Home » Market » StocksKotak Mahindra bank is ahead of SBI in market cap

SBI को पीछे छोड़ कोटक महिंद्रा बना देश का दूसरा बड़ा बैंक, HDFC बैंक सबसे मूल्यवान

मार्केट कैप के लिहाज से कोटक महिंद्रा देश का दूसरा सबसे बड़ा बैंक बन गया है।

1 of

नई दिल्ली। मार्केट कैप के लिहाज से कोटक महिंद्रा देश का दूसरा सबसे बड़ा बैंक बन गया है। इस मामले में उसने स्टेट बैंक ऑफ इंडिया को पीछे कर दिया है। सोमवार के कारोबार में कोटक महिंद्रा बैंक के शेयर में करीब 2 फीसदी तक तेजी आई और शेयर 1174 रुपए के भाव पर पहुंच गया। इस दौरान बैंक का मार्केट कैप भी बढ़कर 223732 करोड़ रुपए तक पहुंच गया। वहीं, एसबीआई के शेयर में कमजोरी रही है। 

 

 

ऐसे बढ़ा कोटक महिंद्रा बैंक का मार्केट कैप  
सोमवार को शेयर बाजार में जहां कोटक महिंद्रा बैंक ने 1174 रुपए का भाव छू लिया जो ऑल टाइम हाई है। वहीं, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के शेयर में 0.76 फीसदी गिरावट रही और शेयर 249 रुपए के भाव पर बंद हुआ। ऐसे में कोटक बैंक का मार्केट कैप 4192 करोड़ रुपए बढ़ गया। जबकि एसबीआई का मार्केट कैप 1965 करोड़ रुपए घटकर 222490 करोड़ रुपए रह गया। शुक्रवार को एसबीआई का मार्केट कैप 224455 करोड़ रुपए था। 

 

HDFC देश का सबसे वैल्यूड बैंक 
मौजूदा समय में निजी क्षेत्र का एचडीएफसी बैंक देश का सबसे मूल्यवान बैंक है। बैंक का मार्केट कैप करीब 5.04 लाख करोड़ रुपए है। टॉप 10 में सिर्फ 3 पब्लिक सेक्टर के बैंक हैं। वहीं, हाल ही में लिस्ट हुए आरबीएल बैंक ने भी टॉप 10 में जगह बनाई है। 

 

ये है टॉप 10 की लिस्ट 
1.HDFC बैंक                       5.04 लाख करोड़ रुपए 
2.कोटक महिंद्रा बैंक             2.23 लाख करोड़ रुपए 
3. एसबीआई                        2.22 लाख करोड़ रुपए 
4. ICICI बैंक                       1.85 लाख करोड़ रुपए 
5. एक्सिस बैंक                    1.37 लाख करोड़ रुपए 
6. इंडसइंड बैंक                    1.12 लाख करोड़ रुपए 
7. यस बैंक                           71 हजार करोड़ रुपए
8. बैंक ऑफ बड़ौदा               40 हजार करोड़ रुपए  
9. पीएनबी                           27 हजार करोड़ रुपए 
10. आरबीएल बैंक‍                21 हजार करोड़ रुपए 

 

बिजनेस ग्रोथ से बेहतर हुआ आउटलुक
एक्सपर्ट्स का मानना है कि बिजनेस ग्रोथ में लगातार हो रहे इंप्रूवमेंट की वजह से कोटक महिंद्रा बैंक का आउटलुक बेहतर है। बैंक की एसेट क्वालिटी स्अेबल है, एनपीए के इश्‍यू पर बैंक के साथ बहुत ज्यादा चिंता नहीं दिख रही है। माना जा रहा है कि आगे नॉन बैंकिंग ऑपरेशसन में भी ग्रोथ होगी। ऐसे में निवेशकों का रूझान शेयर के प्रति बेहतर है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट