बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksअंबानी-टाटा में चल रहा शह मात का खेल, हर रोज पलट रही है बाजी

अंबानी-टाटा में चल रहा शह मात का खेल, हर रोज पलट रही है बाजी

इन दिनों मुकेश अंबानी और टाटा ग्रुप के बीच ऐसा खेल चल रहा है, जिस पर दुनिया की नजर है।

1 of

 

नई दिल्ली. इन दिनों मुकेश अंबानी और टाटा ग्रुप की कंपनी टाटा कंसल्टैंसी सर्विसेज (टीसीएस) के बीच ऐसा खेल चल रहा है, जिस पर दुनिया की नजर है। इसमें पिछले काफी दिनों से लगभग हर रोज बाजी पलटती है। कभी कोई आगे होता है तो कभी दूसरी विजेता बनती दिखती है। उनके बीच का यह टकराव आगे भी थमता नहीं दिख रहा है।

 

यह भी पढ़ें-बजट में भी बदला लेना नहीं भूली मोदी सरकार, ऐसे दे दिया चीन को झटका

 

नंबर वन बनने की है होड़

दरअसल दोनों कंपनियों के बीच भारत की नंबर वन यानी सबसे ज्यादा वैल्युएबल कंपनी बनने के लिए तगड़ी होड़ चल रही है। किसी दिन मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) नंबर वन होती है तो दूसरे दिन बाजी पलट जाती है। इस जंग में 6 लाख करोड़ रुपए का आंकड़ा दोनों ही कंपनियों के लिए बड़ा चैलेंज बन गया है। दोनों ही कंपनियों की मार्केट कैप कई बार इस आंकड़े को पार कर चुकी हैं। हालांकि उनके लिए इससे ऊपर बने रहना खासा मुश्किल हो गया है।

 

आगे भी पढ़ें

 

 

 

टीसीएस है देश की सबसे बड़ी कंपनी

फिलहाल टीसीएस 5.94 लाख करोड़ रुपए की मार्केट वैल्यू के साथ देश की सबसे बड़ी कंपनी है। वहीं देश के सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी की आरआईएल 5.72 लाख करोड़ रुपए की वैल्युएशन के साथ दूसरे नंबर पर है। हालांकि बीते कुछ हफ्तों से दोनों ही कंपनियां एक-दूसरे को तगड़ी टक्कर दे रही हैं।

 

आगे भी पढ़ें

 

 

एक हफ्ते पहले टॉप पर थी आरआईएल

अगर हफ्ता भर पहले की बात करें तो 31 जनवरी को आरआईएल देश की सबसे वैल्युएबल कंपनी बनी थी। उसने टीसीएस को ही पीछे छोड़ते हुए 6.08 लाख करोड़ रुपए की वैल्युएशन के साथ देश में अपनी बादशाहत कायम की थी। इस दिन टीसीएस की मार्केट कैप 5.95 लाख करोड़ रुपए थी। हैरत की बात है कि टीसीएस दो दिन पहले ही देश की नंबर वन कंपनी बनी थी।

 

आगे भी पढ़ें

 

 

एक दिन में ही पलट गई बाजी

एक दिन पहले यानी 30 जनवरी की बात करें तो उस दिन टीसीएस टॉप पर थी। उससे पहले 29 जनवरी को ही टीसीएस ने अपनी बादशाहत कायम की थी। 29 जनवरी को टीसीएस 6.10 लाख करोड़ रुपए की वैल्यू के साथ नंबर वन बनी थी और 6.08 लाख करोड़ रुपए की वैल्यू के साथ आरआईएल दूसरे पायदान पर थी। इस तरह देखें तो दोनों कंपनियों के बीच नंबर वन के ताज के लिए तगड़ी टक्कर चल रही है।

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट