टेंशन, सेंट्रल बैंकों की पॉलिसी से मार्केट पर दबाव दिख रहा है, जिससे प्रॉफिट बुकिंग देखी जा सकती है। हालांकि निफ्टी को नीचे की ओर से 10450 के स्तर पर अहम सपोर्ट दिख रहा है। उनका कहना है कि लंबी अवधि के नजरिए से मार्केट का आउटलुक बेहतर है, ऐसे में प्रॉफिट बुकिंग का इस्तेमाल निवेश के लिए करने की सलाह है। 

 

 

एक्सपर्ट्स का कहना है कि इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड अपने 4 साल के हाई पर है। वहीं, रुपया 13 महीने के लो 66.12 के स्तर पर है। दूसरी ओर यूएस में 10 साल का बॉन्ड यील्ड में फिर तेजी देखी जा रही है। इंडिया में भी बॉन्ड यील्ड में तेजी है। ऐसे में महंगाई बढ़ने का डर बन गया है। वहीं, ग्लोबल फ्रंट पर यूरोपीयन सेंट्रल बैंक और बैंक ऑफ जापान इस हफ्ते पॉलिसी पर अहम निर्णय ले सकते हैं, जिसके पहले निवेशक सतर्क हैं। ग्लोबल टेंशन से भी दुनियाभर के बाजारों पर दबाव दिखेगा। सैमको सिक्युरिटीज के सीईओ एंड फाउंडर जिमित मोदी के अनुसार सीरिया मैटल, ट्रेड वार, क्रूड में तेजी, रुपए में कमजोरी, लिमिटेड फिस्कल फ्लेक्सिबिलिटी जैसे फैक्टर से अगले कुछ ट्रेडिंग सेशन मार्केट के सीमित दायरे में ही कारोबार करने की उम्मीद है। 

 

क्रूड होगा बड़ा फैक्टर 
कोटक सिक्युरिटीज के रिसर्च वाइस प्रेसिडेंट टीना विरमानी के अनुसार क्रूड की कीमतें इंटरनेशनल मार्केट में लगातार बढ़ रही हैं। क्रूड के सबसे बड़े एक्सपोर्टर सऊदी अरब ने क्रूड के लिए 80 डॉलर से 100 डॉलर प्रति बैरल तक का टारगेट दिया है। ऐसे में क्रूड में और तेजी दिख सकती है। ऐसे में देश में महंगाई बढ़ने के साथ फिस्कल और करंट अकाउंट डेफिसिट का अनुमान बिगड़ने का डर है। यह मार्केट के लिए निगेटिव सेंटीमेंट है और एक्सपायरी वीक में मार्केट वोलेटाइल दिख सकता है। 

 

अर्निंग सीजन
इस हफ्ते विप्रो, एलआईसी हाउसिंग फाइनेंस, रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर, भारती एयरटेल, आईडीएफसी बैंक, अल्ट्राटेक सीमेंट, एक्सिस बैंक, बॉयोकॉन, यस बैंक, आईडीएफसी और मारूति सुजुकी के नतीजे मार्केट के लिए अहम होंगे। एक्सपर्ट्स शेयर मार्केट के लिए यह अर्निंग सीजन खास है। स्टैलियन एसेट्स डॉट कॉम के सीआईओ अमीत जेसवानी का कहना है कि मुनाफे के लिहाज से FY18 का Q4 पिछले कुछ तिमाही से बेहतर रहने की उम्मीद है। जीएसटी और नोटबंदी का असर खत्म होने से कंपनियों में मुनाफा आता दिख रहा है। सीजन की अभी शुरूआत है, लेकिन यह बेहतर रहता है तो मार्केट पर पॉजिटिव असर होगा। उनका कहना है कि मार्केट पर शॉर्ट टर्म के लिए दबाव दिख सकता है, लेकिन आगे आउटलुक बेहतर है। ऐसे में गिरावट पर निवेश के मौके बनेंगे।  

 

मार्केट को सपोर्ट फैक्टर भी 
एक्सपर्ट्स का कहना है कि पिछले हफ्ते बेहतर मानसून के फोरकास्ट से मार्केट को सपोर्ट मिला है, जो आगे भी जारी रहने की उम्मीद है। एग्रो, रूरल, एफएमसीजी और ऑटो कंपनियों में पॉजिटिव हलचल दिख सकती है। वहीं, अर्निंग सीजन भी बेहतर दिख रहा है। टीसीएस के अच्छे नतीजों का अगले दिन असर दिखा। मिडकैप आईटी कंपनियों के भी नंबर अच्छे आ रहे हैं। ऐसे में आईटी सेक्टर में अपसाइड मूवमेंट दिखने की उम्मीद है। एचडीएफसी बैंक ने भी बेहतर नतीजे दिए हैं, जिसका असर सोमवार को दिख सकता है। मानसून से जुड़ी कंपनियों के नतीजे बेहतर रहते हैं तो उन्हें डबल सपोर्ट मिल सकता हे। 

 

आगे पढ़ें, क्या करें निवेशक 

 

क्या करें निवेशक
एपिक रिसर्च के सीईओ मुस्तफा नदीम का कहना है कि इस हफ्ते मार्केट में स्टॉक स्पेसिफिक एक्शन दिखने की उम्मीद है। कई कंपनियों के नतीजे आने वाले हैं, जिनपर मार्केट रिएक्ट कर सकता है। निवेशकों को भी स्टॉक स्पेसिफिक रहकर ही नया निवेश करना चाहिए। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट